भीड़ लेकर नामांकन दाखिल करने पहुंचे दोनों प्रत्याशियों पर कलेक्टर ने दर्ज कराया प्रकरण

कोरोना के बीच प्रशासन की सख्ती, भीड़ के बीच टूटती दिखीं दूरियां तो कलेक्टर ने नामांकन दाखिल करने पहुंचे बीजेपी और कांग्रेस प्रत्याशियों पर दर्ज कराया प्रकरण..

By: Shailendra Sharma

Updated: 13 Oct 2020, 07:01 PM IST

राजगढ़/ब्यावरा. कोरोना के साए में होने वाले मध्यप्रदेश उपचुनाव को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है जिसका पालन हर पार्टी और नेताओं को करना है लेकिन ब्यावरा में नामांकन दाखिल करने पहुंचे बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टी के प्रत्याशियों के गाइडलाइन का पालन न करने पर उनके खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रशासन ने खुद दोनों प्रत्याशियों के महामारी अधिनियम और धारा-144 के उल्लंघन का प्रकरण दर्ज किया है। दो दिन में लगातार दर्ज किए गए नामांकन के दौरान न प्रत्याशियों ने सामाजिक दूरी का ध्यान रखा न ही समर्थकों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन किया। समर्थकों की भीड़ में कई लोगों ने मॉस्क नहीं पहने थे तो कईयों ने दूरियों का पालन नहीं किया। ऐसे में कलेक्टर ने तुरंत संज्ञान लेकर कार्रवाई की।

बीजेपी-कांग्रेस प्रत्याशियों पर प्रकरण दर्ज
ब्यावरा उपचुनाव के लिए सोमवार को भाजपा और मंगलवार को कांग्रेस प्रत्याशी ने अपना नामांकन दाखिल किया। जुलूस के माध्यम से तमाम सामाजिक दूरियों को दर किनार कर नामाकंन दाखिल करने के लिए प्रत्याशी पहुंचे थे। हालांकि एसडीएम ऑफिस के भीतर प्रोटोकॉल का पालन करते हुए एक व्यक्ति ही अंदर पहुंचा लेकिन रास्तेभर और तहसील परिसर के आस-पास किसी ने सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया । आधे से ज्यादा कार्यकर्ता तो जुलूस में ऐसे थे जिन्होंने मास्क तक नहीं लगाया था। जब इस बात की जानकारी प्रशासन को लगी तो उन्होंने वीडियोग्राफी फुटेज चैक किए और वीडियोग्राफी में कोरोना गाइड लाइन का पालन न होता देख बीजेपी प्रत्याशी नारायण सिंह पवार और कांग्रेस प्रत्याशी रामचंद्र दांगी के खिलाफ धारा-188 और महामारी अधिनियम की धारा-51 के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच में लिया। मामला दर्ज होने के बाद अब दोनों को आम आदमी की तरह ही इस प्रकरण में जमानत लेना होगी।

नया प्रोटोकॉल अपनी जगह, मॉस्क पहनना और दूरी रखना अपनी जगह
केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा हाल ही में लागू किया गया कोरोना के प्रोटोकॉल में बदलाव किया गया है, इसमें 100 से अधिक लोग सभा में जुटाए जा सकेंगे, यह सिर्फ चुनावी प्रचार-प्रसार के लिए है जिसमें कोई ध्यान कोरोना का नहीं रखा गया। इसे लेकर कलेक्टर ने स्पष्ट किया है कि प्रोटोकॉल अपनी जगह है, लेकिन सामाजिक दूरी बनाए रखना और मॉस्क पहनना अनिवार्य है। यह कार्रवाई इसीलिए की जा रही है, यदि हम ही सख्ती नहीं दिखाएंगे तो लोग इसे गंभीरता से नहीं लेंगे। कलेक्टर नीरज सिंह ने पत्रिका से बातचीत में आगे कहा कि दोनों ही दलों के प्रत्याशियों के साथ लोग आए थे, वीडियोग्रॉफी में साफ दिख रहा है लोग सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं और न ही मॉस्क पहना था। ऐसे में हमने दोनों के खिलाफ केस दर्ज किया है।

Corona virus COVID-19
Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned