जन आशीर्वाद यात्रा: ब्यावरा की सड़कें अमेरिका से कम नहीं, कांग्रेस ने सिर्फ गड्ढे दिए

जन आशीर्वाद यात्रा: ब्यावरा की सड़कें अमेरिका से कम नहीं, कांग्रेस ने सिर्फ गड्ढे दिए

Deepesh Tiwari | Publish: Aug, 12 2018 03:44:36 PM (IST) Rajgarh, Madhya Pradesh, India

जन आशीर्वाद यात्रा: ब्यावरा की सड़कें अमेरिका से कम नहीं, कांग्रेस ने सिर्फ गड्ढे दिए

ब्यावरा@राजेश विश्वकर्मा की रिपोर्ट...

जन आशीर्वाद यात्रा मैं और मेरी पत्नी के लिए एक मिशन है, मप्र को बदलने का अभियान है। जनता की जिंदगी में परिवर्तन लाने का अभियान है। कुछ साल पहले तक ब्यावरा क्या था, बड़े-बड़े गड्ढे, टूटी सड़कें। आज ब्यावरा की सड़कें अमेरिया से कम नहीं है, कांग्रेस ने सिर्फ यहां गड्ढे ही दिए हैं।
यह बात शनिवार आधी रात को जन आशीर्वाद यात्रा लेकर शहर पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने पीपल चौराहा पर आयोजित सभा में कही।

उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेसियों से पूछना चाहता हूं आपने 50 साल सरकार चलाई तब क्यों विकास की याद नहीं आई? यहां दिग्विजयसिंह सरकार हुआ करती थी, तब जब बिजली गुल होती थी तो लोग बोलते थे जब तक रहेंगे दिग्गी, जलती रहेगी डिब्बी, हमने अंधेरा मिटाकर हमने रोशनी दी। इस दौरान यात्रा में भाजपा राष्ट्रीय उपाध्क्ष प्रभात झा, सांसद रोड़मल नागर, विधायक नारायणसिंह पंवार, राजगढ़ विधायक अमरसिंह यादव, पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव, प. हरिचरण तिवारी, मोहन शर्मा, जिला भाजपा अध्यक्ष दीपक शर्मा, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रामनारायण दांगी, भाजपा पिछड़ा मोर्चा के प्रदेश मंत्री जगदीश पंवार, युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष पवन शर्मा, नपाध्यक्ष अखिलेश जोशी, सांसद प्रतिनिधि गोपाल बादशाह, पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ जिला महामंत्री रवि बड़ोने, विधायक प्रतिनिधि राधे दांगी, राजू यादव, दीलिप गुप्ता सहित अन्य मौजूद रहे।

कांग्रेसी मुझे वैश्या बोलते हैं, ये कैसे संस्कार?
मैं प्रदेश के लिए अच्छे काम कर रहा हूं तो कांग्रेसियों क दिक्कत हो रही है कुछ भी अनरगल मेरे बाले में बोल रहे हैं। मुझे वैश्या बोलते हैं, मैं सोनिया गांधी और राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं कि क्या ऐसे संस्कार दिए जाते हैं आपकी पाटी में। क्या इस तरह की भाषा सिखाई जाती है। जिन वैश्याओं की संज्ञा उन्होंने मुझे दी है वे भी मेरी बहनें है, किसी की मजबूरी होती तो वे इस रास्ते पर जाता है, जानबूझकर कोई नहीं जाता।

सीएम ने ये दी जनता को सौगातें
-पाटनपुर-सुठालिया नई सिंचाई परियोजना से ७५ हजार एकड़ में होगी सिंचाई, स्वीकृति जल्द।
-पुलिस भर्ती में ३३ प्रतिशत आरक्षण महिलाओं के लिए।
-राजगढ़ जिलें में उद्योग बढ़ाने की योजना।
-जीएसटी की जटिलताएं कम की जाएंगी।
-शिक्षाकर्मी बनेंगे अध्यापक, सैलेरी 40 से 60 हजार।
-122 करोड़ ८६ लाख की समूह जल योजना से घर-घर नल से पहुंचेगा पानी।

कांग्रेस ने गरीबी नहीं, गरीब को खत्म किया
कांग्रेस ने इतने सालों में कुछ नहीं किया, किसानों के मैंने इतनी योजनाएं बनाई, उन्हें क्यों याद नहीं आई। दो सौ रुपए क्वींटल में बिकने वाला गेहूं मैंने 1735 में खरीदा, अतिरिक्त २६५ भी मैंने दिए, देश में किसी राज्य में ऐसा नहीं हुआ। फसल बीमा के लिए पांच करोड़ अकेले रागढ़ किसानों को को दिए। कांग्रेसियों को क्यों याद नहीं आई? कांग्रेसियों ने नारा दिया कि गरीबी खत्म करेंगे लेकिन गरीबी तो खत्म नहीं हुई उल्टे गरीब खत्म हो गए।

नींबू-मिर्च की माला टांगकर घूम रहे कांग्रेसी
सीएम ने कहा कि कांग्रेसी गले में नींबू-मिर्च की माला टांगकर घूम रहे हैं। राहुल गांधी से पूछ लो कभी कि मिर्च खेतों में कैसे लगती है? जो कभी गांव नहीं गए, खेत नहीं देखे वे किसानों की बात करते हैं, इन लोगों ने सिर्फ किसानों का शोषण किया है। हमने हर वर्ग को लाभ देने की कोशिश की है, किसी जाति, धर्म के हिसाब से सुविधा नहीं दी। कांग्रेसी मित्र मुझे नालायक कहते हैं, मुझे मदारी कहते हैं। हां मैं मदारी हूं, एक डमरू बजाया तो बिजली के बिल माफ कर दिए, एक बजाया दो फसल बीमा दे डाला।

इधर, प्रेस-वार्ता में बोले सीएम, ई-टेंडर घोटाला वगैरह सब फालतू बात
आधी रात को हुई सभा के बाद रविवार सुबह 10 बजे मुख्यमंत्री ने प्रेस वार्ता ली। उसमें यात्रा से जुड़े उद्देश्य के बारे में बताया, उन तमाम पहलुओं पर चर्चा कि जसके लिए यात्रा निकाली जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इस जिले को क्या प्रदेश को कुछ नहीं दिया, हम इसका स्वरूप बदल देंगे। हम स्वच्छ राजनीति पर भरोसा करते हैं, कहीं कोई द्वेष हममें नहीं है।

पत्रिका से सीधी-बात
रिपोर्टर- ई-टेंडर घोटाला उजागर करने वाले को दिल्ली भेज दिया गया, फिर भी यहां कार्रवाई नहीं क्यों?
सीएम : नहीं, ई-टेंडर घोटाला वगैरह
कुछ नहीं, यह सब फालतू बात है।
रिपोर्टर- किसानों को आपने बीमा दिया, गरीबों को घर, युवाओं के लिए रोजगार भी देंगे?
सीएम : चार अगस्त को हमने दो लाख ६५ हजार युवाओं को स्वरोजगार देने की योजना बनाई है।
रिपोर्टर- 25 फीसदी इंजीनियरिंग कॉलेज बंद हो गए, 70 फीसदी युवा सब्जी बेच रहे हैं, क्या उन्हें जॉब मिलेगी?
सीएम : सेल्फ एमप्लायमेंट के लिए योजानएं बनाकर हम रोजगार देंगे, जितनी सरकारी योजनाएं में संभावनाएं हैं वे देंगे, इन्वेस्मेंट भी कर रहे हैं।
रिपोर्टर- योजनाएं तो आपने कई बनाईं लेकिन युवाओं को जॉब चाहिए, प्रोफेशनल प्लेटफॉर्म चाहिए, दे पाएंगे आप?
सीएम : जॉब तो योजनाओं में भी है, टीसीएस और इंफोसिस जैसी कंपनियां इंदौर में हैं जहां हम जॉब भी दे रहे हैं, वहां प्लेटफॉर्म मिल भी रहा है।
रिपोर्टर- आपको नहीं लगता है कि बेरोजगारी का मुद्दा शिवराज सरकार के लिए बड़ी चुनौती है?
सीएम : हां, वैसे मौजूदा जॉब नाकाफी है, लेकिन हम इस दिशा में लगातार प्रयास कर रहे हैं, कुछ इन्वेसमेंट भी हो रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned