रातों रात टूट गई दुकानेें, बाधा बन रहा अतिक्रमण अभी तक हिला भी नहीं

रातों रात टूट गई दुकानेें, बाधा बन रहा अतिक्रमण अभी तक हिला भी नहीं

Ram kailash napit | Updated: 25 Jun 2018, 03:15:39 PM (IST) Rajgarh, Madhya Pradesh, India

-प्रशासन की नांक के नीचे हो रहे तमाम काम को लेकर कोई गंभीरता नहीं

ब्यावरा.जनता को डिवाइडर वाले रोड का सब्जबाग दिखाकर तोड़े गए अतिक्रमण के बाद अब प्रशासन की कार्रवाई गति नहीं पकड़ पा रही है। पूरी तरह से अटक चुके रोड का काम ढाई माह से शुरू नहीं हो पाया है। भले ही रोड का काम शुरू नहीं हो पाया हो,लेकिन प्रशासन की आंख के नीचे शहर के प्राइम लोकेशन पीपल चौराहे पर बनीं दुकानें रातोंरात तोड़ दी गईं और वहां नई दुकानें रात-रात भर चले काम के बाद तान दी गई।

खास बात यह है कि इस पूरे घटनाक्रम की प्रशासन को भनक तक नहीं लगी। प्रशासनिक जिम्मेदारों के सामने किएजा रहे इस काम पर किसी ने अंकुश नहीं लगाया। पीपल चौराहे पर बनीं ये वे दुकानें हैं जिनका फैसला कलेक्टर को करना है। पूरे मामला हाईकोर्ट के समक्ष जाने के बाद जिला प्रशासन को इसमें फैसले की जवाबदारी दी गई थी, लेकिन चुनिंदा न्यायालयीन मामले को कलेक्टर को निपटाना है उन्हीं में निर्णय नहीं होने से पूरा रोड अटका हुआ है। जनता की जिस सुविधा के लिए रोड बनाया जाना था अब लगभग वह थम गया है।


विडंबना : जनहित में सबको तोड़ा, अब जरूरत की जगह ही रुके
रोड के बहाने शहरभर में तोड़े गए अतिक्रमण की चर्चा जिलेभर में रही। इसमें सालों बाद प्रशासन की सख्ती जनता को देखने को मिली। तमाम छोटे-बड़े निर्माण तोड़े गए और एक अलग माहौल शहर में प्रशासन की सख्ती का बनाया गया, लेकिन बीते ढाई माह से प्रशासन की सख्ती विफर होती नजर आ रही है। पहले गुना नाका से पीपल चौराह के बीच वे तमाम निर्माण भी तोड़ डाले जो रोड की जद में नहीं थे, अब प्रशासनिक निर्णय के अभाव में पूरा रोड उलझ गया है। कुछ न्यायालयीन मामलों में फैसले के इतंजार और कुछ विभागों के आपस में सामंजस्य नहीं होने से रोड ऐसी जगह आकर रुक गया जहां सर्वाधिक जरूरत चौड़े रोड की थी। अभी भी स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि वहां से आगे का काम शुरू होगा भी या नहीं?


बारिश बनेगी बड़ी आफत
आधे-अधूरे रोड पर बारिश सबसे बड़ी आफत बनेगी। दोनों ओर बनाई गईं घटिया नालियां और फूटे हुए फुटपाथ पर पानी जमा होगा, जिसकी निकासी भी अभी तक सुनिश्चित नहीं हो पाई है। साथ ही कई जगह खोदी गईं पुरानी नालियों का मलबा भी रोड पर बहने की कगार पर है जो तेज बारिश में बड़ी आफत ओल्ड एबी रोड से गुजरने वाले तमाम वाहन चालकों के लिएबनेगा। आश्चर्य की बात यह है कि अभी तक इस गंभीर परेशानी को लेकर न नगर पालिका ने गंभीरता दिखाई है न ही स्थानीय प्रशासन ने।

 

उक्त मुद्दे से हमारा कोई लेना-देना ही नहीं है। हमें नहीं पता कि किसने दुकानें तोड़ी और बनाईं। पीपल चौराहे वाली दुकानों से नगर पालिका को कोई मतलब नहीं।
-इकरार अहमद, सीएमओ, नपा, ब्यावरा
फैसला आने तक किसी भी प्रकार के काम पर रोक लगा रखी है। फिर भी यदि रातोंरात दुकानें तोड़ दी गई हैं तो यह मुझे नहीं पता। मैंने कोई अनुमति किसी को नहीं दी।
-अंजली शाह, एसडीएम, ब्यावरा

 

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned