भयानक हादसा: कार के चिथड़े-चिथड़े उड़े, फिर भी कार चालक को खरौंच तक नहीं आई

- भोपाल बाइपास पर आधी रात को हादसा...
- पेंट में उलझा स्टैयरिंग वाला हाथ तो खड़े ट्रक में जा घुसी कार...

ब्यावरा@राजेश विश्वकर्मा की रिपोर्ट...

भोपाल बाइपास पर बीती आधी रात को हुए भीषण हादसे में एक कार के परखच्चे उड़ गए। रोगटे खड़े कर देने वाली इस घटना के बाद जिसने भी हादसे का शिकार हुई कार को देखा वह कांप सा गया।

लेकिन इस पूरे हादसे में सबसे खास व अच्छी बात ये रही कि इस कार चलाने वाले युवक को ' जाको राके साइयां मार सके न कोय...' की तर्ज पर खरोंच तक नहीं आई।

दरअसल रात में भोपाल बाइपास पर एक कार यहां खड़े ट्रक में जा घुसी थी, जिसके चलते कार का अगला हिस्सा पूरी तरह से खत्म हो गया।

जानकारी के अनुसार जयपुर से नागपुर कार से जा रहे हिमांशु पिता विनायक कुल्ते (26) निवासी बंधु नगर बुरारी रोड, नागपुर (महाराष्ट्र) की कार भोपाल बाइपास पर रिलाइंस पेट्रोल पम्प और आरएस होटल के बीच खड़े हुए एक ट्रक में जा घुसी। कार के अगले हिस्से के परखच्चे उड़ गए।

इसके बाद रात करीब दो बजे हुई घटना के बाद मौके पर पहुंची देहात पुलिस ने कार जब्त की। साथ ही कार चला रहे युवक को थाने पहुंचाया। जहां उसने कहा कि उसे चोट वगैरह नहीं आई है, ऐसे में कोई प्रकरण दर्ज नहीं करना।

ऐसे बची जान...
हादसे के चलते भले ही कार के अगले हिस्से के परखच्चे उड़ गए। वहीं हादसे के बाद स्टैयरिंग में निकले एयर बैग्स के कारण कार चला रहे हिमांशु को बिल्कुल चोट नहीं आई।

accident0.jpg

01 दिसंबर को है शादी: ईश्वर बनकर आए एयर बैग्स...
हिमांशु ने बताया कि उनका ग्रेफाइड का बड़े स्तर का काम है। देश के दूसरे बड़े सप्लायर्स उनके पिता हैं। वे बिजनेस के ही संबंध में जयपुर गए थे, जहां से लौटने के दौरान हादसे का शिकार हो गए। उन्होंने बताया कि एक दिसंबर को उनकी शादी है। एयर बैग्स भगवान बनकर उनके लिए आए, अन्यथा शादी की खुशियां मातम में बदल जाती। वे कार छोड़कर घर के लिए रवाना हो गए।

हादसे के शिकार युवक की कहानी: उसी की जुबानी...
हिमांशु ने देहात पुलिस को बताया कि भोपाल बाइपास पर अचानक उसकी कार के सामने गाय आ गई, उसे बचाने में मेरा हाथ हाल ही में खरीद कर लाई गई नई पेंट में फंस गया।

पेंट में कई सारी जेब होने के कारण हाथ उलझ जाने के चलते कार रोड छोड़कर ट्रक में घुस गई। वहीं रफ्तार अधिक होने के कारण कार का अगला हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया।

Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned