अनिश्चितकाल के लिए मंडी बंद, किसानों को होना पड़ा परेशान

अनिश्चितकाल के लिए मंडी बंद, किसानों को होना पड़ा परेशान

Ram kailash napit | Publish: Sep, 05 2018 02:39:46 PM (IST) Rajgarh, Madhya Pradesh, India

जानकारी के अभाव में दूर-दराज के किसानों को होना पड़ा परेशान

ब्यावरा. 50 किलो से अधिक माल नहीं उठाने को लेकर हम्मालों द्वारा की जा रही हड़ताल के कारण उपज लेकर पहुंचे किसानों को मंगलवार को बैरंग लौटना पड़ा। सुठालिया से भी आगे के क्षेत्रों से आए किसानों की उपज की तुलाई नहीं हो पाई। तीन दिन पहले से व्यापारियों, मंडी प्रशासन और हम्मालों में सहमति नहीं बन पाने से मंडी अनिश्तिकाल के लिए बंद है। हालांकि मंडी प्रशासन ने स्थानीय तौर पर अनाउंसमेंट करवाया , लेकिन दूर-दराज से आने वाले किसान उपज लेकर पहुंच गए। मंडी आकर पहुंचे तो उन्हें बैरंग लौटा दिया गया। इससे किसानों को बारिश के बीच खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

पहाडगढ़़ से गेहूं लेकर पहुंचे जगदीशलोधी, सुठालिया क्षेत्र के हरिपुरा का चंपालाल लोदी ने बताया कि पहले नहीं बताया तो हमें परेशान होना पड़ा। बता दें कि मंडी में काम काज बंद रहने से हर दिन होने वाली करीब 1200 से 1500 क्वींटल उपज का नुकसान हो रहा है। ऐसे में करीब एक लाख रुपए से अधिक का प्रति दिन का नुकसान हो रहा है। उल्लेखनीय है कि 50 किलो से अधिक वजन नहीं उठाने के निर्देश मंडी बोर्ड ने भी जारी कर दिए हैं। तमाम मंडियों में लिखित नोटिस भी आया है कि 30 सितंबर तक हर हाल में यह लागू कर दें। व्यापारियों कता कहना है कि अन्य मंडियों में लागू नहीं हो पाने के कारण हमारा 50 किलो का माल कोई नहीं लेगा, साथ ही एक साथ छोटे बारदाने की व्यवस्था करना भी मुश्किल है।

शासन की ओर से निर्देश मिलने के बावजूद व्यापारी 50 किलो तुलवाने पर राजी नहीं है। हमने लिखित में दे दिया है न ही हम 50 किलो से ज्यादा माल लोड करेंगे न ही उठाएंगे। इंदौर, भोपाल, देवास, शाजापुर सहित अन्य मंडियों में भी सभी की हड़ताल जारी है।
-प्रताप कुशवाह, अध्यक्ष, हम्माल संघ, ब्यावरा

व्यापारियों का रूटीन 50 किलो के गल्ले से बिगड़ जाएगा। हमें एक साल पूरे सेटअप के लिएदिया जाए। एक साथ50 किलो के बारदाने आने से गल्ला उठाने में दिक्कत होगी। हमें कोई दिक्कत नहीं है, हम्मालों की ओर से लिखित में दिया गया है।
-गिरीश गुप्ता, सचिव, मंडी व्यापारी एसोसिएशन, ब्यावरा

30 सितंबर तक का समय शासन ने ही दिया है, बावजूद इसके हम्मालों ने लिखित में दिया है तो हमने फिलहाल मंडी बंद करवा दी।अनाउंसमेंट भी हमने करवाया है, फिलहाल अनिश्चितकाल के लिएमंडी बंद है।
-आरके रावत, सचिव, कृषि उपज मंडी समिति, ब्यावरा

Ad Block is Banned