ड्यूटी पर लेट पहुंचे डॉक्टर को सांसद ने किया प्रणाम और निकल गए, देखें वीडियो

9 बजे से शुरु होती है ओपीडी..10.25 पर आए डॉक्टर तो सांसद रोडमल नागर प्रणाम कर अस्पताल से निकल गए..

By: Shailendra Sharma

Published: 25 Sep 2021, 09:15 PM IST

राजगढ़. अधिकारी-कर्मचारियों की लेटलतीफी पर उन्हें फटकार लगाते हुए राजनेताओं को तो आपने कई बार देखा होगा लेकिन शनिवार को राजगढ़ में जो तस्वीर देखने को मिली वो इससे कुछ अलग थी। यहां ड्यूटी पर लेट पहुंचे डॉक्टर को सांसद ने झुककर प्रणाम किया और बिना बोले ही अस्पताल से रवाना हो गए। दरअसल सांसद रोडमल नागर पंडित दीनदयाल की जयंती के अवसर पर पचोर अस्पताल में मरीजों को फल वितरण करने के लिए पहुंचे थे। फल वितरण के बाद जब 10.25 बजे सांसद अस्पताल से निकलने लगे तो उन्हें बाहर ड्यूटी पर आते हुए पहले डॉक्टर नजर आए जिन्हें सांसद नागर ने प्रणाम किया और बिना बोले ही अगले कार्यक्रम के लिए अस्पताल से रवाना हो गए।

9 बजे शुरु होती है ओपीडी, 10 बजे पहुंचे थे सांसद
पचोर अस्पताल में सांसद रोडमल नागर करीब 10 बजे पहुंचे थे। जब सांसद अस्पताल पहुंचे तो अस्पताल में कोई भी डॉक्टर मौजूद नहीं था। तय कार्यक्रम के अनुसार सांसद नागर ने मरीजों को फल वितरित किए और करीब 10.25 पर अस्पताल से निकल रवाना ही हो रहे थे कि तभी अस्पताल के गेट पर डॉक्टर धर्मराज पच्चीसिया उन्हें आते हुए नजर आए। पच्चीसिया पहले डॉक्टर थे जो अस्पताल आ रहे थे। जैसे ही डॉक्टर पच्चीसिया ने सांसद नागर को देखा तो हाथ जोड़कर अभिवादन किया लेकिन इसके बाद जो हुआ वो शायद उनने कभी नहीं सोचा होगा। सांसद रोडमल नागर ने गांधीवादी तरीके से अपनी नाराजगी जताते हुए डॉक्टर के सामने हाथ जोड़ लिए और उन्हें प्रणाम करते हुए बिना कुछ बोले ही अस्पताल से रवाना हो गए। बता दें कि अस्पताल की ओपीडी 9 बजे से शुरु हो जाती है ऐसे में तय वक्त से करीब 1.30 घंटे देरी से डॉक्टर का अस्पताल पहुंचना और वो भी तब जब कि खुद सांसद अस्पताल के दौरे पर हों तो आप समझ सकते हैं कि आम दिनों में अस्पताल में डॉक्टर किस समय पर आते होंगे ?

 

ये भी पढ़ें- महिला आरक्षक को रिश्वत देते ही मिल गई चाबी, देखें LIVE VIDEO

 

सांसद की गांधीगिरी के बाद स्वास्थ्य विभाग का एक्शन
सांसद द्वारा भले ही अस्पताल में किसी प्रकार की कोई टिप्पणी ना की गई हो और ड्यूटी पर देर से आए चिकित्सक के सामने उन्होंने तीन बार चुप कर प्रणाम करते हुए वहां से निकल गए हों। लेकिन जब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो न सिर्फ जिला प्रशासन बल्कि स्वास्थ्य विभाग का भोपाल तक का अमला हरकत में आ गया। लगातार इस वीडियो की चर्चा के बाद देर शाम सांसद के सामने खड़े डॉक्टर धर्मराज पच्चीसिया के वित्तीय प्रभार हटाते हुए डॉ. विकास शर्मा को प्रभार दिया गया।वहीं घटना के बाद पूरे जिले में चिकित्सक समय पर आएं और समय पर ही अपनी ड्यूटी देकर वापस लौटे इस व्यवस्था को बनाने के लिए सीएमएचओ एस यदू के निर्देश पर सभी अस्पतालों में बायोमेट्रिक मशीनें लगाई जा रही हैं। जिसके माध्यम से सभी को थंब या फिर फेस डिटेक्ट मशीन के माध्यम से अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होगी और इसी के आधार पर उनका मासिक भुगतान किया जाएगा।

देखें वीडियो-

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned