covid news : दूसरे डोज की तैयारी लेकिन 1582 हेल्थ व 530 फ्रंट लाइन वर्कर्स ने पहला ही नहीं लगवाया

कोरोना फिर सक्रिय लेकिन वैक्सीनेशन में रुचि नहीं
मॉप अप राउंड में भी छूटे कर्मचारियों को अब मैनुअली नहीं मिलेगा मौका, आखिरी मौका दूसरे सेशन में चूके

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Published: 20 Feb 2021, 07:22 PM IST

ब्यावरा.महाराष्ट्र सहित अन्य कुछ राज्यों में कोरोना फिर से कहर ढाने लगा है लेकिन बावजूद इसके वैक्सीनेशन (टीकाकरण) को लेकरे कोई गंभीर नहीं है। जिले में दो चरणों में हुए टीकाकरण में स्वास्थ्यकर्मी और सरकारी कर्मचारियों ने ही टीके लगवाने में रुचि नहीं दिखाई।
दरअसल, जिन स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर्स को कोरोना वैक्सीन का पहला डोज ;लगभग 70 प्रतिशतद्ध लग गया है उन्हें अब 22 फरवरी से दूसरा डोज 30 प्रतिशत लगाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए 22 से ही नया सेशन शुरू भी हो जाएगा। इसके साथ ही जिन हेल्थ वर्कर्स व अन्य ने मॉप अप राउंड में भी टीके नहीं लगवाए उन्हें अब दोबारा मौका नहीं मिल पाएगा। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि दूसरा डोज उन्हीं लोगों को लगेगा जिन्हें पहला लगा था। साथ ही स्वास्थकर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स ;नगर पालिकाए रेवेन्यूए पुलिसए पंचायत विभाग व अन्यद्ध को भी अब मैनुअली मौका नहीं मिल पाएगा। पहले चरण में 7961 स्वास्थ्यकर्मियों की सूची शासन ने मुहैया करवाई थी जिनमें से 6379 को टीके लगे और 1582 शेष रह गए। वहींए दूसरे चरण में 5310 सरकारी कर्मचारियों को टीके लगाए जाना थे जिनमें से 3780 को ही लग पाए 1530 बाकी रह गए। ऐसे में दूसरा डोज लगाने की तैयारी भले ही कर ली गई हो लेकिन पहले डोज से ही कई लोग वंचित रह गए।

जानें क्या था लक्ष्य और कितने को लगा
कैटेगिरी लक्ष्य लगा शेष
पुलिसकर्मी 1257 1105 152
नपा 947 615 332
रेवेन्यू 1453 796 657
पंचायत वि. 1653 1264 389
फैक्ट-फाइल
-5310 फ्रंट लाइन वर्कर्स को लगना था
-3780 को ही लगा
-1582 शेष रह गए
-7961 हेल्थ केयर वर्कर्स को लगना था
-6379 को ही लग पाया
-1582 बच गए
(नोट - कोविड पोर्टल और स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी अनुसार)
आम लोगों की बारी कब आएगी तय नहीं
पहले और दूसरे चरण का टीकाकरण लगभग हो चुका हैए अब दूसरे डोज की तैयारी शासन ने कर ली है लेकिन तीसरी बार में तय की गई बच्चों और बुजुर्गों की कैटेगिरी पर कोई बात अभी तक नहीं हो पाई है। यह भी स्पष्ट नहीं है कि आम लोगों की श्रेणी में आने वाले इन लोगों को टीके किस हिसाब से लगेंगेघ् क्या दायरा इसमें रहेगा। स्थानीय जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के समक्ष भी इसे लेकर कोई दिशा.निर्देश फिलहाल नहीं मिल पाए हैं। माना जा रहा है कि दूसरे डोज की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आम लोगों की बारी टीके को लेकर आएगी।

लोगों ने माना कोरोना खत्म हुआ लेकिन डराने वाले हालात अभी भी!
वैक्सीनेशन और कोरोना के कम केसेस के चलते लोगों ने यह मान लिया है कि कोरोना पूरी तरह से खत्म हो गया है लेकिन ऐसा नहीं है। कई जगह कोरोना वायरस दोबारा डराने लगा है। महाराष्ट्र के कुछ शहरों में फिर से कोरोना फिर से सक्रिय हुआ है जो काफी भयावह हैए कई जगह लॉक डॉउन की भी तैयारी है। लेकिन यहां कोई मानने को तैयार नहीं है। लोग मॉस्क को भूल चुके हैंए सोशल डिस्टेंसिंग की कोई परवाह नहीं कर रहा। न ही कोई सैनीटाइजर का उपयोग कर रहाए जो कि चिंता में डालने वाला विषय है।
मॉप अप में छूटने पर नहीं मिलेगा मौका
जो लोग मॉप अप राउंड से भी छूट गए हैं उन्हें दोबारा मौका नहीं मिल पाएगा। 22 फरवरी से दूसरा डोज कोरोना वैक्सीन का लगाया जाएगा। आम लोगों के टीकाकरण को लेकर फिलहाल कोई दिशा.निर्देश नहीं मिल पाए हैं।
-डॉ. स्पूतनिक यदू, जिला महामारी नियंत्रक, राजगढ़

कोरोना वायरस
Rajesh Kumar Vishwakarma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned