चालान बनाने के साथ समझाएगी, इंशोरेंस-लाइसेंस बनवाएगी राजगढ़ पुलिस

-ट्रैफिक सेंस पैदा करने के लिए
-जिला प्राशासन के साथ पुलिस ने चलाएगी अभियान, एसपी बोले- लोगों पर Óयादा करवाई की बजाए विश्वास जगाएंगे, दोस्त बनकर समझाएंगे
सिर्फ चालान बनाकर सख्ती नहीं, अभियान चलाकर समझाएंगे ट्रैफिक नियम

ब्यावरा. ट्रैफिक नियमों की समझ पैदा करने, सड़क हादसों पर अंकुश लगाने पुलिस लोगों को जागरूक करेगी। इसके लिए सख्ती, चालानी कार्रवाई के साथ ही लोगों में मैत्री भाव पैदा कर नियम समझाएगी। इसके लिए पुलिस न सिर्फ समझाइश देगी बल्कि आने वाले दिनों में शिविर लगाकर वाहन चालकों के लाइसेंस बनवाएगी और इंशोरेंस करवाएगी।
दरअसल, जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस प्रशासन इसका खाका तैयार कर रही है। इसमें विभिन्न माध्यम से लोगों को ट्रैफिक नियमों से जोड़ा जाएगा। इसके लिए शिविर लगाकर और विभिन्न सार्वजनिक आयोजनों में जागरूकता फैलाकर ट्रैफिक नियमों की जानकारी दी जाएगी। सड़क सुरक्षा सप्ताह तक ही सीमित न रहे इसके लिए सालभर समय-समय पर अभियान चलाकर उनका फॉलोअप लिया जाएगा। ट्रैफिक नियम तोडऩे, जेब्रा क्रॉसिंग का पालन न करने और बिना हेलमेट, रजिस्ट्रेशन के चलने वालों को समझाइश देने के बाद जुर्माना भी लगाया जाएगा।

आरटीओ, इंशोरेंस कंपनी से किया टॉयअप
एसपी ने बताया कि लोगों के अधिक से अधिक लाइसेंस बनवाने और इंशोरेंस करने के लिए हमने परिवहन विभाग के साथ ही संबंधित इंशोरेंस कंपनियों से बात की है। उक्त कंपनियां और आरटीओ की टीम उक्त पुलिस के शिविर में पहुंचेगी। यहां पुलिस द्वारा दी जाने वाली चिह्नित सूची के माध्यम से उनके लाइसेंस बनवाए जाएंगे। साथ ही जिन वाहनों के इंशोरेंस नहीं होंगे उनका हाथोंहाथ बीमा करवाया जाएगा।

हादसों की हकीकत : हेलमेट का उपयोग नहीं, कागजात भी अधूरे
राजगढ़ जिले में विभिन्न जगह हुए हादसों की हकीकत सामने आई है। इसमें अधिकतर हादसों में या तो दो पहिया वाहन चालक के पास हेलमेट नहीं है या तीन से चार लोग बैठे मिले। इसके अलावा लगभग 50 फीसदी केस में कागजात अधूरे ही रहते हैं। किसी के पास लाइसेंस नहीं होता तो किसी के वाहन का बीमा ही नहीं रहता। ऐसे में कई गंभीर हादसों में उन्हें किसी प्रकार का बीमा या अन्य मदद भी नहीं मिल पाती। इन्हीं तमाम बिंदुओं के आधार पर पुलिस ने यह शुरुआत की है। जिसके माध्यम से खुद पुलिस लोगों को जागरूक कर रही है। ताकि वे सुरक्षित रह सकें और यदि कोई हादसा हो भी जाए तो कागजी तौर पर वे मजबूत रहें।


इंशोरेंस के साथ लाइसेंस बनवाएंगे
ट्रैफिक नियम बताने के लिए सख्ती ही काफी नहीं है। हमने लोगों को जोडऩे, जागरूक करने अभियान शुरू किया है। जिसके माध्यम से लोगों को तमाम नियम बता रहे हैं। इसके अलावा शिविर लगाकर संबंधित वाहन चालकों का इंशोरेंस करवाया जाएगा और जिनके पास लाइसेंस नहीं है, उनके बनवाए जाएंगे।
-प्रदीप शर्मा, एसपी, राजगढ़

Show More
Rajesh Kumar Vishwakarma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned