देखें वीडियो- शहीद को सलामी देने उमड़ा जनसैलाब, छत भी नहीं झेल पाई वजन, भरभराकर गिरी

शहीद मनीष कारपेंटर की एक झलक पाने के लिए जनसैलाब उमड़ा, हर कोई शहीद के दर्शन के लिए आतुर नजर आया और पलकें बिछाकर लोग शहीद की झलक पाने का इंतजार करते दिखे...

By: Shailendra Sharma

Published: 26 Aug 2020, 10:40 PM IST

राजगढ़. देश की सुरक्षा में जान न्यौछावर करने वाले शहीद मनीष कारपेंटर की एक झलक पाने के लिए खुजनेर में जनसैलाब उमड़ पड़ा। लोग सड़कों पर, घरों की छतों पर पलकें बिछाए शहीद की पार्थिव देह के पहुंचने का इंतजार करते हुए नजर आए। शहीद की एक झलक पाने के लिए लोग इस कदर आतुर थे कि हर तरफ सिर्फ लोग ही लोग नजर आ रहे थे। शहीद के नाम के जयकारे लगाए जा रहे थे और हर कोई नम आंखों से हाथों में तिरंगा लिए शहीद को अंतिम विदाई देने के लिए अपने काम धंधे सब कुछ छोड़कर सिर्फ इंतजार कर रहे थे।

 

लोगों का भार नहीं झेल पाई छत
शहीद मनीष को श्रद्धांजलि देने और उनकी एक झलक के लिए लोग कितने आतुर थे इसका अंदेशा इस बात से लगाया जा सकता है कि खुजनेर में जैसे ही शहीद की पार्थिव देह खुजनेर पहुंची तो हर तरफ से पुष्पवर्षा हो रही थी। बड़ी संख्या में लोग घरों की छतों पर खड़े हुए थे। इसी दौरान एक छत जिस पर की क्षमता से ज्यादा लोग खड़े होकर शहीद की पार्थिव देह का इंतजार कर रहे थे अचानक गिर गई। जिस वक्त ये हादसा हुआ ठीक तभी शहीद का पार्थिव शरीर लेकर आया वाहन भी वहां पहुंचा था। छत के गिरने से उस पर बैठे लोग नीचे गिर गए जिससे आधा दर्जन लोगों को चोटे आईं हैं जिनमें से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है और उन्हें राजगढ़ रेफर किया गया है।

देखें वीडियो-

 

सकरा रास्ता होने के कारण दो बाइकें भी भिड़ीं
बता दें कि शहीद की पार्थिव देह को गृहग्राम लाते वक्त हजारों की संख्या में बाइक सवार और वाहन चालक भी काफिले में शामिल हुए थे। मंडावर से लेकर बोड़ा के बीच सकरा रास्ता होने के कारण इस बीच दो बाइक सवार भी हादसे का शिकार हुए जिन्हें तुरंत मौके पर मौजूद लोगों ने अस्पताल पहुंचाया।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned