प्रदेश के इस जिले गायों की सुरक्षा के लिए धारा 144 लागू

धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पशुओं को आवारा छोडऩे पर पशुमालिकों को किया जाएगा दंडित

गोशाला से फिर गायब हुईं गायें

चारे या घास की कोई व्यवस्था नहीं की गई

By: Amit Mishra

Published: 05 Sep 2019, 03:28 PM IST

राजगढ़। देखरेख के बिना वाहनों की टक्कर और भूख, प्यास से प्रतिदिन मर रहे मवेशी खासकर गायों की सुरक्षा के लिए जिला प्रशासन ने 13 दिनों के लिए जिले में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। इसके तहत पशुओं को खुला छोडऩे पर पशु मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी। जो छह माह तक का कारावास या जुर्माना अथवा दोनों हो सकते हैं।


धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी
जिला दंडाधिकारी के आदेशानुसार प्रतिबंधात्कम अवधि में कोई भी व्यक्ति, पशुपालक गायों को खुला नहीं छोड़ेगा न ऐसे स्थान पर चराएगा जिससे यातायात बाधित हो। आदेश में पशुओं के अवैध परिवहन पर भी रोक लगाई गई है। प्रतिबंध अवधि में किसी भी आदेश की अवहेलना करने पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी।


इधर गोशाला से फिर गायब हुईं गायें
गायों की सुरक्षा के लिए प्रशासन द्वारा जारी प्रतिबंधात्मक आदेश के बीच शहर की संकट मोचन बड़ली स्थित गोशाला में रखी गई गायें फिर वहां से निकल गईं। दरअसल गायों की सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने नपा को आदेश देते हुए शहर में घूमने वाली करीब डेढ सौ गायों घेरकर गोशाला पहुंचाया था।

चारे या घास की कोई व्यवस्था नहीं की गई
सोमवार को गोशाला भेजी गई इन गायों से वहां गायों की संख्या तीन सौ से अधिक हो गई थी। जबकि गोशाला में सौ सवा सौ से अधिक गायें रखने की व्यवस्था नहीं है। इधर इन अतिरिक्त गायों के लिए प्रशासन द्वारा चारे या घास की कोई व्यवस्था नहीं की गई। ऐसे में दो दिन तक परेशान होकर बुधवार को जैसे ही मौका मिला गोशाला में बंद सभी गायें बाहर निकल गईं। हालांकि जानकारी लेने पर गोशाला में मौजूद कर्मचारियों ने गायों को चरने के लिए बाहर जाने की बात कही। जबकि कई गाय बुधवार को हाइवे पर घूमती रहीं।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned