सारंगपुर में सात नये कोरोना पॉजिटिव, जीरापुर के पंवारखेड़ा के रिटायर्ड पटवारी को इंदौर में कोरोना, एएनएम की भोपाल में मौत

कोरोना का कहर... जिले में मरीजों का आंकड़ा 93 पर, 6 की मौत
हाई रिस्क कॉन्टैक्ट वाले हैं सभी मरीज, कार्डियक परेशानी होने पर इंदौर गए थे जीरापुर के रिटायर्ड पटवारी

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Updated: 29 Jun 2020, 08:22 PM IST

ब्यावरा/सारंगपुर/जीरापुर.धीमी पड़ चुकी कोरोना की रफ्तार ने एक बार फिर से गति पकड़ी है। सोमवार सुबह जीरापुर के पंवारखेड़ा में रहने वाले 61 वर्षीय रिटायर्ड पटवारी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं, शाम को सारंगपुर में कोरोना के सात नये मामले सामने आए। ये सभी हाई रिस्क कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में सामने आए थे। इसके अलावा कुछ दिन से भोपाल में ही भर्ती राजगढ़ की 58 वर्षीय एएनएम की मौत भी सोमवार को हुई।
दरअसल, इंदौर में भर्ती रिटायर्ड पटवारी को हृदय संबंधी बीमारी होने के बाद इंदौर रेफर किया गया था। वहां अरबिंदो अस्पताल में हुई उनकी जांच पॉजिटिव पाई गई है। सारंगपुर में कलेक्टर के निर्देश पर घर-घर किए गए सर्वे में सामने आए संदिग्ध मरीजों के सिम्प्टम्स के आधार पर सैम्पल लिए गए। इसके बाद वार्ड-8 में ६ और वार्ड-७ में १ मरीज पॉजिटिव आए हैं। सभी की उम्र 20 से ३० वर्ष के बीच की ही बताई जा रही है। देर शाम आई हेल्थ बुलेटिन में यह जानकारी स्पष्ट हुई।

इसके बाद संबंधित मरीजों के आस-पास के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया। हालांकि जीरापुर के पटवारी की काउंटिंग इंदौर में की जाएगी, लेकिन उनके संपर्क में आए दो परिजनों को गांव में ही क्वारेंटीन कर दिया है और सैम्पल भी ले लिए हैं। जिले में अब मरीजों की संख्या बढ़कर 93 हो गई है वहीं, मरने वालों की संख्या ६ हो चुकी है। सोमवार शाम तक ४६ मरीज स्वास्थ्य होकर लौट चुके हैं।
अधिकतर ज्यादा उम्र वालों की ही हुई है मौत
अभी तक जितने भी लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई है उनमें से अधिकतर या तो पहले से बीमार थे या उम्र दराज थे। राजगढ़ की शंकर कॉलोनी में सामने आईं एएनएम भी 58 साल की थीं। बीच में कुछ दिन पहले उनकी तबीयत बिगड़ी थी तब उन्हें वेंटिंलेटर पर रखा गया था और परिजनोंं को बुलाया गया था। कोरोना से जंग लड़ते-लड़ते आखिरकार उन्होंने सोमवार को अंतिम सांस ली। इससे पहले ब्यावरा और सारंगपुर में भी कोरोना के कारण मौतें हो चुकी हैं।

दिनभर ढूंढ़ते रहे, रात 11 बजे घर पर ही मिला मरीज
पाड़ल्या माता.एक दिन पहले पाड़ल्या माता में सामने आए 80 वर्षीय कोरोना मरीज आखिरकार रात 11 बजे घर ही मिला। दिनभर स्वास्थ्य और राजस्व विभाग की टीमें उसे ढूंढ़ती रही लेकिन नहीं मिल पाया था। मरीज की जानकारी के मिलने के बाद राजगढ़ से एंबुलेंस बुलाई गई। वार्ड-13 निवासी मरीज को सिविल अस्पताल में अब क्वारेंटीन किया गया है। बता दें कि पहले जब टीम पहुंची तो संबंधित मरीज के मोबाइल नंबर पर कोई फोन रिसिव नहीं कर रहा था। दिनभर टीमें भटकती रही लेकिन किसी ने बुजुर्ग का पता नहीं बताया। रात में बड़ी मुश्किल के बाद विभाग की टीम ने उसे ट्रेस किया गया। उसे सिविल अस्पताल में क्वारेंटीन किया गया। संपर्क में आए 12 लोगों के सैम्पल लिए गए हैं। साथ ही अभी तक यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया कि आखिर मरीज को विभाग ढूंढ़ क्यों नहीं पाया?
सात सारंगपुर, एक जीरापुर
जीरापुर के एक रिटायर्ड पटवारी की रिपोर्ट इंदौर में पॉजिटिव आई है। राजगढ़ की एएनएम की मौत भोपाल में कोरोना से हो गई। शाम को सारंगपुर में सात नये मामले सामने आए हैं।
-डॉ. महेंद्रपाल सिंह, नोडल अधिकारी, कोविड-19, राजगढ़

Coronavirus in india
Rajesh Kumar Vishwakarma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned