scriptStrike of contract health workers | संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल से नियमित टीकाकरण अभियान ठप | Patrika News

संविदा स्वास्थ्य कर्मियों की हड़ताल से नियमित टीकाकरण अभियान ठप

जिले के लगभग ६४ उप स्वास्थ्य केंद्रों के ७१ गांवों में बच्चों को नहीं लग रहे टीका

राजगढ़

Published: February 24, 2018 09:51:42 am

राजगढ़। जिले में संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं चरमराने लगी है, लेकिन अभी भी यदि अस्पताल प्रबंधन की माने तो ग्रामीण हो या शहरी स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर चल रही है। कहीं यह दिखावे की सेवाएं लोगों के स्वास्थ्य पर भारी न पड़ जाए। क्योंकि अभी तक टीकाकरण हो या संविदा कर्मचारियों के आधार पर चल रही स्वास्थ्य सेवाएं अब बदहाल होने लगी है। जिसका नुकसान मरीजों के साथ ही विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों पर सीधा पड़ेगा। इस संबंध में जिले के ६ ब्लाकों के बीएमओ से सीधी बात की गई, लेकिन कोई भी बीएमओ संविदाकर्मियों के बदले नियमित कर्मचारियों से किस प्रकार काम लेंगे। इसका जवाब नहीं दे सके।

protest

संविदा स्वास्थ्यकर्मियों की हड़ताल लगातार पांचवें दिन भी जारी रही। जिसके चलते शुक्रवार को जिले के लगभग 64 उप स्वास्थ्य केंद्रों के 71 गांवों में टीकाकरण नहीं हो सका। संविदा एएनएम के हड़ताल पर चले जाने से जिले के 603 गांव प्रभावित हो रहे हैं। इन गांवों में टीकाकरण कराने के लिए किसी भी ब्लाक के पास आज तक कोई योजना नहीं है।

जबकि संविदा हड़ताल की सूचना प्रत्येक ब्लाक के पास पांच दिन पहले से ही थी। कुछ ब्लाकों के बीएमओ से जब पत्रिका द्वारा बात की गई तो उनका कहना था कि कुष्ठ सर्वे खोज अभियान के तहत खिलचीपुर और सुठालिया ब्लाक में नियमित एएनएम की ड्यूटी लगाई गई है। इसलिए वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं कर पा रहे हैं।

स्वास्थ्य सूचकांक गिरा
प्रत्येक जिले को प्रति सप्ताह स्वास्थ्य संबंधी कार्यक्रमों की प्रगति रिपोर्ट ऑन लाइन साफ्टवेयर के माध्यम से भोपाल भेजना होती है। चूकि अधिकांश कार्य फील्ड लेवल से आता है और कम्प्यूटर पर अपलोड किया जाता है। स्वास्थ्य विभाग की बात करें तो यहां कोई भी नियमित कम्प्यूटर ऑपरेटर नहीं है। इस कारण प्रदेश का स्वास्थ्य सूचकांक पूरी तरह से जमीन पर आ गया है।

बीएमओ नहीं जानते कितना है संविदा स्टाफ
जिले के किसी भी बीएमओ के पास मौखिक रूप से स्टाफ की जानकारी उपलब्ध नहीं है। वर्तमान स्थिति की बात करें तो संविदाकर्मियों की हड़ताल पूरे प्रदेश में चल रहीं है। इस हड़ताल में प्रतिदिन शाम को सीएमएचओ, सिविल सर्जन सहित प्रत्येक बीएमओ को हड़ताली कर्मचारियों की जानकारी उसके पद अनुसार भोपाल को भेजी जाना है। इससे जाहिर होता है कि स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू बनाए रखने के लिए जिम्मेदार अधिकारी कितनी तन्मयता से अपने कार्यों को निभा रहे हैं।

ये स्वास्थ्य कार्यक्रम हो रहे प्रभावित
जिले की बात करें तो संविदा के हड़ताल पर चले जाने से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, क्षय नियत्रंण कार्यक्रम, आईडीएसपी, मलेरिया नियंत्रण, एड्स नियंत्रण कार्यक्रम, नियमित टीकाकरण, एनडीडी रिपोर्टिंग, महिला स्वास्थ्य शिविर, आरसीएच पोर्टल, आशा कार्यक्रम, नसबंदी प्रोग्राम, अंधत्व निवारण, एनआरसी, डीपीएमयू, बीपीएमयू, स्टोर शाखा, लेखा शाखा, शहरी स्वास्थ्य मिशन, मीडिया यूनिट, डाटा मूल्यांकन कार्य प्रभावित हुआ है।

हमारे यहां अधिकांश लोग नियमित है। ऐसे में ज्यादा फर्क नहीं है और जहां संविदाकर्मी है। उनकी जगह पर वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।
- डॉ. आरके कठेरिया, बीएमओ खुजनेर

फर्क तो पडऩा ही है। हमारे यहां के २५ कर्मचारी सुठालिया में लगे है और यहां भी संविदाकर्मी हड़ताल पर है। कई तरह के काम प्रभावित हो रहे है।
- प्रदीप पाठक, बीएमओ नरसिंहगढ़

मुझे इस संबंध में कुछ नहीं कहना। जिले वालों से ही बात कीजिए।
- विवेक दुबे, बीएमओ जीरापुर

जहां संविदाकर्मी है। वहां टीकाकरण नहीं हो रहा है। क्योंकि सभी हड़ताल पर गए है।
एससी अहिरवार, सीबीएमओ सुठालिया

हमने जहां टीकाकरण नहीं हो पा रहा। वहां दूसरों की व्यवस्था की है। लेकिन थोड़ा बहुत तो फर्क पड़ेगा।
एसके खरे, बीएमओ सारंगपुर

आधी रोटी बनाकर किया प्रदर्शन
हड़ताल के पांचवें दिन संविदाकर्मियों ने धरना स्थल पर ही आधी रोटी बनाकर खाई और सरकार के प्रति अपना विरोध जाहिर किया। इस विरोध का उद्देश्य बताते हुए जिलाध्यक्ष जगदीश दांगी ने कहा कि सरकार हमसे काम पूरा ले रही है और पैसा न के बराबर दे रही है। ऐसे में हमारा घर भी नहीं चल रहा। कई बार आधा पेट भरकर ही कई लोगों को दिन निकालना पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानखतरनाक हुई तीसरी लहर, जांच में हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमितIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानभीषण लपटों से भी नहीं डरे ग्रामीण, अपनी जान पर खेलकर पड़ौसी को बचाया, Videoमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.