स्वच्छता सर्वेक्षण रिपोर्ट 2020... एमआईएस सर्वे में पिछड़े, भौतिक सत्यापन की तैयारी जोरशोर से

दूसरी तिमाही रिपोर्ट में राजगढ़ जिले का कोई भी शहर 200 रेंकिंग के अंदर नहीं

By: Bhanu Pratap Thakur

Updated: 03 Jan 2020, 12:59 PM IST

राजगढ़. स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर हाल ही में दूसरी तिमाही रिपोर्ट जारी की है। यदि इस रिपोर्ट में राजगढ़ जिले की तस्वीर को देखे तो जिले के सभी नगरीय निकाय 200 वी रेंक के पीछे है। इनमें सबसे आगे पचोर और सबसे पीछे जो शहर है वह छापीहेड़ा है। यह सर्वे अलग-अलग शहरों का उसकी जनसंख्या और मतदाताओं के आधार पर किया जाता है। जिसमें राजगढ़ जिले के सभी 14 निकाय 25 हजार और 25 हजार से लेकर 50 हजार तक की जनसंख्या की श्रेणी में शामिल है।

 

हालांकि यदि ओवरऑल रैंकिंग की बात करे तो यह होना अभी बाकी है। जिसको लेकर जिले में पिछले डेढ़ माह से खासी तैयारियां की जा रही है और यह तैयारियां राजगढ़ जिले के अधिकांश शहरों को इस शहर की टॉप सूची में लाने के साथ ही राजगढ़ को नंबर वन बनाने के लिए की जा रही है। जिसमें शहर को गुमटी मुक्त करे हुए दुकान संचालित करने वालों को पक्की दुकानें देना, अतिक्रमण मुक्त शहर और साफ-सफाई के साथ ही शहर से निकलने वाले कचरे को रिसाइकिल करते हुए उसका उपयोग विभिन्न तरह से करना व पूरे शहर को हराभरा करने के लिए पार्क आदि बनाए जा रहे है।


अब होगा भौतिक सत्यापन-
जिले की रैंकिंग की यदि हम बात करे तो इसको लेकर खासे काम हुए है। हाल ही में जो सर्वे रिपोर्ट आई है। उसमें भौतिक सत्यापन शामिल नहीं होता। इसमें एमआईएस के माध्यम से नगरीय निकायों में होने वाले कार्यो और स्वच्छता को लेकर की जाने वाली पहल को ऑनलाइन चढ़ाया जाता है। इसके आधार पर यह रैंकिंग तय होती है। जबकि नगरीय क्षेत्रों में कराए जाने वाले जागरूकता अभियान और उसका जनता पर क्या प्रभाव पड़ा और जनता स्वच्छता को लेकर कितनी जागरूक है। कचरा प्रबंधन को लेकर क्या उपाय किए गए। साथ ही बस स्टैण्ड की साफ सफाई और शहर की हरियाली व ऐतिहासिक धरोहरों को लेकर क्या कदम उठाए गए। इन पर अलग अलग अंक दिए जाते है।


हम भी समझे स्वच्छता का महत्व-
शहर को इस सूची में भौतिक सत्यापन के बाद टॉप पर लाने के लिए जनता को भी आगे आना होगा। जिसमें कही भी कचरा फेंकने की जगह उसे आसपास लगे डस्टबिन में रखे। गीला कचरा सूखा कचरा अलग अलग रखा जाए। इसके लिए पॉलिथीन का उपयोग न करे। साथ ही गंदगी आसपास बिल्कुल न होने दे। खुद भी समझे और पड़ोसियों को भी समझाए।

स्वच्छता सर्वेक्षण की रिपोर्ट के अनुसार जिले के 25 हजार जनसंख्या वाली निकायों में सबसे आगे पचोर है।
रैंकिंग शहर
203 पचोर
234 खुजनेर
285 राजगढ़
336 जीरापुर
365 बोड़ा
370 तलेन
382 सुठालिया
494 माचलपुर
496 कुरावर
520 खिलचीपुर
525 छापीहेड़ा
25 हजार से 50 हजार तक की जनसंख्या वाले शहर-
220 नरसिंहगढ़
229 सारंगपुर
236 ब्यावरा

जिले में जिस तरह से स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर इस साल काम हुए है। वह जमीन पर नजर आ रहे है। यह एमआईएस की रैंकिंग है। भौतिक सत्यापन में हमारे जिले के कई शहर टॉप पर होंगे।
आरपी नायक, डूडा राजगढ़

Show More
Bhanu Pratap Thakur Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned