लोकार्पण के पूर्व ही खुदने लगी सडक़

Ram kailash napit

Publish: May, 18 2018 11:27:42 AM (IST)

Rajgarh, Madhya Pradesh, India
लोकार्पण के पूर्व ही खुदने लगी सडक़

खुजनेर से राजगढ़ के बीच ५० करोड़ की लागत से बनी सीसी सडक़ का मामला

राजगढ़ .खुजनेर से राजगढ़ के बीच ५० करोड़ की लागत से बनी सीसी रोड का निर्माण अब अंतिम चरणों में है। मई माह के अंत तक सडक़ का काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद सडक़ का औपचारिक लोकार्पण कर दिया जाएगा, लेकिन लोकार्पण के पूर्व ही सडक़ निर्माण में की गई अनिमियत्ता सामने आने लगी है।

हालत यह है कि कुछ दिन पूर्व बनी सडक़ में कुछ स्थानों पर बड़े-बड़े गड्ढे नजर आने लगे है। जिनकी भरपाई के लिए गुरुवार को एजेंसी के कर्मचारियों ने उन पर सीमेंट का मटेरियल भरवा दिया। बताया जा रहा है सडक़ निर्माण के समय मटेरियम में कुछ स्थानों पर मिट्टी मिल गई थी।

वहीं से सीमेंट उखड़ रही है। इसके कारण सडक़ पर गड्ढे उभरने लगे है। खास बात यह है कि उत्कृष्ट सडक़ों की तर्ज पर बनाई गई इस सडक़ में ये खामियां शहर के बिल्कुल नजदीक भाजपा कार्यालय से मंडी गेट के सामने तक ही देखने में आ रही है।

इसके पहले करीब दो माह पूर्व भी सडक़ में दरारे पडऩे पर ठेकेदार ने उनमें केमिकल भरकर निर्माण की खामियों को छुपा लिया था। जिसके बाद विभाग ने निर्माण की जांच के कई दावे किए थ, लेकिन मामला ठंडा होने के बाद न तो विभाग ने इसकी जांच करवाई न ही ठेकेदार ने अपनी कार्यप्रणाली में कोई बदलाव किया। यहीं कारण है कि एक बार फिर सडक़ में हुई अनिमियत्ता सामने आने लगी है।

साइड के साथ भर दी नालियां

राजगढ़ से खुजनेर तक बनी इस सडक़ को शहरी क्षेत्र में खिलचीपुर नाके से लेकर शिवधाम कॉलोनी तक फोरलेन बनाया गया है। जहां सडक़ के सााथ ही दोनों और बारिश और कॉलोनी के पानी की निकासी के लिए नालियों को निर्माण भी किया गया है, लेकिन निर्माण के बाद अब तक सडक़ किनारे बनी इन नालियों को ढंका नहीं गया है।

इसके कारण सडक की साइडों पर दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। वहीं सडक़ों की साइडों की फिलिंग के लिए डाली गई मिट्टी भी बड़ी मात्रा में नालियों में जाने से नालियां चोक हो गई है। जिसके कारण नालियों में गंदा पानी इक_ा हो रहा है बारिश के दौरान सडक़ किनारे बने मकानों में पानी घुसेगा।

चार इंच के पत्थर की जगह डाल दिए बोल्डर

राजगढ़. खिलचीपुर जनपद के तहत आने वाली जैतपुराखुर्द पंचायत में करणपुरा से कल्लूूखेड़ी जोड़ तक सडक़ का निर्माण किया जा रहा है, लेकिन पंचायत द्वारा बनने वाली इस सडक़ में जीएसबी के स्थान पर बड़े-बड़े बोल्डर डाले जा रहे है।
इससे वाहन निकलना तो दूर की बात पैदल चलने में भी परेशानी हो रही है। मामले को लेकर शिकायत जनपद तक पहुंची, लेकिन कोई निर्णय नहीं हुआ। ग्रामीणों का आरोप है कि इस तरह की सडक़ यदि बनती है तो उससे अच्छा सडक़ का निर्माण ही न हो। वहीं लगातार चल रहे काम के बावजूद इंजीनियर द्वारा इस निर्माण पर कोई आपत्ति दर्ज न कराना।

यह सिद्ध करता है कि पंचायतों में जो काम हो रहे है उनका मूल्यांकन घर बैठे ही कर दिया जाता है। मामले में सरपंच रामकैलाश दांगी का कहना है कि इस संबंध में हम इंजीनियर साहब को पहले ही सूचित कर चुके है। वहीं इंजीनियर गोविंद प्रसाद अहिरवार का कहना है कि सडक़ में सिर्फ चार इंज अधिकतम साइज की गिट्टी या पत्थर डल सकते है। यदि इससे बड़े पत्थरों का इस्तेमाल हो रहा है तो गलत है। मैं कल ही जाकर इन्हें हटवाता हूं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned