कांग्रेसियों में बुद्धि बची ही नहीं, वामपंथियों ने कब्जा कर लिया

-प्रेस वार्ता में बोले- भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता
-एनआरसी और सीएए को लेकर कहा- अकाली और जनता दल हमारे साथ, कौन कह रहा नहीं दे रहे समर्थन

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Published: 03 Jan 2020, 05:27 PM IST

ब्यावरा. नागरिकता संशोधन बिल (सीएए) और एनआरसी (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन) को लेकर प्रेस वार्ता लेने भोपाल से आए भाजपा के प्रदेश प्रवक्त रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि अब महात्मा गांधी और इंदिरा गांधी की कांग्रेस नहीं बची। मौजूदा कांग्रेसियों में बुद्धि बची ही नहीं, उस पर वामपंथियों का कब्जा हो चुका है। उन्होंने कांग्रेस को सीधा चैलेंज किया लोगों को भड़काने का काम करने वाले कांग्रेसी बताएं यदि केंद्र में आएंगे तो क्या सीएए को वापस ले लेंगे।


प्रेस वार्ता में उन्होंने दावा किया हमें पंजाब का अकाली दल और बिहार का जनता दल यूनाइटेड सपोर्ट कर रहा, हालांकि सप्ताहभर पहले ही नीतिश कुमार और अकाली दल के सुखदेवसिंह बादल ने कहा कि हम एक्ट लागू नहीं होने देंगे। साथ ही कहा था कि एनआरसी में मुस्लिमों को शामिल किया जाना चाहिए था। इस पूरे मसले पर प्रदेश प्रवक्ता अग्रवाल स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए। उन्होंने कांग्रेसियों पर तंज कसते हुए काह कहा कि दहशत फैलाने का काम कांग्रेस करती है। जब बिल पास हुआ तो संसद के अंदर मां-बेटे (सोनिया-राहुल गांधी) दोनों थे लेकिन कुछ नहीं बोले, बाहर आकर हिंसा भड़का रहे हैं। वीर सावरकार के बारे में अश्लील टिप्पणी कांग्रेस सेवादल के कार्यक्रम की गई जो कि शर्मनाक है।

कांग्रेसियों को यह नहीं भूलना चाहिए कि 1970 में वीर सावरकरजी का डाक टिकिट इंदिराजी ने जारी करवाया था साथ ही उन पर डॉक्यूमेंट्री बनाने को कहा था। वहीं, 1980 इंदिरा ने पत्र लिखा था जिसमें वीर सावरकर जन्म शताब्दी मनाने का कहा था, लेकिन अब कांग्रेस स्तरहीनता पर उतर आई है। अग्रवाल ने कहा कि सीएए में कही कोई प्रावधान नागरीकता छीनने का नहीं है। बंटवारे या विभाजन का नहीं है, ऐसे लोग जो शरणार्थी के तौर पर रहते हैं उन्हें हम नागरिकता देंगे।

कांग्रेस मुसलमानों को भड़काने की कोशिश कर रही है जबकि मोदी शासन में 566 मुसलिमों को नागरिकता दी गई। अन्य भारत के मुसलमानों को भी इस बिल से कोई खतरा नहीं है। बिल संविधान के हिसाब से ही बनी सूची के हिसाब से ही बना है, जिसका विरोध मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके जैसे लोग कर रहे हैं लेकिु उन्हें यह मानना होगा।

यदि नहीं मानेंगे तो मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे। कांग्रेस सिर्फ फूट डॉलो और शासन करो की नीति अपना रही है, इसीलिए गृह मंत्री के सवाल कौन किस प्रवाधान है जिसमें नागारकिता छीनने की बात कर है, का कोई जवाब ये नहीं दे पाए। भाजपा घर-घर जाकर लोगों को सीएए समझाएगी, संगोष्ठियों के माध्यम से लोगों को जागरूक करेगी, जिसका आगाज हमने कर दिया है। प्रेस वार्ता के दौरान भाजपा जिला अध्यक्ष दिलबर यादव,जिला महामंत्री मनोज हाड़ा, जिला मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने, चंदन अग्रवाल, रामगोपाल दांगी सहित अन्य मौजूद रहे।

सीधी-बात, रजनीश अग्रवाल, प्रदेश प्रवक्ता, भाजपा
सवाल-जनता को आप मना लेंगे लेकिन अपने सहोयगी दल अकाली और जनता दल को क्यों नहीं मना पा रहे, वे बोल रहे हैं कि लागू नहीं होने देंगे?
जवाब : जनता दल के नीतिश और अकाली दल ने भी हमें साथ दिया है, वे केंद्र की मोदी सरकार को ही समर्थन करेंगे, उन्होंने स्पष्ट किया है।
सवाल- आप आंबेडकर जी को माने की बात करते हैं, क्या-सीएए से आर्टिकल-14 (समानता का अधिकार) संविधान का उल्लंघन नहीं होता?
जवाब : संविधान में उल्लेख यह भी है कि बुद्धि, संवर्धन और वर्गीकरण के आधार पर किसी को सहारा संबल दे सकते हैं, ऐसे फैसले पहले भी हुए हैं। रही बाद संविधान की तो यह सुप्रीम कोर्ट तय करेगी, मैं और आप कोई तय नहीं कर सकता।
सवाल- सिर्फ मुस्लिमों को ही आपने बाहर क्यों रखा है, क्या मुस्लिम देश उन्हें एक्सेप्ट करेगी, क्या मोदी सरकार की इन देशों से बात हुई है?
जवाब : अफगनास्तिान, पाकिस्तान और बांग्लादेश में मुस्लिम प्रताडि़त नहीं है, वहां के अल्पसंख्यक प्रताडि़त हैं। हमने कहा है कि हम भारत के मुस्लिम को नागरिका नही देंगे ऐसा भी नहीं है, जिनता सहारा केवल भारत हैं, उन्हें हम नागरिता दे रहे हैं।
सवाल- आप कह रहो कि आप संविधान को मानते हैं और बदलाव आपने अपने स्तर पर किया है, फिर जनता क्या माने?
जवाब : संविधान का जो मामला है, उसमें याचिकाएं भी लगी हैं, फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बिल पर रोक नहीं लगा सकते, फैसला आना बाकी है।
सवाल- मोदीजी कहते हैं कि देश में कहीं डिटेंशन सेंटर (नजरबंदी केंद्र)ही नहीं, जबकि असम में 46 हजार करोड़ का बन रहा है?
जवाब : ऐसा नहीं है, न हमने यह कहा है न ही हमारे समय किसी ने बनवाया, न ही हमने किसी को डिटेंशन सेंटर भेजने की बात की। जो डिटेंशन सेंटर का स सवाल खड़ा कर रहे हैं उन्होंने ही वहां पर लोगो को भेजा है।

BJP Citizenship Amendment Act Protests
Show More
Rajesh Kumar Vishwakarma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned