68 दिन बाद आज से चालू हुई ट्रेन के लिए बुक हुए दो टिकिट

जिले में सिर्फ एक ट्रेन, साबरतमी एक्सप्रेस चलेगी
बनारस के लिए ब्यावरा से हुए दो टिकिट, अमहदाबाद जाने वाली साबरमती में एक भी टिकिट नहीं

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Published: 01 Jun 2020, 07:27 PM IST

ब्यावरा.देशभर में एक जून से चलने वाली 200 ट्रेनों में ब्यावरा सहित जिले से होकर जाने वाली एक ट्रेन साबरमती एक्सप्रेस शामिल है। अहमदाबाद और बनारस व दरभंगा जाने वाली उक्त गाड़ी के लिए 68 दिन की लॉक डॉउन की अवधि के बाद पहले दिन के लिए महज दो टिकिट का रिजनर्वेशन हुआ है।
दरअसल, उक्त गाड़ी से यूपी, गुजरात, बिहार और मप्र का सीधा संपर्क है। इन राज्यों में अधिकतर मजदूर वर्ग की आवाजाही उक्त गाड़ी से की जाती है। हालांकि फिलहाल उक्त गाड़ी में न जनरल कोच है न ही एसी कोच। नॉन एसी वाले स्लीपर कोच ही रहेंगे, जिनमें भी वे ही यात्री सफर कर पाएंगे जिनका पहले से रिजर्वेशन होगा। साथ ही गाड़ी आने के पहले ही उन्हें स्टेशन पर पहुंचना होगा। स्टेशन पर थर्मल स्कैनिंग के साथ ही तमाम प्रकार की सावधानी यहां रखी गई है। बता दें कि 68 दिन से पूरे देश में ट्रेनों की आवाजाही माल गाडिय़ों को छोड़कर थमी हुई है। अब नये सिरे से महज साबरमती एक्सप्रेस ही यहां से होकर जाएगी, जिसके लिए रिजर्वेशन चालू हो गए हैं। १ जून से वह अपने डिपचर स्टेशन से चल चुकी है जो कि 2 को ब्यावरा पहुंचेगी।

एसडीएम ने किया स्टेशन का मुआयना
कोविड-19 के प्रोटोकॉल और एहतियातन स्थानीय प्रशासन ने भी रेल्वे स्टेशन का मुआयना किया। यहां एसडीएम ने यात्रियों की सुरक्षा को लेकर की जा रही तैयारियों का निरीक्षण किया। सात ही थर्मल स्कैनिंग, सैनीटाइजिंग इत्यादि की भी व्यवस्था देखी। उन्होंने रेल्वे अधिकारियों से चर्चा कर मंगलवार से चालू होने वाली दोनों ही साबरमती एक्सप्रेस को लेकर सावधानी की बात की।
दो टिकिट हुए हैं
ब्यावरा से बनारस जाने के लिए दो यात्रियों ने टिकिट कटवाए हैं, अहमदाबाद के लिए कोई टिकिट नहीं बिका। ट्रेन के आने की पूरी तैयारी शासन स्तर पर कर ली गई है। हर यात्री की स्क्रीनिंग की जाना है। ट्रेन में सिर्फ रिजर्वेशन वाले ही यात्री सफर करेंगे।
-पी. एस. मीना, स्टेशन मास्टर, ब्यावरा

Rajesh Kumar Vishwakarma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned