scriptUma Bhilala selected in Indo-Tibetan Border Police | स्कूल जाने से पहले दौड़ती थी बेटी, वर्दी में लौटी तो घोड़े पर बिठाकर निकाला जुलूस | Patrika News

स्कूल जाने से पहले दौड़ती थी बेटी, वर्दी में लौटी तो घोड़े पर बिठाकर निकाला जुलूस

गांव की पगडंडियों पर दौडऩे वाली बेटी अब देश की सेवा कर गांव का नाम रोशन करेगी, भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल में चयन होने से बेटी का नहीं बल्कि पूरे जिलेवासियों का गर्व से सीना चौड़ा हो गया.

राजगढ़

Published: March 28, 2022 11:32:04 am

राजगढ़. स्कूल जाने से पहले गांव की पगडंडियों पर दौडऩे वाली बेटी अब देश की सेवा कर गांव का नाम रोशन करेगी, भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस बल में चयन होने से बेटी का नहीं बल्कि पूरे प्रदेशवासियों का गर्व से सीना चौड़ा हो गया, ऐसे में जब 11 माह की ट्रेनिंग पूरी करके बेटी गांव में लौटी तो घोड़े पर बिठाकर दूल्हे की तरह जुलूस निकाला गया, जिसमें काफी संख्या में ग्रामीण देशभक्ति के नारे लगाते हुए चल रहे थे।

स्कूल जाने से पहले दौड़ती थी बेटी, वर्दी में लौटी तो घोड़े पर बिठाकर निकाला जुलूस
स्कूल जाने से पहले दौड़ती थी बेटी, वर्दी में लौटी तो घोड़े पर बिठाकर निकाला जुलूस


जानकारी के अनुसार राजगढ़ जिले के पचोर तहसील के अंतर्गत आनेवाले गांव गुलखेड़ी कला निवासी उमा भिलाल (24) पिता निराकार भिलाला का चयन भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस में हुआ है, बेटी ने करीब 11 माह की ट्रेनिंग पूरी करने के बाद जब गांव में प्रवेश किया, तो पूरे गांव में खुशी की लहर दौड़ गई, गांव वालों ने बेटी को घोड़े पर बिठाकर भव्य जुलूस निकाला, जिसमें बेटी सहित गांव वालों ने भी जमकर डांस किया। इस दौरान ढोल-ढमाकों के साथ बेटी का स्वागत किया तो परिजनों की आंखें भी खुशी से नम हो गई।

यह भी पढ़ें : पैसा कमाने का बेहतर सोर्स बन रही मूंग, जानिये कैसे मिल रहा लाभ

पिता मैकेनिक हैं बेटी सुबह 5 बजे से करती थी मेहनत
उमा के पिता निराकार मैकेनिक का काम करते हैं , उमा को शुरू से ही फौज में जाने की चाहत थी, इसी के चलते वह स्कूल जाने से पहले करीब एक से डेढ़ घंटे तक रोज दौड़ लगाती थी। उसकी मेहनत रंग लाई, उमा ने कक्षा 5 वीं तक की पढ़ाई गांव के ही शासकीय विद्यालय से की, इसके बाद उसका चयन नवोदय विद्यालय में हो गया, वहीं से उमा ने तैयारी करते हुए पढ़ाई की, उमा ने करीब दो साल तक आंध्रप्रदेश के एक स्कूल में बच्चों को भी पढ़ाया, खुद भी पढ़ती थी और फौज में जाने के लिए तैयारी भी करती थी, सच्ची मेहनत और लगन का नतिजा निकला आज वह वर्दी पहनकर गांव में लौटी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

राष्ट्रीय खेल घोटाला: CBI ने झारखंड के पूर्व खेल मंत्री के आवास पर मारा छापामहंगाई पर आज केंद्र की बड़ी बैठक, एग्री सेस हटाने और सीमेंट के दाम कम करने पर रहेगा जोरPM Modi in Hyderabad: KCR पर मोदी का इशारों में वार, परिवादवाद को बताया लोकतंत्र का दुश्मनUP Budget: युवाओं के रोजगार-व्यापार के लिए Yogi ने बनाया स्पेशल प्लान, जानिए कैसे मिलेगी नौकरी'8 साल, 8 छल, भाजपा सरकार विफल...' के नारे के साथ मोदी सरकार पर कांग्रेस का तंजसुप्रीम कोर्ट ने सेक्स वर्क को भी माना प्रोफेशन, पुलिस नहीं करेगी परेशान, जारी किए निर्देशमोदी सरकार के 8 साल पूरे; नोटबंदी, एयर स्ट्राइक, धारा 370 खत्म करने सहित सरकार के 8 बड़े फैसलेआयकर विभाग के कर्मचारी ने तीन- तीन लाख रुपए में बेचे कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के पेपर, शिक्षिका पत्नी के खाते में किए ट्रांसफर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.