scriptVaccine is getting spoiled daily by 30 to 50 percent due to negligence | लापरवाही से 30 से 50 प्रतिशत तक वैक्सीन रोज हो रही खराब | Patrika News

लापरवाही से 30 से 50 प्रतिशत तक वैक्सीन रोज हो रही खराब

लक्ष्य की तुलना में वैक्सीन लगाने नहीं पहुंच रहे लोग, सरकार भेज रही 20 डोज का वॉयल बची वैक्सीन का हो रहा नुकसान

राजगढ़

Published: December 06, 2021 06:24:17 pm

राजगढ़. कोविड की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए प्रशासन हर व्यक्ति को सेकंड डोज समय पर लगाया जाए, इसको लेकर लगातार विभिन्न तरह के अभियान उन लोगों को जागरूक करते हुए टीकाकरण करवा रहा है, लेकिन अभी भी कई लोग लगातार लापरवाही बरत रहे हैं। इसका नतीजा यह हो रहा है कि जो डोज हमें मिल रहे हैं उनमें से कई डोज खराब हो रहे हैं।

patrika_mp_1.png

इसमें जहां लोगों की लापरवाही है, वहीं यदि सरकार की बात करें तो कहीं न कहीं यह कमी ही कही जाएगी कि कोवीशील्ड के एक वायल में 10 डोज आ रहे हैं, जिनका उपयोग 11 लोगों के लिए भी किया जा सकता है, लेकिन कोवैक्सीन कि यदि बात की जाए तो २० डोज का वाइल आ रहा है, जिसके कारण यह वैक्सीन 30 से लेकर 50 प्रतिशत तक हर दिन खराब हो रही है। जिस दिन किसी तरह का कोई अभियान होता है और बड़ी संख्या में लोगों का टीकाकरण का लक्ष्य लिया जाता है उस दिन यह स्थिति कम देखने को मिलती है, लेकिन आम दिनों में यह बड़ी मात्रा में खराब हो रहे हैं।

प्राइवेट पर 750 से 1000 रुपए का डोज
जब प्राइवेट सेंटर पर वैक्सीन लग रही थी, उस समय कीमत 7५० से लेकर 1000 रुपए तक थी। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि यदि एक भी डोज खराब होता हैं तो सरकार को कितना बड़ा नुकसान होता है, लेकिन यहां हर दिन 30 से 50 प्रतिशत तक नुकसान जा रहा है।

क्या है टीके का शेडयूल
कोवीशील्ड की प्रथम डोज लगने के बाद 84 से लेकर 112 दिन के बीच इसे लगाए जा सकता है। जबकि को वैक्सीन कि यदि बात हम करते हैं तो इसकी अवधि 28 दिन से लेकर 42 दिन तक की है। यही कारण है कि जिन लोगों को प्रथम डोज कोवैक्सीन का लगा है, उनका दूसरा डोज भी जल्द आ रहा है। यही कारण है कि लक्ष्य के अनुरूप को वैक्सीन ज्यादा मंगवाई जा रही है।

खुलने के बाद सिर्फ चार घंटे उपयोगी
कोवीशील्ड हो या को वैक्सीन दोनों ही वैक्सीन का बायल एक बार खोल लिया जाए तो वह 4 घंटे ही उपयोगी रहता है। ऐसे में निर्धारित समय में यदि 20 लोग नहीं पहुंचते या 20 लोग को यह टीका नहीं लग पाता तो शेष बचा हुआ डोज खराब हो जाता है।

लोग आगे नहीं आ रहे
जिला टीकाकरण अधिकारी, राजगढ़ एलपी भकोरिया ने बताया कि लोग खुद आगे रहकर सामने आएं और दूसरा टीका लगवाएं, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा। खोज खोजकर दूसरे रोज को तैयार किया जा रहा है। फिर भी पूरे लोग नहीं मिल पाते, वैक्सीन खराब न हो इसके लिए हमने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मांग की है, जो डोज 20 के आ रहे हैं उन्हें 5 या 10 का ही भेजा जाए। ताकि यह खराब न हो। हमने गर्भवती और धात्री महिलाओं को लक्षित किया है, ताकि यह खराब होने की जगह सभी को लग सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.