राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज में तोडफ़ोड़ करने वाले दो पार्षद और कांग्रेसी नेता गिरफ्तार, डॉक्टरों की शिकायत के बाद कार्रवाई

डॉक्टर एसोसिएशन की एफआईआर के बाद पुलिस ने इस तोडफ़ोड़ में शामिल 2 पार्षदों सहित प्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष को गिरफ्तार किया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 10 Apr 2021, 12:20 PM IST

राजनांदगांव. मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तोडफ़ोड़ के मामले को लेकर डॉक्टर एसोसिएशन की एफआईआर के बाद पुलिस ने इस तोडफ़ोड़ में शामिल 2 पार्षदों सहित प्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष को गिरफ्तार किया है। कांग्रेस नेताओं को बाद में मुचलके पर रिहा किया गया। शासकीय मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अव्यवस्था का आलम है। यहां समय पर डॉक्टर मौजूद नहीं रहते। रात के वक्त इमरजेंसी में डॉक्टर बुलावे के बाद भी नहीं आते हैं जिसे लेकर आए दिन मरीजों और डॉक्टरों के बीच विवाद की स्थिति निर्मित होती है।

हालातों से वाकिफ कराया
बीते बुधवार की मध्यरात्रि मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में बने मातृ-शिशु अस्पताल में मध्य रात्रि 3 महिलाओं के प्रसव के लिए परिजन डॉक्टरों को बुलाने गुहार लगाते रहे, लेकिन डॉक्टर नहीं पहुंचे, ऐसे में मरीज के परिजनों ने स्थानीय पार्षदों को फोन कर हालातों से वाकिफ कराया। जिस पर कांग्रेस पार्षद ऋषि शास्त्री, शरद पटेल और एनएसयूआई के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव एवं छत्तीसगढ़ प्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष निखिल द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने अस्पताल अधीक्षक डॉ. प्रदीप बैक को कई बार फोन किया, लेकिन अस्पताल अधीक्षक ने उनका फोन नहीं उठाया।

अधीक्षक व डॉक्टरों को मौके पर बुलाने की मांग करते हुए पार्षदों सहित कांग्रेस के अन्य कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के गेट के पास ही रात 1 बजे से 3 बजे तक धरना प्रदर्शन किया, लेकिन डॉक्टर मौके पर नहीं पहुंचे तो उन्होंने अस्पताल अधीक्षक के चेंबर के बाहर तोडफ़ोड़ करते हुए कांच के दरवाजे को तोड़ दिया। अस्पताल अधीक्षक का नेम प्लेट भी तोडफ़ोड़ करते हुए फेंक दिया।

एफआईआर दर्ज किया
यह सब कुछ पुलिस के मौजूदगी में होता रहा, लेकिन पुलिस ने उन्हें नहीं रोका। इसके बाद मामले की शिकायत करने डॉक्टर एसोसिएशन ने स्थानीय बसंतपुर थाने में पार्षदों और युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष निखिल द्विवेदी के खिलाफ लिखित शिकायत देते हुए एफआईआर करवाया। डॉक्टरों का कहना है कि वे दबाव और दहशत के बीच काम नहीं कर पाएंगे। डॉक्टर एसोसिएशन की शिकायत के बाद बसंतपुर पुलिस ने तोडफ़ोड़ में शामिल पार्षदों और कांग्रेस नेता के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है।

गाली-गलौज का आरोप लगाया
मेडिकल कॉलेज अस्पताल में प्रसव के लिए नर्सों के द्वारा रुपए मांगे जाने का आरोप भी पार्षदों के द्वारा लगाया गया है। वहीं पार्षदों पर भी नर्सों के साथ गाली गलौज का आरोप लगा है। डॉक्टर एसोसिएशन की शिकायत के बाद पुलिस ने पार्षद ऋषि शास्त्री, पार्षद शरद पटेल और युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष निखिल द्विवेदी के खिलाफ छत्तीसगढ़ लोक संपत्ति निवारण अधिनियम की धारा- 3, छत्तीसगढ़ चिकित्सक सेवा तथा चिकित्सा सेवा संस्थान, हिंसा तथा संपत्ति क्षति रोकथाम अधिनियम की धारा-3, आईपीसी की धारा 294 और शासकीय कार्य में बाधा डालने की धारा 186 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की है। गिरफ्तारी के बाद सभी को मुचलके पर रिहा किया है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned