कलक्टर का औचक निरीक्षण, दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में दी दबिश

कलक्टर का औचक निरीक्षण, दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में दी दबिश

Nitin Dongre | Updated: 15 Jun 2019, 04:30:20 AM (IST) Rajnandgaon, Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

मरीजों को मिल रही सुविधा की ली जानकारी

राजनांदगांव. कलक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कल दोपहर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोंगरगांव और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुरिया का आकस्मिक निरीक्षण किया। मौर्य ने इन दोनों स्वास्थ्य केंद्रों में भर्ती मरीजों से रूबरू चर्चा कर वहां मिल रही इलाज की सुविधाओं की जानकारी ली।

मौर्य ने दोनों स्वास्थ्य केंद्रों के महिला वार्ड, जनरल वार्ड, नर्स रूम, एक्सरे कक्ष, नवजीवन स्वागत कक्ष, स्टोर रूम, पैथोलाजी कक्ष में जाकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने ओपीडी और आईपीडी पंजी का निरीक्षण कर इन अस्पतालों में रोज इलाज के लिए आने वाले मरीजों की जानकारी ली। कलक्टर ने दोनों स्वास्थ्य केंद्रों के स्टॉक रूम में जाकर दवाईयों की उपलब्धता का प्रत्यक्ष निरीक्षण किया।

डोंगरगांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अचानक पहुंचे

मौर्य पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोंगरगांव में अचानक पहुंचे। मौर्य वहां की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते-करते महिला वार्ड गए। महिला वार्ड में ग्राम दैहान की उषा बाई चन्द्रवंशी अपने नवजात बच्चे को इलाज के लिए लेकर आई थी। मौर्य ने उषा बाई से बच्चे के इलाज के संबंध में जानकारी ली। उषा बाई ने बताया कि उनके बच्चे का जन्म प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जादूटोला में बीते 11 अप्रैल को हुआ है। उषा बाई ने बताया कि उनका यह पहला बच्चा है। मौर्य ने उनसे मातृत्व वंदना योजना और महिला एवं बाल विकास विभाग की योजना से मिलने वाली सहायता राशि के संबंध में पूछा तो उषा बाई ने बताया कि किसी भी प्रकार से सहायता नहीं मिली है।

टीकाकरण की स्थिति पर जाहिर की नाराजगी

मौर्य ने जनरल वार्ड में भी जाकर झम्मन लाल और हेमबाई से भी चर्चा कर इलाज सुविधा के बारे में जानकारी ली। मौर्य ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डोंगरगांव में संस्थागत प्रसव और टीकाकरण की स्थिति पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने अस्पताल परिसर में ही संचालित जन औषधि केंद्र का भी निरीक्षण किया। डॉक्टरों ने बताया कि अभी डायरिया और लू पीडि़त मरीज इलाज के लिए ज्यादा भर्ती है। डॉक्टरों ने बताया कि डायरिया के इलाज के लिए पर्याप्त दवाईयां अस्पताल में उपलब्ध है।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुरिया पहुंचकर लिया जायजा

मौर्य ने इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र छुरिया पहुंचकर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मौर्य ने महिला वार्ड में डोमेश्वरी बाई साहू वार्ड क्रमांक 1 छुरिया से चर्चा की। डोमेश्वरी साहू ने बताया कि कल 12 जून को ही अस्पताल में उनकी जचकी हुई है। उनकी पहली बेटी हुई है। मौर्य ने डोमेश्वरी साहू से सहज रूप से चर्चा करते हुए बिटिया के नामकरण आदि के संबंध में पूछा। मौर्य ने डोमेश्वरी साहू के पति रामचंद्र साहू से बेटी होने के संबंध में बातचीत की, तो रामचंद्र साहू ने बेटी होने पर खुशी जाहिर की। कलक्टर ने कहा कि बेटी का अच्छा सा नाम रखना और खूब पढ़ाना।

साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने के निर्देश

कलक्टर ने मातृत्व वंदना योजना और अन्य योजनाओं से मिलने वाली आर्थिक सहायता के बारे में पूछने पर डोमेश्वरी साहू ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने इसके लिए जल्द आधार कार्ड और बैंक में खाता खुलवाने कहा है। इस स्वास्थ्य केंद्र में ग्राम जोंधरा के उल्टी-दस्त के 15-20 मरीजों को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। अस्पताल निरीक्षण के दौरान उन्होंने अधिकारियों से साफ-सफाई पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश भी दिए। इस मौके पर जिला पंचायत राजनांदगांव की मुख्य कार्यपालन अधिकारी तनुजा सलाम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned