दिग्विजय कॉलेज: वार्षिकोत्सव को लेकर अभाविप व एनएसयूआई आमने-सामने

अभाविप ने स्थानीय जनप्रतिनिधयों की उपेक्षा पर फूंका प्राचार्य का पुतला, एनएसयूआई ने कहा-प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हो एफआईआर

By: Govind Sahu

Published: 18 Feb 2020, 07:32 PM IST

राजनांदगांव. जिले के सबसे बड़े महाविद्यालय दिग्विजय कॉलेज में १९ फरवरी को होने वाले वार्षिकोत्सव को लेकर भाजपा व कांग्रेस समर्थित छात्र संगठन मंगलवार को फिर आमने सामने हो गए। कॉलेज प्रबंधन पर कार्यक्रम में स्थानीय जनप्रतिनिधियों का उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए मंगलवार को अभाविप ने कॉलेज के सामने प्रदर्शन किया और प्राचार्र्य का पुतला भी फंूक दिया। वहीं एनएसयूआई ने प्राचार्य को ज्ञापन सौंपकर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एफआईआर कराने की मांग रखी है।


अभाविप प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य चिन्टू सोनकर ने बताया कि १९ फरवरी को आयोजित होने वाले कॉलेज के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा करते हुए कांग्रेस संगठन के लोगों को बुलाया गया है। जबकि स्थानीय जनप्रतिनिधियों को बुलाना था, भले ही वो किसी भी पार्टी से हों। प्राचार्य ने केवल अपनी स्वार्थ सिद्धि के लिए कांग्रेसियों को आंमत्रित की हैं। जिन्हें अतिथि बनाया गया है वह जनप्रतिनिधि भी नहीं है। जनप्रतिनिधि आते तो कॉलेज के लिए फंड की व्यवस्था होती।


विधायक व सांसद को आमंत्रित नहीं करना भी दुर्भाग्य
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने राजनांदगांव विधानसभा के विधायक व क्षेत्रीय सांसद को कार्यक्रम में आंमत्रित नहीं करने पर खेद व्यक्त किया। कहा कि प्राचार्य कांग्रेस की कठपुतली की तरह कार्य कर रही है। ऐसे में सवाल उठता है कि प्रशासन के लिए जनप्रतिनिधि विशेष है या कांग्रेस पार्टी? अभाविप ने इस कार्यक्रम के विरोध में प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।


प्रदर्शन के दौरान एबीवीपी जिला संगठन मंत्री गौरव सिंह, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य चिन्टू सोनकर, मुकेश मंडावी, शशि साहू, राजकुमार सिंग सार्वा, प्रदीप झा, सौरभ रात्रे, अनिकेत साहू, गोपाल साहू, जसवंत यादव, चंदना श्रीवास्तव, अंसीका यादव, अभय कोसा, राकेश, भोज, रेकचंद साहू, राम यादव, लक् की बघेल, शुभम वर्मा, हितेश साहू, विवेक तिवारी, आशीष सोरी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।


कॉलेज में अभाविप द्वारा नारेबाजी व प्राचार्य के खिलाफ किए विरोध प्रदर्शन को एनएसयूआई ने गैर कानूनी बताते हुए प्राचार्य को शिकायत पत्र सौंपकर उनके खिलाफ एफआईआर कराने की मांग रखी है। एनएसयूआई के जिला उपाध्यक्ष राजा यादव का कहना है परिसर में नारेबाजी व विरोध प्रदर्शन करना गलत है। इस दौरान महाविद्यालय कार्यकारी अध्यक्ष अंकुश निर्मलकर, सोनल मिश्रा, गीतेश साहू, मोइन खान, संजय साहू, आशीष कुमार, कशिश देवांगन, मेहुल कुमार, गोपाल साहू, सत्यम रजक, यमन शेंडे आदि छात्र उपस्थित थे।

वार्षिकोत्सव और पदक वितरण आज


शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय का वार्षिक पदक वितरण और स्नेह सम्मेलन 19 फरवरी को महेंद्र सिंह छाबड़ा, अध्यक्ष छग अल्पसंख्यक आयोग के मुख्य आतिथ्य में होगा। अध्यक्षता पूर्व सांसद करूणा शुक्ला करेंगी। इस दौरान कॉलेज के लगभग 80 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को स्वर्ण पदक प्रदान किया जाएगा। साथ ही महंत राजा दिग्विजय दास की स्मृति में दिया जाने वाला राज्य स्तरीय निबंध लेखन प्रतियोगिता का पुरस्कार भी वितरित होगा। उल्लेखनीय है कि इस पुरस्कार के तहत प्रदेश के तीन महाविद्यालयीन विद्यार्थियों को १५ हजार का पुरस्कार प्रदान किया जाता है।

Govind Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned