40 साल बाद हो रहा नवनिर्माण 7 हजार एकड़ भूमि होगी सिंचित

40 साल बाद हो रहा नवनिर्माण 7 हजार एकड़ भूमि होगी सिंचित

Nakul Ram Sinha | Publish: May, 18 2018 11:40:34 AM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

मुतेड़ा डायवर्सन नहर लाइनिंग कार्य का लिया जायजा

राजनांदगांव / खैरागढ़. ब्लाक के मुतेड़ा में 40 साल पहले बने मुतेड़ा डायवर्सन के नवीनीकरण कार्य का जायजा लेने पहुंचे। जनपद अध्यक्ष विक्रंात सिंह ने बताया कि सीएम रमन सिंह और सांसद अभिषेक सिंह कि संवेदनशीलता के कारण ब्लाक के 19 गांवों के लगभग 7 हजार एकड़ में ङ्क्षसचाई की समस्या पूरी तरह दूर हो जाएगी। जनपद अध्यक्ष सिंह जलसंसाधन विभाग के अधिकारियों पंचायत पदाधिकारियों सहित मुतेड़ा डायवर्सन की पूरी नहर परियोजना की जानकारी नहर किनारे 20 किमी की यात्रा कर ली।

19 गांवों के किसानों को मिलेगा लाभ

मुतेड़ा डायवर्सन के लिए प्रदेश सरकार ने 25 करोड़ रू की स्वीकृति दी थी। परियोजना का कार्य अगले साल तक पूरा होना है, लेकिन सिंह की सक्रियता के कारण केवल 35 सौ एकड़ में हर साल होने वाली सिंचाई की क्षमता इसी साल 7 हजार एकड़ तक पहुंच जाएगी। फिलहाल केनाल के दुरूस्तीकरण कार्य अंतिम चरण में है। ताकि केनाल के अंतिम छोर पर दुर्ग सीमा में बसे ग्राम भोथी तक किसानों को पानी पहुंचाया जा सके।

25 साल बाद भोथी को मिलेगा पानी
1972 में बनाए गए मुतेड़ा डायवर्सन का नवीनीकरण और लायनिंग कार्य जलसंसाधन विभाग द्वारा कराया जा रहा है। 20 किमी लंबी नहर परियोजना को अगले साल पूर्ण होना है। इस केनाल का फायदा मुतेड़ा, कौडिय़ा, बिजलदेही, राहुद, सलिहा , रेंगाकठेरा, बघमर्रा, करमतरा, केकराजबोड़, पेटी, घुमर्रा, बावली, शेरगढ़ पोटिया और भोथी सहित 19 गांवों के 7 हजार एकड़ जमीन को मिलेगा। पिछले 25 साल से नवीनीकरण और जीर्णोद्धार नहीं होने से केनाल का पाली केवल 7 गांवों के 35 सौ एकड़ तक ही पहुंच पाता था। अगले साल पूर्ण होने वाले इस नहर लाइनिंग परियोजना में ऐसे कार्य कराए जा रहे हैं। ताकि इसका लाभ इसी साल मिल सके निर्माण कार्य अगले सत्र तक जारी रहेंगे। सिंह ने इसे इलाके के लिए वरदान बताते कहा कि इसी साल से भोथी गांव को पिछले 25 साल बाद नहर से पानी मिल सकेगा।

किया निरीक्षण ग्रामीणों की मांगों पर होगी पहल
गुरुवार को जनपद अध्यक्ष सिंह ने मुतेड़ा नहर लाइनिंग परियोजना के शुरूआत सेअंत तक जारी कार्य का निरीक्षण किया। जल संसाधन विभाग के एसडीओ एसएन शर्मा उपअभियंता केके द्विवेदी सहित जनपद सदस्यों, पंचायत प्रतिनिधियों शहर के पार्षददलों के साथ साथ निरीक्षण में क्षेत्रीय नेता भी शामिल थे। बघमर्रा मे ग्रामीणों की शिकायतों पर सिंह ने अधिकारियों से चर्चा कर पाइप लगाने निर्देश दिए। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि बघमर्रा और पेटी के लिए माइनर नहर निर्माण जारी है। करमतरा जाने के लिए पडऩे वाले सड़क पर नहर के ऊपर के पुल को भी निर्माण के दौरान उपर किया जाएगा। सिंह ने नहर के अंतिम छोर पर बसे सीमावर्ती गांव भोथी पहुंचकर वहां के ग्रामीणों से सिंचाई सुविधाओं पर विस्त़ृत चर्चा भी की।

कच्चे नहर से ही मिलेगा पानी बनाई गई व्यवस्था
जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने निरीक्षण के दौरान सिंह और जनप्रतिनिधियों को निर्माण कार्य की जानकारी देते बताया कि लगभग 17 किमी नहर कार्य कच्चे रूप मे पूर्ण कर लिया गया है। इस सत्र में अंतिम छोर तक पानी पहुंचेगा। इसकी पूरी तैयारी कराई गई है। अगले सत्र पूर्व किसानों को नहर का पूरा फायदा मिलेगा। अधिकारियों ने बताया कि मुतेड़ा बांध से कुछ मीटर दूरी पर नहर में बर्षों से पत्थरों के आने से लगभग 5 मीटर गहरा पानी होने के बाद भी नहर में पानी नही आता था, जिसे निर्माण के दौरान अब हटाया जा रहा है। नहर का लेबल भी बांध के गेट के हिसाब से किया गया है। पहले बांध मे 5 मीटर से अधिक पानी होने पर ही नहर से पानी दिया जा सकता था। अब लेबल बराबर करने से बांध से हर संभव पानी किसानो को दिया जा सकेगा। फिलहाल इस सत्र में कच्चे नहर से ही पानी देने के लिए व्यवस्था बनाई गई है। अगले सत्र में पक्की नहर का काम पूरा हो जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned