बालोद के बाद राजनांदगांव पहुंचा 22 हाथियों का दल, दहशत में वनांचल के कई स्कूलों को करना पड़ा बंद

र मोहला क्षेत्र के पानाबरस जंगल में 22 हाथियों का दल बीते 2 दिनों से विचरण कर रहा है। बुधवार रात इन हाथियों के दल ने उत्पात मचाते हुए ग्राम बैगाटोला के ग्रामीण का कच्चा मकान तोड़ दिया।

By: Dakshi Sahu

Updated: 24 Sep 2021, 05:38 PM IST

राजनांदगांव. जिला मुख्यालय से लगभग 85 किलोमीटर दूर मोहला क्षेत्र के पानाबरस जंगल में 22 हाथियों का दल बीते 2 दिनों से विचरण कर रहा है। बुधवार रात इन हाथियों के दल ने उत्पात मचाते हुए ग्राम बैगाटोला के ग्रामीण का कच्चा मकान तोड़ दिया। वहीं अब इन हाथियों का दल दो भागों में बंट कर अलग-अलग क्षेत्रों में निकल पड़ा है, जिसमें एक दल पाना बरस जंगल के वन परिक्षेत्र क्रमांक- 477 में देखा गया है। ऐसेे में आसपास गांव में दहशत का माहौल है। लोग अपने घरों से नहीं निकल रहे। हालांकि घर पर भी रहने के बाद खुद को वे सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे।

ग्रामीणों को जंगल में नहीं जाने की समझाइश
वन विभाग की टीम और ग्राम वन समिति के माध्यम से हाथियों और लोगों को सुरक्षित रखने की कवायद की जा रही है, जिसके तहत ग्रामीणों को जंगल में नहीं जाने की समझाइश दी गई है। इस मामले में राजनंदगांव वन मंडलाधिकारी गुरुनाथन एन का कहना है कि हाथियों का दल दो भागों में बंट कर विचरण कर रहा है। आसपास गांव में मुनादी कराकर हाथियों के अनुकूल व्यवहार करने की समझाइश ग्रामीणों को दी जा रही है। वहीं जंगल में जाने से लोगों को मना किया गया है।

फसलों को नुकसान पहुंचाया
राजनांदगांव लगभग 2 वर्ष पूर्व राजनांदगांव जिले में बालोद जिले की ओर से दो हाथियों की आमद हुई थी। वहीं इसके बाद अब 2 दिन पूर्व ही बालोद जिले से लगभग 22 हाथियों का झुंड मानपुर-मोहला क्षेत्र की ओर से प्रवेश किया है। इन हाथियों के झुंड के द्वारा फसलों को नुकसान भी पहुंचाया जा रहा है। इन हाथियों के दो दलों को पेंदाकोड़ो और बोदाल माइंस के समीप ग्रामीणों ने देखा है, तो वहीं इनमें से एक दल की मौजूदगी पानाबरस जंगल में भी देखी जा रही है। वन विभाग के द्वारा हाथियों के विचरण करने के मार्ग के आसपास सभी गांवों में मुनादी कराई गई है और ग्रामीणों को हाथी से बचाव के तरीके भी बताया जा रहा है।

दोनों को सुरक्षित रखने प्रयास
लगभग 22 हाथियों के झुंड के आने से मानपुर, मोहला और अंबागढ़ चौकी क्षेत्र में दहशत का माहौल भी दिखाई दे रहा है। वर्तमान समय खेती-किसानी का होने के चलते जंगल के आसपास खेतों में जाने वाले ग्रामीणों को इन हाथियों के दल से अधिक खतरा बना हुआ है। वहीं वन विभाग ग्रामीणों और हाथियों दोनों को सुरक्षित करने में जुटा हुआ है।

फसल भी बर्बाद
मिली जानकारी अनुसार हाथियों के झुंड ने बैगाटोला के एक मकान को क्षतिग्रस्त किया है। इसके अलावा जहां से गुजर रहे वहां फसलों को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं। हालांकि वन विभाग का कहना है कि घर व फसल के लिए तत्काल सर्वे के बाद पीडि़तों को मुआवजा दिया जाएगा।

स्कूलों में छुट्टी कर दी गई
हाथियों के झुंड का लोकेशन मोहला ब्लाक के बिट क्रमांक 477 में मिल रहा है। यहां हाथियों के पदचिन्ह भी मिले हैं। मोहला ब्लाक के बाद चौकी ब्लाक के सीमावर्ती क्षेत्रों में हाथी दल पहुंचने की आहट है। गांव-गांव में मुनादी कर सतर्क रहने की समझाइश दी गई है। दहशत में लोग अंदरूनी क्षेत्र के खेतों में नहीं गए। हाथियों के भय के कारण कई स्कूलों में जल्दी छुट्टी कर दिए। हालांकि शिक्षक पूरे समय तक उपस्थित रहे।

22 हाथियों को दल कर रहा विचरण
गुरुनाथन एन, डीएफओ ने बताया कि हाथियों का एक झुंड राजनांदगांव जिले मानपुर-मोहला व अंबागढ़ चौकी क्षेत्र में विचरण कर रहा है। इसमें लगभग 22 हाथी शामिल है। हाथियों की निगरानी के लिए एक टीम गठित की गई है। हाथियों की लगातार निगरानी की जा रही है। इसके साथ ही जिस क्षेत्र में हाथी जा रहे, वहां के ग्रामीणों को जागरूक कर रहे हैं। हाथियों पर किसी तरह छेड़छाड़, हमला या फिर फोटो या सेल्फी लेने से बचने की समझाइश दी जा रही है।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned