आयुर्वेद अधिकारी का यू टर्न, कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ की गई शिकायत वापस ली

आयुर्वेद अधिकारी का यू टर्न, कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ की गई शिकायत वापस ली

Atul Kumar Shrivastava | Publish: Jul, 20 2019 09:06:15 PM (IST) Rajnandgaon, Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

दो दिन पहले आडियो पेश कर की थी शिकायत, आयुर्वेद विभाग में तबादले को लेकर हुआ था मामला

राजनांदगांव। दो दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष नवाज खान पर तबादले के मसले पर फोन पर धमकाने की आडियो रिकार्डिंग के साथ पुलिस के समक्ष शिकायत करने वाले जिला आयुर्वेद अधिकारी अरविंद कुमार मरावी ने आज नाटकीय तरीके से पुलिस को की गई अपनी शिकायत वापस ले ली है। पिछले दो दिनों से आडियो के वायरल होने के बाद यहां बवाल मचा हुआ था और अब इस मामले में शिकायतकर्ता ने ही कांग्रेस अध्यक्ष के खिलाफ बनाए जा रहे माहौल की हवा निकाल दी है। एएसपी यूबीएस चौहान ने शिकायत वापसी की पुष्टि की है।

उल्लेखनीय है कि जिला आयुर्वेद अधिकारी मरावी ने १८ जुलाई को प्रभारी एसपी से मुलाकात कर उन्हें अपना लिखित शिकायती पत्र सौंपा था। साथ ही उन्होंने साक्ष्य के रूप में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष नवाज खान के साथ फोन पर हुई बातचीत की रिकार्डिंग सौंपी थी। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा था कि १६ जुलाई को शाम को नवाज खान ने उनसे फोन पर बात करते हुए विभाग में हुए तबादले में उनकी अनुशंसा को दरकिनार करने का आरोप लगाते हुए जमकर नाराजगी जाहिर की थी और उनके साथ गाली गलौच की थी। उन्होंने अपनी शिकायत में यह भी कहा था कि नवाज खान ने उनके साथ जिस तरह से बात की थी, उससे वे मानसिक रूप से परेशान हो गए हैं।

तबादले में नियमों को रखा ताक पर
दूसरी ओर नवाज खान ने आयुर्वेद अधिकारी के आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि उन्होंने गाली गलौच नहीं की बल्कि तबादले में नियमों को ताक पर रखने के चलते अफसर को सिर्फ गलत करने के कारण बातें सुनाई हैं। नवाज ने कहा कि शासन की तबादला नीति के नियमों को दरकिनार कर विभाग में तबादले किए गए थे।

क्या सिविल सेवा आचरण संहिता के उल्लंघन का बनेगा मामला
राजनांदगांव जिले में आयुर्वेद अधिकारी के रूप में पदस्थ अरविंद कुमार मरावी ने अपने साथ हुई बातचीत की आडियो रिकार्डिंग के साथ सीधे पुलिस में शिकायत की थी जबकि उन्हें इसकी सबसे पहली शिकायत जिले के समस्त विभागों के प्रमुख होने के नाते कलक्टर को करनी चाहिए थे। कलक्टर को छोड़ वे पहले पुलिस के पास गए और अब अचानक उन्होंने अपनी शिकायत वापस ले ली। इसे लेकर अब क्या सिविल सेवा आचरण संहिता के उल्लंघन का मामला मरावी पर बनेगा, यह सवाल अब खड़ा हो रहा है। साथ ही क्या इस बात की जांच होगी कि मरावी और कांग्रेस अध्यक्ष के बीच की बातचीत की कथित रिकार्डिंग आखिर किसने वायरल की।

तबादले की जांच होगी
आयुर्वेद अधिकारी मरावी की शिकायत पर पुलिस ने जांच भी शुरू नहीं की थी और उन्होंने आज पुलिस के सामने की गई अपनी शिकायत को वापस ले लिया है। उनके शिकायत वापस लेने के पहले ही कल कलक्टर ने विभाग में हुए तबादले नियम से हुए हैं या नहीं, इसका परीक्षण करने एडीएम एसएन मोटवानी को जांच अधिकारी बना दिया था। हालांकि एडीएम मोटवानी ने कहा कि आयुर्वेद अधिकारी ने भले ही अपनी शिकायत वापस ले ली है लेकिन तबादले के मामले की जांच पूरी की जाएगी।

राजनांदगांव के एएसपी यूबीएस चौहान ने कहा कि आयुर्वेद अधिकारी ने मय आडियो शिकायत की थी। इसकी जांच शुरू होती इससे पहले की उन्होंने अपनी शिकायत वापस ले ली है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned