बिजली विभाग में गायब रहते हैं बड़े अधिकारी, ऑपरेटर करता है ग्रामीणों से बदसलूकी ...

बिजली विभाग के चक्कर काटते उपभोक्ता हो रहे हैं परेशान

By: Nitin Dongre

Updated: 01 Jul 2020, 06:58 AM IST

छुईखदान. प्रदेश मे कांग्रेस की सरकार है और सरकार अनेक योजनाओं के वादे के साथ सरकार बनाई है। इसमें एक वादा बिजली बिल हाफ का भी था लेकिन छुईखदान क्षेत्र में और नगर में बिजली का बिल लोगों का सिर दर्द बनकर रह गया है। बिजली बिल हाफ के बजाय बिजली साफ जैसे योजना छुईखदान बिजली विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारी चला रहे है। सरकार की योजनाओं के विपरीत यहां जो जिम्मेदार अधिकारी है वह आफिस में रहते ही नहीं है। पूरा विभाग अधिकारी के निजी ऑपरेटर के भरोसे चल रहा है।

उपभोक्ता अपनी समस्या सुनाने बिजली विभाग पहुंचते है तो ऑपरेटर को ही बात सुननी पड़ती है। उपभोक्ताओं से न जाने किन-किन गलत तरीकों से बात की जाती है ये उपभोक्ता ही जानते हैं। आपरेटर उपभोक्ताओं से सही ढंग से पेश नहीं आता है और बदतमीजी पूर्वक भला बुरा बोल कर उपभोक्ताओं को भगा देता है। नगर में बिजली विभाग के दुव्र्यवहार से उपभोक्ता बहुत परेशान है। लोग बिजली ऑफिस जाकर घंटो इंतजार के बावजूद जिम्मेदार अधिकारी असिस्टेंट इंजीनियर जो कई दिन तक ऑफिस में कदम तक नहीं रखते और जब पूछा जाता है तो गलत तरीके से जवाब देते हैं। उपभोक्ताओं के घर जाकर ठीक से मीटर रीडिंग भी नहीं की जाती।

बिन हवा-तूफान के बिजली बंद हो रही

श्यामपुर के एक उपभोक्ता ने बताया कि विगत 4 माह से उनके घर के मीटर का रीडिंग नहीं हुई है। ऐसे ही मनमौजी यूनिट रीड करके बिल भेज दिया जाता है। ऊपर से बार-बार बिजली में कटौती भी की जाती है। बिना हवा-तूफान और बरसात के बिजली बंद हो जाना समझ से परे हैं। अभी ऐसा कोई दिन नहीं होगा जिसमें लाईट 10 बार बंद नहीं होती होगी। अभी का समय किसानों के लिए महत्वपूर्ण है। किसानों को खेती करने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। पानी बोर के द्वारा प्राप्त होता है। बोर बिजली से चलता है बार-बार लाइट बंद होने के कारण किसानों को अधिक परेशानी हो रही है।

आपरेटर करता है ग्रामीणों से गाली-गलौच

उपभोक्ता के द्वारा शिकायत करने पर ऑपरेटर द्वारा दुव्र्यवहार और गाली गलौच की जाती है। छुईखदान क्षेत्र के बिजली विभाग की देखरेख एक ऑपरेटर के बल पर छोड़ दिया गया है। इसलिए वह कभी-कभी गुंडागर्दी पर भी उतर आते हैं। बेवजह ही बिजली में कटौती और बिजली विभाग के रवैये से क्षेत्र के लोग परेशान हो गए हैं। लोगो में आक्रोश पनप रहा है। बिजली विभाग के कर्मचारियों की वजह से कल के दिन में यह कहना लाजमी है एक निजी ऑपरेटर के वजह से लोग बार-बार बेइज्जत होकर और असंतुष्ट होकर आफिस से लौट रहे हैं। इससे आने वाले समय बिजली विभाग के खिलाफ नगर और आसपास क्षेत्र के लोग धरना और नगर बंद करने की बात करते नजर आ रहे हैं।

ये कहते हैं उपभोक्ता

अनिल देवांगन ने कहा कि मेरे घर में 4 महीने से कोई रीडिंग के लिए नहीं आया है। मंै लगातार बिजली ऑफिस आता हूं। आपरेटर बदतमीजी से पेश आता है और साहब रहते नहीं। ऐसे मेंं बेवजह परेशान कर रहे हैं।

किशन सिलोटिया ने बताया कि रीडिंग करने कभी कभार आते हैं और बिजली आफिस की कुछ भी समस्या लेकर जाओ वहां सही जवाब नहीं मिलता। ऐसा लगता है कि बिजली विभाग को ऑपरेटर चला रहा है।

शैलेंद्र तिवारी ने कहा कि जानकारी मिलने पर मैं बिजली आफिस गया था। साहब बुंदेली गये थे। ऑपरेटर से बात करना चाहा लेकिन आपरेटर ने मेरे से दुव्र्यवहार किया।

सुभम चन्द्राकर बताते हैं कि उपभोक्ताओं की समस्याओं को लेकर ज्ञापन दिया गया है। उपभोक्ताओं की समस्या को देखते हुए आगे धरना और आंदोलन करना पड़ेगा।

ऑपरेटर को बोलूंगा

बिजली विभाग के असिस्टेंट इंजीनियर कुबेर सिंह मरकाम ने कहा कि मेरी ड्यूटी आज बुंदेली में है ऑपरेटर को बोल देता हूं। कोई काम होगा तो वह कर देगा।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned