नौ सूत्रीय मांगों को लेकर भाजपाईयों ने किसानों के साथ किया धरना प्रदर्शन

राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन

By: Nakul Sinha

Published: 01 Mar 2020, 05:03 AM IST

राजनांदगांव / डोंगरगांव. किसानों की नौ सूत्रीय मांगों को लेकर भाजपा की मंडल इकाई के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, पंचायत प्रतिनिधियों तथा किसानों ने कल नगर में विशाल धरना प्रदर्शन करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को जमकर कोसा। चुनाव के समय कांग्रेस द्वारा अपने घोषणा पत्र में किए वादे को याद दिलाकर वक्ताओं ने सरकार के विरूद्ध जमकर बात रखी। धरना प्रदर्शन पश्चात् रैली के रूप में तहसील कार्यालय पहुंचकर तहसीलदार को राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री के नाम अपने मांगों व किसानों की समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

विभिन्न ग्रामों से आए किसानों ने खराब फसलों के साथ किया प्रदर्शन
धरना प्रदर्शन के दौरान ब्लॉक के अलग-अलग ग्रामों से आए अनेक किसानों ने अपने खेत में खराब हो चुकी चना की फसल, ओलावृष्टि की मार से खराब साग-सब्जियों का भी प्रदर्शन किया। किसानों की समस्याओं को लेकर पिछले कुछ महिनों से आक्रामक हो चुकी भाजपा ने इस बार पहले से ज्यादा आक्रामक ढंग से प्रदेश की भूपेश सरकार और उसकी नीतियों तथा वादाखिलाफी को किसानों व आमजनों के समक्ष रखते हुए सरकार की जमकर बखिया उधेड़ी।

भूपेश सरकार वादा निभाने में असफल: यादव
सभा को संबोधित करते हुए जिला भाजपा अध्यक्ष मधुसूदन यादव ने कहा कि गंगाजल लेकर किसानों के हित में काम करने का वादा करने वाली कांग्रेस की भूपेश सरकार यदि अपने 13 महीने के कार्यकाल में अपने वादे के अनुसार सही काम करती तो हमें किसानों को लेकर सड़क पर आने की नौबत नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि ये कैसी विडंबना है कि कांग्रेस राज में किसानों के 5 एकड़ खेत में से एक एकड़ खेत को मेड़ मानकर रकबा घटा दिया गया था। रकबा घटाने के कारण राज्य के अनेक किसान वास्तविक होने के बाद भी अपना धान सोसायटी में नहीं बेच पाए। यादव ने कहा कि सवा साल में ही भूपेश सरकार का जादू किसानों के सिर से उतर चुका है। उन्होंने चेतावनी दी कि किसान यदि धान बोना जानते हैं तो वे धनिया बोना भी जानते हैं। यदि भूपेश सरकार किसानों से किया गया वादा पूरा नहीं करती है तो भाजपा किसानों को लेकर सड़क की लड़ाई लडऩे से भी पीछे नहीं हटेगी।

बिजली कनेक्शन कटने से किसान आक्रोशित है: गांधी
जिला भाजपा उपाध्यक्ष दिनेश गांधी ने कहा कि रबी में धान की फसल लेने वाले किसानों के बिजली कनेक्शन काटने के कलेक्टर के आदेश से सभी किसान आक्रोशित हैं। दूसरी तरफ बारिश व ओलावृष्टि के कारण फसलों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए भी शासन-प्रशासन कोई प्रयास नहीं कर रही है। किसानों को बीमा लाभ नहीं दिया जा रहा है, ऐसे अनेक मुद्दे हैं, जिसमें कांग्रेस सरकार विफल साबित हो रही है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा घोषणा पत्र में किए गए 36 बिंदुओं का उल्लेख करते हुए कहा कि एक भी वादे पर भी सरकार खरा नहीं उतर रही है और बुरी तरह से विफल साबित हो रही है।

प्रदर्शन के दौरान ये रहे उपस्थित
इससे पहले धरना प्रदर्शन को जिपं सदस्य जागृति यदु, बोधीराम साहू, फागूराम सिन्हा, चुनेश्वर साहू, रामकुमार गुप्ता, अजय वैष्णव, मनीष साहू, जागेश्वर राजू यादव, निवेदन साहू, दिलीप साहू, तिमेश साहू, कमलनारायण साहू सहित अनेक वक्ताओं ने संबोधित किया। धरना प्रदर्शन में लक्ष्मीनारायण गुप्ता, स्वरूपचंद जैन, इंदूमति साहू, नरपत सिंह राजपूत, निर्मला जितेन्द्र सिन्हा, मीनाक्षी लहरे, कुंतीबाई चौधरी, धनराज ठाकुर, संतोष यादव, मोहन सिन्हा, ढालसिंह साहू, मोहरदास साहू, राजेन्द्र सिंह ठाकुर सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता व किसान उपस्थित थे।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned