केंद्र की भाजपा सरकार पर जनता से जबरिया वसूली का लगाया आरोप, किया विरोध प्रदर्शन ...

पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्यों में वृद्धि के विरोध में उतरे कांग्रेसी

By: Nitin Dongre

Published: 30 Jun 2020, 07:29 AM IST

राजनांदगांव. लगातार पेट्रोल डीजल के दामों में बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेसियों ने सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया। केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर भड़ास निकालने के बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया। पेट्रोलियम पदार्थों में मूल्य वृद्धि को लेकर कांग्रेसियों ने केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया। शहर जिला कांग्रेस कमेटी के सचिव सूर्यकांत जैन ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम के निर्देशानुसार शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कुलबीर सिंह छाबड़ा एवं जिला ग्रामीण कांग्रेस के अध्यक्ष पदम कोठारी के संयुक्त नेतृत्व में सोमवार को विरोध प्रदर्शन किया गया।

विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेसियों ने कहा कि विपदा के इस समय में छग की कांग्रेस सरकार ने जनहित की योजनाएं निरंतर लागू कर अर्थव्यवस्था को बिगडऩे से बचा कर रखा था, किंतु 14 मार्च 2020 की रात को केन्द्र की भाजपा सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स में बढ़ोतरी कर दी। पेट्रोल डीजल पर क्रमश: 10 रुपए व 13 रुपए का टैक्स लगाकर भारी भरकम बोझ जनता को दिया है। 14 मार्च से 28 जून के बीच तीन माह में 22 बार मोदी सरकार ने डीजल पर 26.48 पैसे और पेट्रोल पर 21.50 पैसे प्रति लीटर बढ़ा दिया है, इससे कृषि सहित परिवहन वाहन के भाड़े में बढ़ोतरी हो गई है।

धरना प्रदर्शन में ये रहे मौजूद

संयुक्त धरना प्रदर्शन में थानेश्वर पाटिला, शाहिद भाई, प्रदेश प्रवक्ता कमलजीत सिंह पिन्टू, अध्यक्ष कुलबीर सिंह छाबड़ा, पदम कोठारी, महापौर हेमा देशमुख, निगम सभापति हरिनारायण धकेता, विवेक वासनिक, डॉ. आफताब आलम, शहर महिला कांग्रेस अध्यक्ष रोशनी सिन्हा, शहर सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष बबलू कसार, आसिफ अली आदि मौजूद रहे।

राहत देने के बजाय थाली-ताली बजवा रही

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री शाहिद खान ने केंद्र की भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने में विफल मोदी सरकार जनता को राहत देने के बजाय थाली-ताली बजवा रही है। पेट्रोल डीजल के दाम में बेतहाशा वृद्धि कर आर्थिक मार झेलने पर विवश कर दी है, जिसका असर सीधे जनजीवन पर पड़ा है और प्रदेश में भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेता अपने नैतिक दायित्वों को भूल कर छग सरकार पर मिथ्या आरोप लगाते घूम रहे हैं और आयातित नेता बुला कर अपनी नाकामी छिपा कर जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी से मुंह छिपा रहे हैं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned