scriptCG CM gave instructions for action on illegal sand mining | अवैध रेत उत्खनन पर सख्त हुए CM, कहा कार्रवाई नहीं हुई तो कलेक्टर और SP होंगे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार | Patrika News

अवैध रेत उत्खनन पर सख्त हुए CM, कहा कार्रवाई नहीं हुई तो कलेक्टर और SP होंगे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार

प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

राजनंदगांव

Published: January 29, 2022 09:32:27 am

राजनांदगांव. प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और एसपी को निर्देश दिए हैं कि किसी भी जिले में अवैध रेत उत्खनन नहीं होना चाहिए। किसी भी जिले से अवैध रेत उत्खनन की शिकायत मिलने पर कलेक्टर और एसपी व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। अवैध उत्खनन पर कार्रवाई नहीं होने पर जिले के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी और उनके विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी।
अवैध रेत उत्खनन पर सख्त हुए CM, कहा कार्रवाई नहीं हुई तो कलेक्टर और SP होंगे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार
अवैध रेत उत्खनन पर सख्त हुए CM, कहा कार्रवाई नहीं हुई तो कलेक्टर और SP होंगे व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार
शिकायतों को गंभीरता से लें अधिकारी
मुख्यमंत्री ने अवैध उत्खनन रोकने कलेक्टर और एसपी को स्वयं मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रेत माफियाओं द्वारा अवैध रूप से रेत के उत्खनन और परिवहन को गंभीरता से लिया है। उन्होंने इस सबंध में खनिज विभाग के आला अफसरों को रेत माफियाओं पर सख्ती से लगाम लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि राज्य को अवैध रूप से रेत उत्खनन और परिवहन से राजस्व में नुकसान उठाना पड़ रहा है।
वाहनों को किया जाए जब्त
मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन की शिकायतें मिलती हैं, वहां खनिज विभाग के अधिकारियों और मैदानी अमले से सतत रूप से नियमित रूप से निरीक्षण कराया जाए। उन्होंने कहा कि इन कार्यों में संलिप्त लोगों के विरूद्ध प्रकरण तैयार किए जाए। परिवहन के लिए प्रयुक्त वाहनों को जब्त करने की कार्रवाई भी की जाए।
सारे मशीन हटाए गए
राजनांदगांव शहर से लगे पनेका-बांकल में शिवनाथ नदी में चल रहे रेत खनन की जांच रिपोर्ट सामने आ चुकी है। ग्रामीणों द्वारा सप्लाई में लगे ट्रक रूकवाने और मीडिया में खबर प्रकाशित होने के बाद भी प्रशासन की ओर से जांच में देर कर दी गई। इस बीच खदान संचालक ने नदी के भीतर लगे सारे मशीनों को हटवा लिया। जबकि पर्यावरण विभाग के नियमों में स्पष्ट है कि नदी में किसी भी प्रकार की मशीन नहीं चलाया जा सकता। रेत की भराई भी श्रमिकों से करानी है, लेकिन वहां पोकलेन से रेत भरी जा रही थी। यदि जांच टीम तात्कालीक पहुंचती, तो मशीनों की जब्ती बनाई जा सकती थी। हालांकि यह पर्यावरण विभाग द्वारा जांच करने का विषय है, जो अभी बाकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

मुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...दिल्ली के अशोक विहार के बैंक्वेट हॉल में लगी आग, 10 दमकल मौके पर मौजूदभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगाकर्नाटक के राज्यपाल ने धर्मांतरण विरोधी विधेयक को दी मंजूरी, इस कानून को लागू करने वाला 9वां राज्य बनाSwayamvar Mika Di Vohti : सिंगर मीका का जोधपुर में हो रहा स्वयंवर, भाई दिलर मेहंदी व कॉमेडियन कपिल शर्मा सहित कई सितारे आएIPL 2022 MI vs SRH Live Updates : 16 ओवर के बाद हैदराबाद 2 विकेट के नुकसान पर 164 रन पर, त्रिपाठी ने बनाया शानदार अर्धशतकहिमाचल प्रदेश: सीएम जयराम ने किया एलान, पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले की जांच करेगी CBIज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न हो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.