नक्सली इस तरह जंगल में इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को करते हैं चार्ज, कैंप ध्वस्त करने के बाद पुलिस ने किया खुलासा

मध्यप्रदेश की सीमा से लगे जिले के उत्तरी छोर पर मलैदा के जंगल में पुलिस ने नक्सली कैम्प को ध्वस्त कर उनका सामान बरामद किया है।

By: Dakshi Sahu

Updated: 19 Jan 2019, 12:27 PM IST

राजनांदगांव. मध्यप्रदेश की सीमा से लगे जिले के उत्तरी छोर पर मलैदा के जंगल में पुलिस ने नक्सली कैम्प को ध्वस्त कर उनका सामान बरामद किया है। पुलिस ने नक्सलियों के पास से सोलर प्लेट भी बरामद किया है। इन सोलर प्लेट का इस्तेमाल माओवादी अपने पास रखे इलेक्ट्रानिक उत्पादों को चलाने और मोबाइल, वायरलेस सेट को रिचार्ज करने के लिए उपयोग करते थे। नक्सल मूवमेंट में यह इस साल की पहली बड़ी कामयाबी है।

राजनांदगांव जिले के उत्तरी छोर पर छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश सीमा में गातापार थाना क्षेत्र में पुलिस ने शुक्रवार सुबह भावे से लगे मलैदा के जंगल में डेरा जमाए माओवादियों के साथ मुठभेड़ के बाद पुलिस ने आईईडी, सोलर प्लेट, प्रिन्टर, नक्सल साहित्य, वर्दी व भारी मात्रा में दैनिक उपयोग के सामान बरामद किया है।

पुलिस को सूचना मिली थी कि जंगल में माओवादी कैम्प लगाकर मौजूद हैं। इस सूचना के बाद शुक्रवार तड़के पुलिस टीम जंगल की ओर रवाना हुई थी और सुबह करीब साढ़े 8 से पौने 9 के आसपास उसकी माओवादियों से मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर की गोलीबारी के बाद माओवादी जंगल की ओर भाग खड़े हुए। बाद में सर्चिंग के दौरान पुलिस ने बड़ी मात्रा में नक्सल सामग्री बरामद की है।

इन कामों में उपयोग
सोलर प्लेट की बरामदगी को लेकर एसपी कमललोचन कश्यप ने कहा कि जंगल के भीतर नक्सली अपने इलेक्ट्रानिक उत्पादों जैसे कम्प्यूटर, लैपटॉप को चलाने के लिए सोलर बिजली का उपयोग करते हंै। इसके अलावा मोबाइल और वायरलेस सेट को चार्ज करने के लिए भी वे इसका उपयोग करते हैं।

कहां से मिली, जांच होगी
सोलर प्लेट की खुले बाजार में बिक्री नहीं होती लेकिन इसके बावजूद नक्सलियों के पास इसके पाए जाने पर एसपी कश्यप ने कहा कि बरामद की गई सामग्री को बारीक तरीके से देखने के बाद पता चल पाएगा कि ये सोलर प्लेट किस कंपनी की है। उन्होंने कह कि नक्सलियों के पास ये कहां से आई, इसकी जांच कराई जाएगी।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned