चेकडैम को निर्माण के एक सप्ताह बाद तुड़वा दिया, एक किसान के चलते कई किसानों को होगा नुकसान ...

राजनांदगांव ब्लॉक के ग्राम पंचायत बरबसपुर पंचायत का मामला

By: Nitin Dongre

Updated: 30 Jun 2020, 07:35 AM IST

ठेलकाडीह. राजनांदगांव ब्लॉक के ग्राम पंचायत बरबसपुर में हाल ही मेें लाखों रूपए के चेकडैम का निर्माण किया गया है। लेकिन निर्माण के बाद करीब एक सप्ताह बाद चेकडैम की उंचाई अधिक होने के आड़ में सरपंच ने चेकडैम की उपरी हिस्सा को तुड़वा दिया। जबकि यह चेकडैम की लागत करीब चार लाख की अधिक की बनाई गई है। इसके बाद भी पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा उपरी हिस्सा को तुड़वा दिया गया है।

ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि निर्माण के दौरान सरपंच और अधिकारियों के द्वारा मानिटरिंग किस प्रकार से की है। क्योंकि सरपंच प्रतिनिधि ने बताया कि चेकडैम की उंचाई अधिक हो गई है। जिसके कारण उपरी हिस्से की तोड़ाई की गई है। मतलब साफ है कि सरकारी धनराशि की उपयोग कैसे भी करो सब जायज है। अब देखने वाली बात यह है कि इस तरह की लापरवाही करने वाले पर विभाग क्या कार्रवाई करता है।

निर्माण में घटिया मटेरियल का निर्माण

लाखों की लागत से बने चेकडैम में निर्माण में लगे मटेरियल पर भी सवाल उठ रहे हंै। जिस प्रकार से निर्माण किया गया है। उसमें निम्न स्तर के मटेरियल का उपयोग किया गया है। हालाकि गावं के राधेलाल टंडन के खेत के पास यह चेकडैम का निर्माण किया गया है।

निर्माण के बाद तोडऩे की नौबत क्यों आई

जिस प्रकार से चेकडैम का निर्माण हुआ है। और निर्माण के बाद उपरी हिस्सा की तोड़ा गया है। ऐसे में सवाल यह है कि निर्माण क्या इस्टीमेंट के हिसाब से हुआ है कि नहीं, सवाल यह भी है कि निर्माण के दौरान संबधित अधिकारी मौके पर मांनीटिरिंग करते थे कि नही। यदि निर्माण के दौरान मानीटीरिंग करते होते तो शायद उपरी हिस्सा को तोडऩे की नौबत नई आती। या यू कहे कि सरपंच व अधिकारी किसी व्यक्ति विषेष को लाभ पहुंचाने के चक्कर में इस तरह निर्माण हुए चेकडैम की तोड़ाई करा दी।

तोड़ा गया है

बरबसपुर सरपंच प्रतिनिधि चद्रेश वर्मा ने कहा कि चेकडैक की उंचाई अधिक हो गई थी। तो आसपास के किसानों नुकसान होता। इंजीनियर को इस संबध में बताया तो तोडऩे के लिए कहा, तोड़ा गया है।

इसे दिखवाता हूं

राजनांदगांव एसडीओ बीआर बघेल ने कहा कि चेकडैम निर्माण में किसी भी प्रकार की यदि कोई गड़बड़ी की गई हो तो, इसे मै दिखवाता हूं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned