ऋण माफी तिहार: राजनांदगांव के 1 लाख 63 हजार किसानों का 616 करोड़ का कर्ज हुआ माफ

ऋण माफी तिहार: राजनांदगांव के 1 लाख 63 हजार किसानों का 616 करोड़ का कर्ज हुआ माफ

Chandu Nirmalkar | Updated: 14 Aug 2019, 06:25:58 PM (IST) Rajnandgaon, Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

Chhattisgarh farmers: समारोह में अतिथियों ने जिले के चयनित 43 किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र सौंपे (Debt forgiveness) गए।

राजनांदगांव. प्रदेश सरकार (Chhattisgarh farmers) की ऋण माफी (Debt forgiveness) से राजनांदगांव जिले (Rajnandgaon district) के एक लाख 63 हजार से अधिक किसानों का 616 करोड़ 99 लाख 16 हजार रूपए का कर्जा माफ हुआ है। जिले भर के किसान ऑडिटोरियम में आयोजित जिला स्तरीय ऋण माफी तिहार में शामिल होकर प्रदेश सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया। समारोह में अतिथियों ने जिले के चयनित 43 किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र सौंपे गए। मछलीपालन विभाग की ओर से पांच हितग्राहियों को आईसबाक्स प्रदान किए गए। 7 महिला स्व सहायता समूहों को स्वरोजगार लगाने के लिए स्वीकृत ऋण वितरित किए गए।

अध्यक्षता करते हुए डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने किसानों को कर्जा से उबार कर नये उत्साह के साथ खेती करने के लिए प्रशंसनीय कार्य किया है। इसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है। विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित खुज्जी विधायक छन्नी साहू और मोहला-मानपुर विधायक इंद्रशाह मंडावी ने भी कर्जा माफी और धान की कीमत प्रति क्विंटल 2 हजार 500 रूपए करने के राज्य सरकार के निर्णय को सराहा। छन्नी साहू ने कहा कि किसानों के आशीर्वाद से ही प्रदेश में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में नई मजबूत सरकार बनी है।

प्रदेश सरकार सफल साबित हुई
जिला पंचायत राजनांदगांव की अध्यक्ष चित्रलेखा वर्मा ने कहा कि प्रदेश की जनता ने बड़ी उम्मीद के साथ प्रदेश सरकार को जिम्मेदारी दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार इस पर सफल साबित हुई है। छत्तीसगढ़ के पूर्व मंत्री धनेश पाटिला ने कहा कि किसानों पर हमेशा खेती-किसानी का कर्जा रहता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने अपने वायदे के मुताबिक ऋण माफी करने के साथ हर साल 2500 रूपए क्विंटल के भाव से धान खरीदने का निर्णय लिया है।

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक
राजनांदगांव के अध्यक्ष एवं कलक्टर जयप्रकाश मौर्य ने बैंक प्रतिवेदन में बताया कि जिले में बैंक की 41 शाखाएं और 80 सेवा समितियां कार्यरत हैं। जिले में इस वर्ष पिछले सालों की तुलना में धान की ज्यादा खरीदी हुई है। किसी भी सेवा समिति में खरीदे गए धान कम (सार्टेज) नहीं पाया गया है। सेवा समितियों के कर्मचारियों ने अच्छे से काम किया है।

किसानों को समझाने का लिया निर्णय
कलक्टर मौर्य ने कहा कि कई बार अलग-अलग गांव के किसानों द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कम-ज्यादा राशि मिलने की शिकायत की जाती है। जिला प्रशासन ने इस साल गांवों में चौपाल लगाकर फसल आंकलन की प्रक्रिया को किसानों को समझाने का निर्णय लिया है। जिला स्तरीय ऋण माफी तिहार में उप संचालक कृषि अश्वनी बंजारा ने नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना तथा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के फायदों के बारे में बताया। पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक डॉ. आरके सोनवाने ने पशु प्रबंधन तथा सहायक संचालक उद्यानिकी नीरज शाह ने उद्यानिकी फसलों के लिए लागू मौसम आधारित फसल बीमा योजना के बारे में बताया। इस अवसर पर कृषि, मछलीपालन, उद्यानिकी, पशुधन विकास विभाग द्वारा स्टॉल लगाकर विभागीय योजनाओं और गतिविधियों की जानकारी किसानों को दी गई। नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना पर केंद्रित अलग स्टॉल लगाया गया था।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned