29 तक शहर लॉक, व्यापारियों ने विरोध के साथ दिया समर्थन, पुलिस ने निकाला फ्लैग-मार्च ...

कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए प्रशासन ने यहां एक बार फिर सख्त लॉकडाउन लगाया है।

By: Nitin Dongre

Published: 24 Jul 2020, 07:46 AM IST

राजनांदगांव. कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए प्रशासन ने यहां एक बार फिर सख्त लॉकडाउन लगाया है। गुरुवार शाम से लागू यह लॉकडाउन 29 जुलाई बुधवार रात तक रहेगा। विरोध और फिर प्रशासन के साथ बैठक के बाद व्यापारी लॉकडाउन को लेकर सहमत जरूर हुए लेकिन दुकानों का शटर बंद करने के बाद व्यापारियों ने लॉकडाउन के विरोध में होने का पोस्टर चस्पा कर प्रशासन के समक्ष अपनी नाराजगी जाहिर कर दी है।

राजनांदगांव जिले में अब तक 474 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि यहां कोरोना से रिकवरी दर बेहतर है लेकिन तीन लोगों की मौत हो चुकी है और लगातार मामले सामने आ रहे हैं। राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने एक बार फिर कम से कम सात दिन के लॉकडाउन की सिफारिश की थी। इस आधार पर यहां भी 23 जुलाई की रात से 29 जुलाई की रात तक सख्त लाकडाउन का फैसला प्रशासन ने लिया है।

इस बार सख्ती अधिक

इस बार लगाए गए लॉकडाउन में पहले से ज्यादा सख्ती बरती जा रही है। किराना दुकानों को पूरी तरह बंद रखा गया है। लॉकडाउन में दूध और सब्जी सहित अन्य अत्यावश्यक सेवाओं को सुबह 7 से लेकर 10 बजे तक छूट रहेगी। शाम को भी दूध वितरण के लिए एक घंटे की छूट दी जाएगी। पेट्रोल पंप दोपहर 3 बजे तक खुले रहेंगे। मेडिकल स्टोर्स और अस्पताल को 24 घंटे खुले रहने की इजाजत होगी।

व्यापारियों ने किया यह

मंगलवार को लॉकडाउन के विरोध करने के बाद बुधवार को प्रशासन से मुलाकात के बाद व्यापारियों ने इसे समर्थन देने की बात की थी लेकिन आज शाम को शटर बंद होने के बाद दुकानों के बाहर लॉकडाउन के विरोध में होने लेकिन प्रशासन को सहयोग करने का पोस्टर लगा दिया गया है।

पुलिस ने दिखाई सख्ती

गुरुवार शाम 4 बजे लॉकडाउन लगने के साथ ही पुलिस ने शहर में फ्लैग मार्च निकालकर लोगों को आगाह करने का काम किया। इससे पहले आज दिन भर शहर के व्यस्ततम इलाकों में यातायात बहाल करने और दुपहिया गाड़ी पर चालानी कार्रवाई जारी रही।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned