रोड फिलिंग के नाम पर विभाग के अधिकारी बरत रहे लापरवाही, मुरूम डालने के नाम पर ढकार रहे राशि

राजनांदगांव से खैरागढ़ मार्ग पर जगह-जगह दिखते है गड्ढे

By: Nakul Sinha

Published: 06 Jun 2020, 05:44 AM IST

राजनांदगांव / ठेलकाडीह. पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा राजनांदगांव से सहसपुर दल्ली तक मुख्य मार्ग की पटरी में मुरूम डालने की आड़ में जमकर कालापीला किया जा रहा है। जबकि राजनांदगांव से खैरागढ़ मार्ग में रोजाना छोटी बड़ी गाडिय़ों की लगातार आवाजाही होती है। जिसके चलते रोड की चौड़ाई भी काफी कम होने लगती है। बड़े वाहन यदि सामने से आ जाए तो साड़क की साइड पटरी गाड़ी चली जाती है। ऐसे में पटरी जगह-जगह गड्डे हो गए है। जबकि पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा हर साल रोड फिलिंग का कार्य किया जाता है।

हर साल जारी होती है 4-5 रूपए रोड फिलिंग के नाम से
हर साल 20 से 25 किमी तक की रोड फिलिंग में 4 से 5 लाख तक खर्च करते है। इस रोड फिलिंग में पीडब्लूडी के इंजीनियर की अहम भूमिका रहती है। सवाल यह है कि यदि 22 से 25 किमी मार्ग में केवल पटरी में यदि 4 से 5 लाख रूपए खर्च कर रहे है। तो उस हिसाब से सड़कों की पटरियों में नाममात्र की मुरूम डाला जाता है। वर्ममान में सहसपुर दल्ली से गठुला चिखली तक फिलिंग का कार्य चल रहा है।

भाजपा पार्षदों ने शहर में जारी जल आवर्धन कार्य रोकने सौंपा ज्ञापन
खैरागढ़. नगरपालिका द्वारा शहर भर में जारी जल आवर्धन योजना के तहत पाइपलाइन विस्तार की कार्रवाई को शासन के दिशा निर्देश पर नही करने व विभागीय स्वीकृति के अनुसार ही करने की मांग को लेकर भाजपा पार्षदों ने सीएमओ सीमा बख्शी को ज्ञापन देकर योजना का कार्य स्थगित रखे जाने की मांग की। नगरपालिका उपाध्यक्ष रामाधार रजक, नेता प्रतिपक्ष कमलेश कोठले, पार्षदगण शेष कुमार यादव, गिरवर पटेल, संजय गोड़, नीलिमा गोस्वामी, शिवकुमार रजक, विनय देवंागन, शाहिस्ता बानो, गायत्री डहरिया और गिरजा चंद्राकर ने हस्ताक्षर युक्त ज्ञापन में कहा कि शहर में जल आवर्धन योजना के तहत पाइपलाइन विस्तार कार्य लगातार जारी है। लेकिन इस महती योजना का कार्य शासन द्वारा समय समय पर जारी दिशा निर्देशों के अनुसार नही किया जा रहा है। पार्षदों ने कहा कि सरकार के मुख्य सचिव द्वारा स्पष्ट दिशा निर्देश दिए गए है कि किसी भी पेयजल, औद्योगिक जल प्रदाय योजना या अन्य जल आधारित योजना के लिए वांछित जल के आबंटन की शासन स्तर से स्वीकृति उपरांत ही उसका क्रियायन्वयन प्रारंभ किया जाए ताकि संभावित हानि से बचा जा सके।

Nakul Sinha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned