डिवाईडर बनी पुलिस और ड्राईवरों के लिए समस्या तो नगर पंचायत के लिए वसूली का जरिया ...

संकेतक विहीन डिवाईडर से 10 दिनों में हुए पांच हादसे

By: Nitin Dongre

Published: 17 Jun 2020, 10:32 AM IST

डोंगरगांव. नगर के स्टेट हाईवे में बेतरतीब बना संकेतविहीन डिवाईडर वाहन चालकों व पुलिस के लिए मुसीबत बना हुआ है। वहीं नगर पंचायत के लिए यह वसूली का जरिया है और बार-बार हो रहे हादसों के बावजूद स्थानीय प्रशासन जानबूझकर मूकदर्शक बना हुआ है। बता दें कि विगत कई वर्षों से इस बेतरतीब डिवाईडर के चलते अनेक सड़क हादसे हो चुके हैं। इस मामले में लगातार शासन प्रशासन को चेताया व सुझाव दिया गया है किंतु आज तक इस समस्या का हल नहीं निकल पाया है।

ज्ञात हो कि हाल ही के 10 दिनों में लगातार पांच सड़क हादसे हो चुके हैं। नगर के नर्सरी के समीप सोमवार रात्रि को ट्रक क्रमांक एमएच 34 बीजी 8211 डिवाईडर में चढ़कर दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। इससे पहले भी मेटाडोर, कार, टे्रेक्टर सहित कई वाहन दुर्घटना के शिकार हुए हैं और जानमाल की हानि हुई है। संकेतक विहिन डिवाईडर का प्रारंभ स्थल अब डेंजर जोन बन गया है। इस स्थल पर बार-बार हो रहे हादसे की जानकारी नगरीय प्रशासन को है। इस मामले में ना तो अब तक नगर पंचायत ने ध्यान दिया है और ना ही जनप्रतिनिधियों ने कोई कदम उठाया है।

वसूली का जरिया बना डिवाईडर

नगर के स्टेट हाईवे में बना डिवाईडर कम ऊंचाई, जगह-जगह से कट होने तथा किसी प्रकार का संकेतक नहीं होने के चलते काफी खतरनाक हो चुका है। वहीं पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था नहीं होने के चलते बाहरी वाहन चालकों को रात्रि में डिवाईडर का आभास भी नहीं होता और वे दुर्घटना के शिकार हो जाते हैं। पहले ही काफी नुकसान झेल चुका दुर्घटनाग्रस्त वाहन मालिक को स्थानीय नगर पंचायत में जुर्माना भी जमा करवाया जाता है जबकि इसमें नपं की भी बड़ी चूक है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned