दिग्विजय कॉलेज में राष्ट्रीय खिलाडिय़ों को नहीं मिल पा रहा प्रवेश

सभी संकाय में फस्र्ट कट ऑफ ७५ प्रतिशत, कई विद्यार्थियों को मजबूरन अन्य विषयों में लेना पड़ रहा प्रवेश

By: Govind Sahu

Published: 20 Jul 2018, 11:47 AM IST

राजनांदगांव. शहर के कॉलेजों में सभी संकाय में प्रवेश के लिए फाइनल लिस्ट जारी कर दी गई है। कमाबेश सभी विषयों में इस साल हाई परसेंट कट आफ आया है। सभी संकाय व डिप्लोमा कोर्स में कॉलेज प्रबंधन सीट फुल की स्थिति बता रहा है। कुछ आरक्षित व सामान्य सीटें बची हैं, जिसमें वेटिंग वालों को मौका मिल सकता है। दिग्विजय कॉलेज में डिप्लोमा में कुछ सीटें बची हुईं हैं। वहीं मॉडल कॉलेज में एसटी कोटे की छह सीट बची हुईं हैं।
जिला व प्रदेश के अग्रणी कॉलेज दिग्विजय महाविद्यालय में प्रवेश में गड़बड़ी होने का आरोप लग रहा है। प्रवेश की तिथि समाप्त हो जाने के बाद भी चहेतों व भाजपा में पकड़ रखने वालों को नियम विपरीत प्रवेश देने का आरोप छात्र नेता ऋषि शास्त्री ने लगाया है।


राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय स्पर्धा खेलने वाले स्पोट्र्स कोटे के विद्यार्थियों को भी प्रवेश नहीं मिल पा रहा है। पसंदीदा विषय में प्रवेश नहीं मिलने के कारण मजबूरन उन्हें दूसरे विषय में प्रवेश लेना पड़ रहा है। डिग्री में जगह नहीं मिलने पर डिप्लोमा में एडमिशन लिए हैं। इसमें राष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी प्रणय त्रिपाठी व पतीक त्रिपाठी भी शामिल हैं, जो छग अंडर-१९ टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। इसके अलावा बेसबाल की राष्ट्रीय खिलाड़ी उपलब्धि श्रीवास्तव को भी पंसदीदा विषय में प्रवेश नहीं मिल पाया। बहरहाल उन्होंने डिप्लोमा कोर्स टैली में प्रवेश लिया है। इसके अलावा कई ऐसे विद्यार्थी हैं, जिनका १२वीं में प्रतिशत कम होने के कारण उन्हें पसंदीदा विषय व कॉलेज नहीं मिल पाया। जबकि राष्ट्र्रीय-अंतर्राष्ट्रीय खिलाडिय़ों को सीधे भर्ती देने का प्रावधान है।


७९ प्रतिशत वाले का नाम ही नहीं आया
कुछ स्पोर्टस कोटे के विद्यार्थी भटक रहे हैं। इसमें राज्य स्तरीय जंबूरी कैंप व फुटबाल में राज्य स्तरीय खेलने वाली रेशमी चंद्राकर भी शामिल हैं। इनका ६९ प्रतिशत है और वह माइक्रो बायोलॉजी पढऩा चाहती है, लेकिन प्रवेश नहीं मिल रहा। वहीं इनसे कम अंक वाले विद्यार्थी को एडमिशन दे दिया गया है। ७९ प्रतिशत अंक पाने वाले टिकेश्वर सिन्हा का तो सूची में नाम ही नहीं आया है। जबकि ७४ प्रतिशत वाले का नाम सूची में आया हुआ है। सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार बीएस प्लेन में जनरल-ओबीसी की सूची ही चस्पा नहीं की गई और विद्यार्थियों को सीधे सीट फुल होने की जानकारी दे दी गई।


मामले में दिग्विजय कॉलेज डॉ. आरएन सिंह का कहना है कि प्रवेश की तिथि बढ़ाई गई है। भर्ती प्रक्रिया अंतिम दौर में चल रही है। कुछ सीटें बची हुईं है। इसमें यदि चयनित विद्यार्थी प्रवेश नहीं लेते तो वेटिंग वालों को मौका मिलेगा।

Govind Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned