डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी अपनी सेवा देने से अब नहीं कर सकते इनकार ...

कोरोना का असर: छत्तीसगढ़ में एस्मा लागू

By: Nitin Dongre

Published: 30 Mar 2020, 03:30 PM IST

राजनांदगांव. कोरोना के खतरे को देखते हुए राज्य सरकार ने एस्मा लगा दिया है। अब स्वास्थ्य विभाग की अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग अपने कामों से इंकार नहीं कर सकते हैं। आदेश को लागू करने का निर्देश राज्य सरकार ने तत्काल प्रभाव से दिया है। स्वास्थ्य विभाग की जिन इकाइयों के लिए एस्मा लागू की गई है, उसमें स्वास्थ्य और स्वास्थ्य संबंधी अन्य संस्थाएं भी हैं।

राज्य सरकार ने अति आवश्यक सेवा संधारण तथा विछिन्नता निवारण अधिनियम 1979 (क 10 सन 1979 की धारा 4 की उप धारा (1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों) का प्रयोग करते हुए सरकार ने तत्काल प्रभाव से एस्मा लागू कर दिया है। इस आदेश के अनुसार समस्त स्वास्थ्य सुविधाएं, डॉक्टर, नर्स और स्वास्थ्यकर्मी, स्वास्थ्य संस्थानों में स्वच्छता कार्यकर्ता, मेडिकल उपकरणों की बिक्री संधारण एवं परिवहन, दवाईयों और ड्रग्स की बिक्री, परिवहन एवं विनिर्माण, एंबुलेंस सेवाएं, पानी एवं विद्युत आपूर्ति, सुरक्षा संबंधी सेवाएं, खाद्य एवं पेयजल प्रावधान एवं प्रबंधन, बीएमडब्ल्यू प्रबंधन पर ये लागू है।

दो दिनों का और लग सकता है समय

इधर पेंड्री स्थित मेडिकल कॉलेज अस्पताल के नए भवन में कोरोना पीडि़तों के लिए ६० बिस्तर का आइसोलेशन वार्ड बनकर तैयार है, लेकिन कुछ कारणवश शिफ्टिंग का काम रूक गया है। ज्ञात हो कि शनिवार को शिफ्टिंग करने की बात कही गई थी, लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार कुछ जरूरी उपकरणों की कमी और विभागीय समस्या होने के कारण फिलहाल शिफ्टिंग को दो दिनों के लिए टाल दिया गया है। सूत्रों से मिल रही अनुसार बसंतपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में तैयार आइसोलेशन वार्ड में पर्याप्त सुविधाएं व सुरक्षा का अभाव है। वहीं यहां कार्यरत स्वास्थ्य कर्मचारियों को एन-९० मास्क उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। सिर्फ डाक्टरों को ही यह मास्क दिया जा रहा है। इससे स्टाफ नर्स, सफाई कर्मी, सुरक्षा गार्ड, वार्ड ब्वाय सहित अन्य कर्मचारियों में नाराजगी का माहौल है। जबकि पीडि़त के इलाज के लिए डाक्टरों को पीपीई किट अति आवश्यक है, नहीं तो उन्हें भी संक्रमण का खतरा रहेगा।

आइसोलेशन वार्ड में लापरवाही की शिकायत

ज्ञात हो कि शहर के भरकापारा में एक २४ वर्षीय युवक कोरोना से संक्रमित पाया गया है। वो कुछ दिन पहले थाईलैंड घूमने गया था, वहां से लौटने के बाद उसे होम आइसोलेशन में रहने हिदायद दी गई थी, लेकिन इस दौरान उसने शहर में कई जगहों पर अपने दोस्तों के साथ घूमते रहा। पीडि़त शुभम को बसंतपुर स्थित मेडिकल कॉलेज अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है, वहां भी उसके द्वारा लापरवाही बरतने की शिकायत सामने आ रही है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned