नियमित सफाई और पर्याप्त पानी नहीं मिलने की वजह से मैदान पर उग आई हैं झाड़ियां ...

अफसरों और खेल अधिकारियों का अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में ध्यान नहीं

By: Nitin Dongre

Published: 28 May 2020, 07:00 AM IST

राजनांदगांव. अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में लगभग 2 महीनों से टर्फ में पानी नहीं डलने की वजह से किनारे के हिस्सों में झाडिय़ां उग आई है। प्रशासन का ध्यान नहीं होने की वजह से इस तरह की स्थिति निर्मित हुई है। खिलाडिय़ों को पूछे जाने पर बताया गया कि इसे रोजाना पानी की आवश्यकता है यदि पानी नहीं मिलेगा तो यह धीरे-धीरे उखडऩे लगेगा। यहां तो गोल पोस्ट भी पूरी तरह से टूट चुके हैं।

प्रशासन को इस ओर ध्यान देना जरूरी है नहीं तो अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम का नामो निशान धीरे-धीरे विलुप्त हो जाएगा। स्टेडियम में अब चारों ओर मिट्टी ही मिट्टी नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि वह सुबह खिलाडिय़ों के लिए भी खेलने के लिए नहीं खोला जाता जबकि प्रशासन द्वारा स्टेडियम में को खिलाडिय़ों के प्रैक्टिस के लिए खोलने का आदेश हुआ है। 5 साल पहले एक ही बार अंतरराष्ट्रीय मैच होने के बाद से आज तक यहां अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं हो पाया है। जर्जर हो रहे अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम की देखरेख करने वाला भी कोई नहीं है।

हॉकी स्टेडियम के चारों को जर्जर स्थिति

यहां बैठने की जो कुर्सियां हैं वो भी सड़ चुकी है। यहां कैमरा, कमेंट्री करने के लिए दो लोहे के स्तंभ बनाए गए थे वे भी टूट फूट कर गिरे हुए हैं। जिसके कारण चारों ओर का आवरण भी क्षतिग्रस्त हो गया है। खिलाडिय़ों को प्रेक्टिस करने भी अब इसे नहीं दिया जा रहा है। मैदान का किसी न किसी प्रकार से उपयोग होना जरूरी है उपयोग के अभाव में टर्फ उखडऩे, मिट्टी निकलने और झाडिय़ां उगने की स्थिति निर्मित हो रही है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned