scriptElderly poor woman dies due to house wall collapse in Rajnandgaon | दीवार ढहने से बुजुर्ग गरीब महिला की मौत, PM आवास योजना के तहत पक्का मकान बनाने कई बार दिया आवेदन, किसी ने नहीं सुनी | Patrika News

दीवार ढहने से बुजुर्ग गरीब महिला की मौत, PM आवास योजना के तहत पक्का मकान बनाने कई बार दिया आवेदन, किसी ने नहीं सुनी

घर की दीवार गिरने से 65 वर्षीय महिला की दबकर मौके पर ही मौत हो गई। मृतक केशर बाई यादव पति स्व. सुखराम यादव शाम को अपने घर में खाना बना रही थी।

राजनंदगांव

Published: August 22, 2021 12:18:12 pm

राजनांदगांव/उपरवाह. राजनांदगांव जिले के घुमका थाना क्षेत्र के ग्राम खैरझिटी में घर की दीवार गिरने से एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। घटना शुक्रवार शाम करीब 7 बजे के आसपास की है। घर की दीवार गिरने से 65 वर्षीय महिला की दबकर मौके पर ही मौत हो गई। मृतक केशर बाई यादव पति स्व. सुखराम यादव शाम को अपने घर में खाना बना रही थी। वह सब्जी लेने बाहर निकली और अपने घर के आंगन में बैठी तभी अचानक मकान की दीवार केशर बाई यादव पर गिरी, जिसमें दबकर उसकी मृत्यु हो गई।
दीवार ढहने से बुजुर्ग गरीब महिला की मौत, PM आवास योजना के तहत पक्का मकान बनाने कई बार दिया आवेदन, किसी ने नहीं सुनी
दीवार ढहने से बुजुर्ग गरीब महिला की मौत, PM आवास योजना के तहत पक्का मकान बनाने कई बार दिया आवेदन, किसी ने नहीं सुनी
यह भी पढ़ें
2.50 करोड़ खर्च करके बनाई ऐसी घटिया सड़क जिस पर कलेक्टर भी चलना पसंद नहीं करते, हालत ऐसी सिर्फ गिट्टियां बची
...

आर्थिक सहायता की पहल की गई
मिट्टी की दीवार वजनी होने के कारण केसर बाई की मौके पर ही मौत हो गई थी। सूचना के बाद घुमका पुलिस एसआई महेश रजक, भैयालाल सिन्हा एवं टीम भी मौके पर पहुंच कर घटना स्थल का जायजा लेकर पंचनामा कर शनिवार को पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय रवाना किया। घुमका पुलिस ने बताया कि इस गरीब परिवार के लिए आर्थिक सहायता के लिए भी पहल की गई है।
नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ
मृतक केसर बाई प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने दफ्तरों का कई चक्कर लगाते रही, पर किसी ने नहीं सुनी। ग्रामीणों का कहना है कि सही मायने में प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ इस परिवार को मिलना चाहिए था। पंचायत द्वारा भी आवास में अपने करीबी का ही नाम आगे भेजा गया, जिसे जरूरत है उसका नाम काट दिया गया है। बारिश के कारण महिला का मकान जर्जर हो गया था। किसी तरह वह उसमें गुजर बसर कर रही थी, लेकिन मिट्टी का दीवार ढहने से अब उसकी सांसे थम गई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.