लोकसभा चुनाव के लिए झारखंड से आएंगी ईवीएम मशीनें

विधानसभा चुनाव के दौरान खराब हुई मशीनें हैदराबाद भेजी गईं , उपयोग में आई मशीनों के डाटा डिलीट करने का काम है जारी

By: Atul Shrivastava

Published: 05 Feb 2019, 06:45 AM IST

राजनांदगांव। लोकसभा चुनाव के लिए जिले में उपलब्ध इवीएम मशीनों और वीवीपैट की फस्ट लेबल चेकिंग (एफएलसी) का काम चल रहा है। इसके अलावा चुनाव के लिए और मशीनों की मांग निर्वाचन आयोग से की गई हैं। जिले के लिए बैलेट युनिट, कंट्रोल युनिट और वीवीपैट की एक खेप झारखंड से आएगी। संभवत: फरवरी के दूसरे सप्ताह तक यह खेप यहां पहुंच जाएगी और इसके बाद इसकी भी एफएलसी होगी।

इस साल अप्रैल-मई महीने में लोकसभा का चुनाव होना है। आम चुनाव को लेकर प्रशासन स्तर पर तैयारियां तेज हो गई हैं। जिला निर्वाचन कार्यालय ने मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्य को पूरा कर लिया है। विधानसभा चुनाव के लिए यहां काम में आने वाली इवीएम मशीनों और वीवीपैट की फस्ट लेबल चेकिंग का काम यहां किया जा रहा है।

फिलहाल हैं इतनी मशीनें
राजनांदगांव जिले की छह विधानसभा सीटों के लिए हुए चुनाव में यहां 1997 बैलेट यूनिट, 1512 कंट्रोल यूनिट और 1542 वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल हुआ था। इन मशीनों में से खराब हुई मशीनों को निर्माता कंपनी को भेजने के लिए रायपुर मुख्यालय भेजा गया है। खराब हुईं 61 बैलेट यूनिट, 54 कंट्रोल यूनिट और 107 वीवीपैट रायपुर भेजे गए हैं। जानकारी के अनुसार 31 दिसम्बर की स्थिति में यहां 2276 बैलेट यूनिट, 1633 कंट्रोल यूनिट और 1560 वीवीपैट मशीनें जिले में उपलब्ध थीं जिसमें से तीनों प्रकार की 11-11 मशीनें तहसीलों में ट्रेनिंग के लिए भेजी गई हैं। फिलहाल 30 जनवरी 2019 की स्थिति में निर्वाचन वेयरहाउस में 2265 बैलेट यूनिट, 1622 कंट्रोल यूनिट और 1549 वीवीपैट मशीनें उपलब्ध हैं।

आनी हैं इतनी मशीनें
जिला निर्वाचन कार्यालय के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लोकसभा चुनाव के लिए यहां झारखंड से 635 बैलेट यूनिट, 2 सौ कंट्रोल यूनिट और 3 सौ वीवीपैट मशीनें आनी हैं। जानकारी के अनुसार इसके लिए निर्वाचन आयोग से निर्देश मिल गया है। संभवत: फरवरी के दूसरे सप्ताह तक ये सारी मशीनें यहां आ जाएंगी।

Show More
Atul Shrivastava Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned