6 साल पहले शहर के मुख्य सड़क चौड़ीकरण से प्रभावित हुए परिवारों को मिलेगा मुआवजा ...

प्रभावितों ने 5 साल से प्रयास किया अब मिली लगभग 5 करोड़ की स्वीकृति

By: Nitin Dongre

Published: 03 Jun 2020, 09:23 AM IST

खैरागढ़. लगभग 6 साल पहले शहर में सड़क चौड़ीकरण की जद में आए प्रभावित परिवारों को जल्द ही मुआवजा वितरण किया जाएगा। इसके लिए शासन स्तर से 4 करोड़ 94 लाख रू की राशि जिला कलेक्टर को मिल गई है। रविवार को खैरागढ़ प्रवास पर पहुंचे कलेेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने स्थानीय विश्रामगृह में नगर पालिकाध्यक्ष मीरा चोपड़ा के साथ सौजन्य मुलाकात में इसकी जानकारी देते जल्द ही प्रभावितों को इसका वितरण किए जाने कार्रवाई शुरू करने आदेश दिए।

पांच वर्ष पूर्व शहर के भीतर सड़क चौड़ीकरण के तहत पुराना स्टैंड तुरकारीपारा, ईतवारीबाजार, किलापारा इलाकों में लगभग 98 मकानों दुकानों प्रतिष्ठानों को तोड़ा गया था। पांच साल से इसके मुआवजे के लिए प्रभावित परिवारों द्वारा प्रयास किया जा रहा था दो दर्जन से अधिक प्रभावित तो मामलें में मुआवजा लेने हाईकोर्ट की शरण में भी पहुंच गए थे। एक प्रभावित को हाईकोर्ट के निर्देश के बाद आनन फानन में पालिका प्रशासन द्वारा मुआवजे का वितरण भी किया गया है।

सड़क चौड़ीकरण में कई मकान हुए थे धराशाई

पुराना स्टैंड से लेकर किलापारा के उमरावपुल तक सड़क चौड़ीकरण के तहत सड़क के देोनो किनारों में आने वाले 98 से अधिक मकान इससे प्रभावित हुए थे। बिना मुआवजा प्रकरण और मुआवजा राशि वितरित किए ही स्थानीय प्रशासन ने नोटिस देने के बाद सड़क चौड़ीकरण की जद में आने वाले मकानों को धराशाई कर दिया था। सड़क चौड़ीकरण की कार्रवाई पूरी होने के बाद भी प्रभावितों को मुआवजे सहित राहत की कोई कार्यवाही नही की गई थी। चौड़ीकरण के चलते तोडफ़ोड़ में कई मकानों के टूटनें से कुछ परिवारों के दुकान मकान तक पूरी तरह से चौड़ीकरण के चपेट में आ गए थे। सड़क की कार्रवाई पूरी होने के बाद प्रशासन भी शांत हो गया था। चौड़ीकरण के बाद इसमें हुए नुकसान और मुआवजे को लेकर कुछ लोग उच्च न्यायालय तक पहुंचे थे। दो माह पहले तक उच्च न्यायालय जाने वालों की संख्या 32 तक पहुंच गई थी।

पालिकाध्यक्ष ने नगरीय प्रशासन मंत्री के सामने रखी थी मांग

चौड़ीकरण के बाद शहरी सत्ता संभालने वाली नगर पालिकाध्यक्ष मीरा गुलाब चोपड़ा सड़क चौड़ीकरण से प्रभावित हुए परिवारों को मुआवजा दिए जाने को लेकर लगातार शासन स्तर पर सक्रिय रही। प्रदेश में कांग्रेस सरकार आनें के बाद इसके लिए कार्रवाई और तेज करते मुख्यमंत्री सहित नगरीय प्रशासन मंत्री के पास मुआवजे का मुददा लगातार रखती रही। कुछ माह पूर्व शहर में निजी कार्यक्रम में शिरकत करने आए नगरीय प्रशासन मंत्री डा शिव डहरिया से मुलाकात में नपाध्यक्ष मीरा चोपड़ा ने मुआवजे की मांग रखते अतिशीघ्र इसकी स्वीकृति दिलाने मांग की गई थी जिस पर नगरीय प्रशासन मंत्री ने मुआवजे की राशि का प्रावधान छग सरकार के बजट में किए जाने का आश्चासन देतेे इसकी स्वीकृति देने की बात कही थी। शासन स्तर पर इसके लिए 4 करोड़ 94 लाख रू स्वीकृत किए गए है।

कलेक्टर के पास पहुंची राशि

रविवार को प्रवास पर खैरागढ़ आए कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा के साथ मुलाकात के लिए पहुंची पालिकाध्यक्ष मीरा चोपड़ा को वर्मा ने इसकी जानकारी देते इसकी त्वरित कार्रवाई शुरू करने निर्देश दिए। नगरपालिका और लोकनिर्माण विभाग द्वारा चौड़ीकरण से प्रभावित हुए परिवारों मकानों दुकानों की सूची पहले ही तैयार की गई है। कलेक्टर वर्मा ने बताया कि मुआवजा राशि का नियमानुसार प्रभावितों को वितरण करनें की प्रक्रिया आरंभ की जाएगी।

विधायक पालिकाध्यक्ष जिप उपाध्यक्ष भी प्रभावितों में शामिल

सड़क चौड़ीकरण में प्रभावित हुए लोगों में खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह, जिपं उपाध्यक्ष विक्रंात सिंह, नगरपालिकाध्यक्ष मीरा चोपड़ा सहित कुछ दिज्गज नेता और आम लोग भी शामिल है। सबसे ज्यादा प्रभावित इलाके में किलापारा का मुख्य मोड़ शामिल है। यहां दोनो तरफ दो दर्जन दुकान मकान चौड़ीकरण में आए थे एक दो के मकान ही नही बच पाए। प्रभावितों पूराना स्टैंड में विधायक देवव्रत सिंह का काम्पलेक्स, जिपं उपाध्यक्ष विक्रंात सिंह का पेट्रोल पंप पालिकाध्यक्ष मीरा चोपड़ा और उनके परिवार की दुकानें मकान भी काफी क्षतिग्रस्त हुए थे।

जिलाधीश वर्मा ने इसकी सूचना दी है

नगर पालिका परिषद खैरागढ़ की अध्यक्ष मीरा गुलाब चोपड़ा ने कहा कि सड़क चौड़ीकरण के प्रभावित परिवारों को मुआवजा राशि वितरित करनें शासन ने 4 करोड़ 94 लाख रू की स्वीकृति देते राशि कलेक्टर को भेज दी है जल्द ही प्रभावितों को राशि वितरित की जाएगी। जिलाधीश वर्मा ने इसकी सूचना दी है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned