बेटे का अंतिम संस्कार कर गांव लौटे पिता और बहन मिले कोरोना संक्रमित, परिवार के साथ लौटा 14 वर्षीय बालक भी चपेट में ...

घाघरा कैंप के 14 एसएएफ के जवान स्वस्थ होकर हुए डिस्चार्ज

By: Nitin Dongre

Published: 22 Aug 2020, 09:44 AM IST

खैरागढ़. बेटे का अंतिम संस्कार कर नागपूर से लौटे पिता और बहन कोरोना पॉजिटिव पाए गए। पिता और बेटी होम क्वारंटाइन में थे जबकि खेती किसानी काम करने नागपूर से वापस लौटे सात लोगो के परिवार में 14 वर्षीय बालक भी पाजीटिव मिला। गुरूवार को ब्लाक के ग्रामीण इलाकों से तीन मरीजों की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार सुबह तीनों मरीजों को राजनांदगांव मेडिकल कालेज शिप्ट किया गया। गुरूवार को ही ब्लाक में कैंप के जवानों को छोड़कर संक्रमितों की संख्या खत्म हो गई थी लेकिन शाम को आई रिर्पोट में फिर से तीन एक्टिव मामलें सामनें आ गए।

ब्लाक के ढोलिया कन्हार गांव में नागपूर में बेटे की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार सहित कार्यक्रम निपटा कर गांव लौटे पिता और बहन अपनें घर में होम क्वारंटाइन किए गए थे। स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी के बाद 18 अगस्त को दोनो का सैंपल लेकर रायपुर जांच के लिए भेजा था। गुरूवार शाम को आई सैंपल रिेर्पोट में दोनो पाजीटिव मिले। इसी तरह नागपुर से सात लोगो का परिवार ब्लाक के कोहकाबोड़ गांव लौटा था जिसे पंचायत द्वारा क्वारंटाइन किया गया था। सातों लोगो का 18 अगस्त को ही सैंपल लिया गया था जिसमें गुरूवार को केवल 14 वर्षीय बालक की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। बाकी छह लोगो की रिर्र्पाेट नही आई है। हरकत में आए स्वास्थ्य अमलें ने तीनों पॉजिटिव मरीजों को शुक्रवार को सुबह राजनांदगंाव शिफ्ट करनें की कार्रवाई की। होम क्वारंटाइन सहित क्वारंटाइन सेंटरों में ही रहनें के कारण इनके प्राथमिक संपर्क में आने वालों की जानकारी सामनें नही आई है।

घाघरा कैंप के जवान भी स्वस्थ होकर हुए डिस्चार्ज

शुक्रवार को ग्रामीण इलाकों में मिले तीन संक्रमितों के साथ अच्छी खबर भी सामनें आई। घाघरा कैंप में सुरक्षा व्यवस्था में तैनात जवानों में पाजीटिव पाए गए 14 जवानों को इलाज के बाद स्वस्थ होने के चलते शुक्रवार को राजनांदगांव से डिस्चार्ज कर दिया गया। घाघरा कैंप में एसएएफ के एक कमांडेंट सहित 14 जवानों का स्वास्थ्य विभाग ने 14 अगस्त को आरटीपीसीआर सैंपल लिया था सभी जवानों के पाजीटिव पाए जाने के बाद शुक्रवार को ही सभी को राजनांदगांव मेंडिकल कालेज इलाज के लिए शिफ्ट किया गया था। आज सभी जवानों की रिर्पोट निगेटिव आनें के बाद डिस्चार्ज किया गया।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned