राजनांदगांव में मादा तेंदुए का शिकार, पैर काटकर साथ ले गए शिकारी, वन विभाग में हड़कंप

राजनांदगांव जिले में तेंदुआ का पैर कटा शव मिलने से हड़कंप मच गया है। घटना जिले के गंडई पंडरिया क्षेत्र के जंगलपुर बीट अंतर्गत ग्राम मगरकुंड की है।

By: Dakshi Sahu

Published: 25 Feb 2021, 12:03 PM IST

राजनांदगांव/गंडई पंडरिया. राजनांदगांव जिले में तेंदुआ का पैर कटा शव मिलने से हड़कंप मच गया है। घटना जिले के गंडई पंडरिया क्षेत्र के जंगलपुर बीट अंतर्गत ग्राम मगरकुंड की है। शिकारी तेंदुआ के सामने के दोनों पैर काट अपने साथ ले गए हैं। सिर पर चोट के निशान है। कटे हुए पैर को गायब देखकर अनुमान लगाया जा रहा है कि किसी ने तेंदुआ का शिकार किया है।

खैरागढ़ वन मंडल के अधिकारी पहुंचे
मिली जानकारी अनुसार मंगलवार देर शाम को जंगलपुर बीट अंतर्गत आने वाले ग्राम मगरकुंड के कुछ ग्रामीणों ने तेंदुए का शव मगरकुंड से पैलिमेटा जाने वाले मार्ग में तालाब के पास देखा। जिसकी जानकारी तुरंत पैलिमेटा वन सर्किल में जाकर डिप्टी रेंजर नरेश कुमार चंद्रवंशी को दिया। जिसके बाद वन विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन में पूरा खैरागढ़ वन मंडल के अधिकारी और कर्मचारी घटना स्थल पर पहुंच गए।

मौके पर गंडई के पशु चिकित्सक डॉ. संदीप इंदुल्कर को बुलाया गया था। रात अधिक हो जाने के कारण बीट गार्ड, वन समिति और चौकीदारों की टीम बनाकर तेंदुए के शव की रखवाली के लिए स्पॉट में लगा दिया गया। देर रात तक गश्त भी लगाया गया। बुधवार सुबह अचानकमार टाइगर रिजर्व से डॉग स्क्वायड को बुलाया गया। सूत्रों के अनुसार तेंदुए के शव के पास से डॉग ने शिकारी और सामानों का गंध लिया और पहाड़ों के ऊपर की तरफ चलने लगा जहां से पहाड़ के नीचे एक खेत तक गया। वहां खेत में वही लकड़ी रखा हुआ है जो लकड़ी मृत तेंदुए के पास पड़ा हुआ था।

राजनांदगांव में मादा तेंदुए का शिकार, पैर काटकर साथ ले गए शिकारी, वन विभाग में हड़कंप

शक के दायरे में कुछ लोगों से पूछताछ
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गांव के ही कुछ लोगों को वन विभाग के अधिकारियों ने शक के आधार पर पूछताछ कर रहे हैं। तेंदुए मादा थी और लगभग ढाई साल की थी। तेंदुए के सर कपाल से चमड़ी और दांत गायब थे जिससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि जादू टोने के नाम से अंजाम दिया होगा।

दो डॉक्टरों ने किया पीएम
पोस्टमार्टम के लिए गंडई के डॉ. संदीप इंदुल्कर और जिले की महिला डॉक्टर को बुलाया गया था। लगभग 11 बजे दुर्ग वृत्त चीफ डॉ. शालिनी रैना भी स्पॉट पर पहुंच गई। खैरागढ़ के डीएफओ संजय यादव मौके पर उपस्थित रहे। गंडई से एसडीओ सहित प्रभारी रेंजर एसएन ठाकुर एवम वन विभाग के अधिकांश अधिकारी और कर्मचारी मौके पर उपस्थित थे। पोस्टमार्टम के बाद दोपहर बाद मृत तेंदुए का अंतिम संस्कार किया गया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned