अमानवीय घटना: राजनांदगांव में ग्रामीणों ने शिकारी बुलाकर पांच बंदरों का शिकार कराया, कुत्तों के सामने फेक दिया शव

Monkey hunting in Rajnandgaon: लालबाग थाना क्षेत्र के ग्राम बखत रेंगाकठेरा में पांच बंदरों का एयरगन से शिकार करके शिकारियों द्वारा उन्हें कुत्तों को खिलाने का मामला सामने आया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 20 Oct 2020, 02:34 PM IST

राजनांदगांव. लालबाग थाना क्षेत्र के ग्राम बखत रेंगाकठेरा में पांच बंदरों का एयरगन से शिकार करके शिकारियों द्वारा उन्हें कुत्तों को खिलाने का मामला सामने आया है। शिकायत के बाद पुलिस प्रशासन व वन विभाग की टीम गांव पहुंची। मामले में वन्य प्राणी को मारने के आरोप में कार्रवाई के लिए टीम जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि वन विभाग के पंचनामा के आधार पर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल वन विभाग की टीम लोगों से पूछताछ के बाद पंचनामा तैयार कर रही है। घटना का खुलासा सोमवार को हुआ। जिसके बाद राजनांदगांव शहर के पार्षद ऋषि शास्त्री और गौ-सेवा समिति के पदाधिकारी भी गांव पहुंचे थे।

अमानवीय घटना: राजनांदगांव में ग्रामीणों ने शिकारी बुलाकर पांच बंदरों का शिकार कराया, कुत्तों के सामने फेक दिया शव

ग्रामीणों ने बुलाया था शिकारी
गांव विकास समिति ने बंदरों को गांव से भगाने के लिए एक व्यक्ति को नियुक्त किया है। इसके लिए बैठक में निर्णय लेकर गांव में प्रत्येक घर से राशि जमा की गई है। उसी व्यक्ति द्वारा गांव में घुसने वाले पांच बंदरों को मारने की शिकायत सामने आई है। इसके बाद उन बंदरों को बोरी में भरकर बाहर कुत्तों के सामने फेंके जाने की जानकारी सामने आई है। गौ सेवक समिति ने इसका विरोध किया है।

आस्था पर चोट पहुंचाई है, करेंगे आंदोलन
गांव पहुंचे पार्षद व गौ-सेवक ऋषि शास्त्री और संतोष तुराटे, अंसुल कसार, उज्जवल कुर्रे ने घटना का विरोध किया। प्रदेश अध्यक्ष राष्ट्रीय गौ-रक्षा वाहिनी संतोष तुराटे ने कहा कि हनुमान के प्रतीक माने जाने वाले वानरों की हत्या से हमारी धार्मिक आस्था को ठेस पहुंची है। इस ओर कार्रवाई नहीं हुई तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned