शहरवासियों, सामाजिक एवं स्वैच्छिक संगठनों के सहयोग से तैयार हो रहा भोजन ...

छह जगहों से जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचा रहा निगम

By: Nitin Dongre

Updated: 30 Mar 2020, 04:00 PM IST

राजनांदगांव. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लगाए गए लॉकडाउन के चलते शहर के कई हिस्सों में लोगों को दो वक्त के भोजन की दिक्कत शुरू हो गई है। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने शहर के दानदाताओं से मिली राशि और सामग्री के साथ शहर के 6 जगहों पर भोजन वितरण केंद्र तैयार किया है। सभी जगहों के भोजन म्युनिस्पल स्कूल मैदान में गांधी सभागृह के पास बनेंगे और यहां से विभिन्न केंद्रों तक और फिर जरूरतमंदों तक पहुंचाए जाएंगे। इसके लिए शहर की सामाजिक संस्थाओं की मदद ली जाएगी। जानकारी के अनुसार जरूरतमंदों को विभिन्न सब्जियों को मिश्रित कर बनाई गई खिचड़ी दी जाएगी।

शहरवासियों, सामाजिक एवं स्वैच्छिक संगठनों के सहयोग से लॉकडाउन की स्थिति में जरूरतमंद परिवारों को दो वक्त का भोजन उपलब्ध कराने के लिए 6 स्थानों पर व्यवस्था की गई है। इनमें सर्वेश्वर दास नगर पालिक निगम स्कूल, लखोली स्कूल परिसर, बल्देव प्रसाद मिश्र उच्चतर माध्यमिक शाला बसंतपुर, मोतीपुर स्कूल परिसर, चिखली स्कूल परिसर तथा गोंडवाना समाज भवन रेवाडीह पेंड्री शामिल हैं।

लगी अफसरों की ड्यूटी

इन स्थानों में जरूरतमंद लोगों एवं परिवारों के लिए दो समय (दोपहर 12 बजे से दोपहर 3 बजे तथा शाम 6 बजे से रात्रि 8.30 बजे तक) भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। इन सभी स्थानों में प्रभारी अधिकारियों और सहयोगी अधिकारियों तथा कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। प्रशासन ने तय किया है कि कोरोना वायरस के संक्रमण एवं बचाव के लिए लॉकडाउन होने के कारण तथा दुकान, फैक्ट्री, अन्य निर्माण कार्य बंद होने के कारण बहुत सारे परिवारों के सामने दो वक्त का भोजन जुटाना कठिन हो रहा है।

दोनों टाईम मिलेगा भोजन

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा कल वीडियो कांफ्रेसिंग में दिए गए निर्देशों एवं कलक्टर जयप्रकाश मौर्य के निर्देशों के परिपालन में इन सभी परिवारों के लिए दो समय के भोजन की व्यवस्था राजनांदगांव शहरवासियों, स्वैच्छिक संगठनों तथा सामाजिक संगठनों के सहयोग से की जा रही है। इन स्थानों में दूसरे राज्यों से आए मजदूरों एवं उन लोगों के लिए भी भोजन की व्यवस्था की जाएगी, जो लॉकडाउन होने के कारण अपने घर, प्रदेश नहीं जा पाए।

इन्हें ही मिलेगा भोजन

जानकारी के अनुसार प्रशासन ने तय किया है कि लॉकडाउन के कारण जरूरतमंदों तक भोजन पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है। कलक्टर मौर्य ने बताया कि ऐसे लोग जिनके पास उज्जवला गैस का कनेक्शन है और जिनके पास राशनकार्ड है और वे शासन से चावल ले रहे हैं उन्हें भोजन न देकर ऐसे लोगों को दिया जाएगा जो इस सुविधा से वंचित है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned