पर्व...गांव के गौठान में मातर देखने उमड़ी ग्रामीणों की भीड़

पर्व...गांव के गौठान में मातर देखने उमड़ी ग्रामीणों की भीड़

Nakul Ram Sinha | Publish: Nov, 10 2018 06:10:55 PM (IST) Rajnandgaon, Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

शांतिपूर्वक मनाया पर्व

राजनांदगांव / उपरवाह. गोवर्धन पूजा के दूसरे दिन अंचल के सभी गांव में मातर का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। यादवों (राऊत) के देवता के प्रतीक खुड़हुड की पूजा अर्चना के बाद प्रसाद के लिए रखे कद्दू (कुम्हड़ा) को पशुधन के पैरों से रौंदाया जाता है, कद्दू के टूट जाने के बाद उसे साफकर प्रसाद तैयार किया जाता है। यह संपूर्ण कार्य विधिवत सार्वजनिक गौठान में किया जाता है। इस दौरान यादवों के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण के गुणगान, दोहों को संगीत के साथ गुंजायमान करते हैं। मातर के एक दिन पूर्व गोवर्धन पूजा के दिन पशुधन को खिचड़ी खिलाया गया, खिचड़ी में दाल, कोचई, कद्दू, जिमिकंद की सब्जी जिसे चावल (भात) में मिलाया जाता है। इसे ही मुख्य रूप से प्रसाद के रूप में वितरण किया जाता है। सदियों पुरानी इस परंपरा को बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ त्योहार के रूप में मनाया जाता है।

हर्षोल्लास के से की गौरा-गौरी पूजा
उपरवाह. दीपपर्व की रात्रि को गौरा गौरी पूजन की तैयारी की जाती है। भगवान महादेव एवं माता पार्वती के रूप में गौरा गौरी की मिट्टी की मूर्ति को फूलों, धान की बालियों से सजाया जाता है। इसकी तैयारी पांच दिन पूर्व शुरू हो जाता है। मुख्य रूप से आदिवासी गोंड समाज के द्वारा इस पूजा, त्योहार को मनाया जाता है जो वर्षों पुरानी परंपरा है। गौरा गौरी की पूजन अंचल के उपरवाह, बरगाही, परसबोड, सलोनी, गोपालपुर, बघेरा, तुमड़ीलेवा, भेंडरवानी, खैरझिटी, हरडुवा, तिलई, मुड़पार आदि गांव में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इसका विसर्जन गांव के शीतला तालाब में किया गया।

धूमधाम से मना दीपावली पर्व
चिचोला. चिचोला में प्रतिवर्षनुसार इस वर्ष भी दीपावली बड़ी धूमधाम से मनाया गया। गांव के राऊतों परिवारों द्वारा नाच गाकर तथा दोहा लगाते मोहल्लों में घुमाया तथा गांव के गौठान के साढ़ादेव में जानवरों को गोवर्धन खुंदवाया गया। जिसे देखने ग्रांव के ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

क्षेत्र में शांति पूर्ण ढ़ंग से मनाई गई दीवाली पर्व
जोंधरा. अन्य सालों की अपेक्षा दीपावली इस वर्ष क्षेत्र के सभी ग्रामों में शांतिपूर्ण ढ़ंग से मनाई गयी। इसका सबसे बड़ा कारण शराबी भाई चुनाव आचार संहिता को बता रहे है। जगह-जगह हो रही चेंकिग के कारण क्षेत्र के बिचौलिए भट्टी से ज्यादा मात्रा में शराब लाने में असमर्थ रहे है अत: एक व्यक्ति नियमत: जितनी शराब ला सकता है उतना ही ला पाया। ग्राम में शराबियों के माध्यम से ही झगड़े की शुरूवात गोवर्धन पूजा के दिन होते रही है जो इस वर्ष क्षेत्र के किसी भी ग्राम में देखने को नही मिला, फलस्वरूप यादव समाज इस वर्ष गोवर्धन पूजा ग्रामीणों के संग शांतिपूर्ण ढ़ंग

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned