सरकार गा रही विकास का गान, दूसरी ओर सालों से सड़क की मांग कर रहे ग्रामवासी

सरकार गा रही विकास का गान, दूसरी ओर सालों से सड़क की मांग कर रहे ग्रामवासी

Nakul Ram Sinha | Publish: Sep, 06 2018 03:53:31 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

मिल रहा सिर्फ आश्वासन

राजनांदगांव / सड़क चिरचारी-बागनदी. महाराष्ट्र सीमा से लगे छुरिया विकासखंड के ग्राम पंचायत घोरतलाब के आश्रित ग्राम बागनदी में पर्यटन स्थल मनोहर सागर जलाशय पहुंच मार्ग के लिए सड़क निर्माण के लिए सांसद अभिषेक सिंह को आवेदन दिया गया है जिस पर आज तक आश्वासन ही मिला है। ग्रामीणों ने बताया कि नेशनल हाईवे से लगे मनोहर सागर जलाशय बहुत बड़ा बांध है, जहां हजारों पर्यटक बांध देखने घुमने आते है व पिकनीक मनाने आते है। स्पॉट पर पहुंचने के लिए बस्ती से होकर गुजरना पड़ता है। बारिश के समय उक्त मार्ग पर कीचड़ भरा होता है। वहीं गर्मी में वाहनों की आवाजाही में धुल से ग्रामीणों व स्कूली बच्चों को परेशानियों का समना करना पड़ता है। बागनदी आश्रित ग्राम में दो वार्ड है किन्तु यहां सड़क नही है। देखा जाए तो पिछले 15 वर्षो में एक भी विकास का कार्य नहीं हुआ है। कच्ची सड़क से आवाजाही किया जाता है।

सांसद को दे चुके हैं कई बार आवेदन
नेशनल हाईवे से मनोहर सागर जलाशय तक 1100 मीटर सड़क की मार्ग निर्माण के लिए सांसद से कई बार आवेदन किया गया है लेकिन आज तक प्रधानमंत्री सड़क योजना या मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की स्वीकृति नही मिली है। बताया जाता है एक बार मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंर्तगत हाईवे से जलाशय तक 1100 मीटर माप किया गया जिसका अभी तक कुछ अता पता नही है।
सरपंच प्रतिनिधि, भुवन कोठारी का कहना है कि आश्रित ग्राम बागनदी में सड़क निर्माण व सीसी रोड के लिए कई बार आवेदन दिया गया है पर अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है।

गड्ढा बन सकती है दुर्घटना का कारण
साल्हेवारा. साल्हेवारा पहुंचते ही आपको बड़े-बड़े गड्ढों का सामना करना पड़ेगा। लोक निर्माण विभाग के छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश को जोडऩे वाली साल्हेवारा के मुख्य चौक में महीनों से बड़े-बड़े गड्ढे हो गये जिसका विभाग के कर्मचारी एवं अधिकारियों का कोई ध्यान नहीं है। अभी तक कई बाईक सवार इन गड्ढों में गिरकर घायल हो चुके हैं। गडढों में पानी भरने के बाद गहराई का अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है। ऐसा नही कि यहां विभाग के कर्मचारियों की कमी है लेकिन करना ही नही चाहते। अंजान आने जाने वालों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

एक माह भी नहीं झेल पाई सड़क
उपरवाह. कलडबरी-टेडसरा तक सड़क निर्माण को माह भर हुए है और अभी से ही सड़क की परतें उखडऩे लगी है। ग्राम पंचायत बघेरा के सरपंच पूनम यदु द्वारा विभाग को स्तरहीन निर्माण से लिखित में अवगत करा चुके हैं, उसी समय रिपेयरिंग करवाया गया था लेकिन वह भी पखवाड़े भर में फिर वही स्थिति हो चुकी है। ग्राम पंचायत बघेरा के अलावा आसपास के पंचायतों के द्वारा भी विभाग से उचित निर्माण की मांग कर चुके हैं। इसकी जानकारी विधायक को दी गई। विधायक सरोजनी बंजारे ने इस संबंध में बताया कि संबंधित ठेकेदार को कलडबरी से टेडसरा तक पुन: मरम्मत करने उच्चाधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

मुख्यमंत्री की घोषणा पर नहीं हुआ अमल
सोमनी. ग्राम अंजोरा में विगत दस-ग्यारह माह पहले मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह का आगमन हुआ था जिसमें ग्रामीणों द्वारा मुख्यमंत्री से हाईस्कूल भवन निर्माण के लिए मांग रखी गई थी जो कि स्वीकृत भी किया गया था साथ ही भवन निर्माण के लिए राशि की भी घोषणा की गई थी किंतु आज पर्यंत हाईस्कूल भवन निर्माण संबंधी कोई जानकारी ग्राम पंचायत को नहीं मिल पाया है। हाईस्कूल प्राथमिक विद्यालय एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालय के अतिरिक्त कमरे में संचालित है। ग्रामवासियों, ग्राम पंचायत व विद्यालय के पदाधिकारियों ने 4 सितंबर को मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय में जाकर सांसद अभिषेक सिंह स्कूल की पीड़ा सुनाई एवं सीएम के नाम आवेदन सौंपा गया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned