प्रभारी मंत्री ने वीडियो कांफ्रेसिंग से ली डीएमएफ की बैठक, साढ़े 22 करोड़ रूपए के कार्यों का हुआ अनुमोदन ...

नए प्रस्तावों का परीक्षण होगा, गाइड लाइन का पालन करना भी जरूरी

By: Nitin Dongre

Published: 29 Jun 2020, 07:09 AM IST

राजनांदगांव. वन मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर की अध्यक्षता में शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए जिला खनिज संस्थान न्यास की शासी परिषद की बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिले के प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष खनन प्रभावित क्षेत्रों के लिए लगभग साढ़े 22 करोड़ रूपए के विभिन्न कार्यों का अनुमोदन किया गया। ये कार्य वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए है।

कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा ने जिला खनिज संस्थान न्यास के अंतर्गत वर्ष 2020-21 के लिए प्रस्तावित कार्य योजना में शामिल कार्यों के संबंध में बारी-बारी से जानकारी दी। प्रभारी मंत्री अकबर ने अनुमोदित कार्यों के अलावा प्रस्ताव में शामिल अन्य कार्यों का परीक्षण कर न्यास की गाईड लाईन के आधार पर आगामी बैठक में रखने के निर्देश दिए।

ये रहे मौजूद

कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए मोहला-मानपुर विधायक इंद्रशाह मंडावी, डोंगरगढ़ विधायक भुनेश्वर बघेल, कलेक्टर टोपेश्वर वर्मा, पुलिस अधीक्षक जितेन्द्र शुक्ला, सीईओ जिला पंचायत तनुजा सलाम, सहायक कलेक्टर ललितादित्य नीलम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी, जिला खनिज संस्थान न्यास के परियोजना समन्वयक एवं एसडीएम राजनांदगांव मुकेश रावटे सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी बैठक में शामिल हुए।

इन कार्यों की स्वीकृति

बैठक में पेयजल से संबंधित 15 कार्यों के लिए 1 करोड़ 97 लाख रूपए, पर्यावरण संरक्षण के अंतर्गत एक कार्य के लिए 50 लाख रूपए, स्वास्थ्य के अंतर्गत 10 कार्यों के लिए 6 करोड़ 81 लाख 46 हजार रूपए, नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना के लिए 2 करोड़ रूपए, शिक्षा के अंतर्गत 8 कार्यों के लिए 7 करोड़ 81 लाख रूपए, उद्यानिकी के अंतर्गत दो कार्यों के लिए एक करोड़ 41 लाख रूपए, क्रेडा के अंतर्गत एक कार्य के लिए 16 लाख 50 हजार रूपए तथा अधोसंरचना विकास के 5 कार्यों के लिए एक करोड़ 74 लाख 90 हजार रूपए का अनुमोदन किया गया।

गाइडलाइन का पालन जरूरी

प्रभारी मंत्री अकबर ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से कहा कि डीएमएफ से विकास कार्यों के लिए स्वीकृति देने गाईड लाईन जारी की गई है। गाईड लाईन के आधार पर शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल सहित अन्य मदों पर धन राशि स्वीकृत की जानी है। स्वीकृत करते समय गाईड लाईन का सही तरीके से पालन होना चाहिए। कलेक्टर ने बताया कि विधायकों और जिला खनिज संस्थान न्यास के शासी परिषद के मनोनीत सदस्यों द्वारा प्रस्तावित कार्यों के लिए कार्य योजना में ढ़ाई करोड़ रूपए का प्रस्ताव किया गया है।

नए प्रस्तावों का परीक्षण होगा

प्रभारी मंत्री अकबर ने इस संबंध में विस्तृत प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव में से जो कार्य गाईड लाईन के अनुरूप होंगे, उन्हें आगामी बैठक में अनुमोदित किया जाएगा। प्रभारी मंत्री अकबर ने जिला खनिज संस्थान न्यास के अंतर्गत स्वीकृति के लिए विधायकों से प्राप्त प्रस्तावों का समुचित परीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित कार्यों में से जो कार्य न्यास से स्वीकृत होने लायक हों उनकी जानकारी विधायकों को अनिवार्य रूप से दी जानी चाहिए।

विधायक दलेश्वर एम्स से मोबाईल के जरिए शामिल हुए

जिला खनिज संस्थान न्यास की शासी परिषद की बैठक में डोंगरगांव विधायक दलेश्वर साहू एम्स रायपुर से मोबाईल के जरिए शामिल हुए। विधायक साहू जैसे ही वीडियो कांफ्रेसिंग से जुड़े प्रभारी मंत्री अकबर ने पहले उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। विधायक साहू ने कार्य स्वीकृत करने के संबंध में जरूरी सुझाव दिए। खैरागढ़ विधायक देवव्रत सिंह, छुईखदान के जनपद पंचायत कार्यालय के स्वान वीडियो कांफ्रेंस रूम तथा खुज्जी विधायक छन्नी साहू छुरिया जनपद पंचायत कार्यालय के स्वान वीडियो कांफ्रेंस रूम से बैठक से जुड़े रहे। इन दोनों विधायकों ने भी अनेक सुझाव दिए।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned