लखोली में जिसकी हुई कोरोना से मौत, उसकी पत्नी और बेटा डिस्चार्ज होकर लौटे घर ...

राजनांदगांव जिले में आज मिले 4 मरीज, 9 ठीक भी हुए

By: Nitin Dongre

Updated: 26 Jun 2020, 07:39 AM IST

राजनांदगांव. शहर के लिए बड़ी राहत की खबर है कि बीते कुछ दिनों से कोरोना के मामलों की झडी़ लगने वाले लखोली क्षेत्र से दो मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज किए गए हैं। इसके साथ ही जिले के अलग-अलग हिस्सों से गुरुवार को नौ कोरोना मरीज ठीक हुए हैं। यहां मेडिकल कालेज अस्पताल से कवर्धा और बालोद के भी एक-एक मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं। गुरुवार को शहर के अलग-अलग हिस्सों से 4 नए मरीज भी सामने आए हैं।

राजनांदगांव जिले में कोरोना मरीजों का आंकड़ा लॉकडाउन हटने और अनलाक शुरु होने के साथ ही तेजी से बढ़ा है। पिछले दिनों लखोली निवासी एक बुजुर्ग की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत होने और बाद में उसकी सैंपल जांच में कोरोना की पुष्टि होने के बाद लखोली और गंज चौक में कोरोना मामलों की झड़ी लग गई थी और अकेले इसी इलाके से 70 से ज्यादा मरीज सामने आए हैं। गुरुवार को इस इलाके से कोई मरीज नहीं मिला। अलबत्ता कोरोना से मृत बुजुर्ग की पत्नी और उसके पुत्र को इलाज के बाद ठीक कर चिकित्सकों ने डिस्चार्ज कर दिया है। यह एक बड़़ी राहत की बात है।

यहां के मरीज हुए डिस्चार्ज

सीएमएचओ डा मिथलेश चौधरी ने बताया कि पेंड्री स्थित स्व. अटल बिहारी वाजपेयी स्मृति मेडिकल कालेज अस्पताल से राजनांदगांव जिले के 9 के साथ ही कवर्धा और बालोद जिले के एक-एक मरीज को कोरोना मुक्त कर डिस्चार्ज किया गया है। गुरुवार को राजनांदगांव के लखोली से 2, आशीर्वाद कालोनी से एक, अंबागढ़ चौकी की डाक्टर के साथ 3, खैरागढ़ के मदनपुर से 2, डोंगरगढ़ के भगतसिंह चौक से एक मरीज की दो रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उनको डिस्चार्ज किया गया है। ठीक होने वाला बालोद का मरीज परसदा साकरा और कवर्धा का बोडला का रहने वाला है।

कंटेनमेंट जोन में बरती जा रही लापरवाही

शहर के लखोली क्षेत्र में कोरोना के घातक फैलाव के बाद भी कोरोना पाजिटिव पाए गए शहर के कई इलाकों को प्रशासन ने कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है लेकिन इन इलाकों में लोगों की लापरवाही की शिकायतें मिल रही हैं। अभी भी कई कंटेनमेंट जोन में दुकानें खुल रही हैं। लोगों की आवाजाही जारी है। कुछ कंटेनमेंट जोन में शादियां होने की शिकायत भी वहां के निवासियों ने की है। स्टेशन पारा सहित कई क्षेत्रों में सेनिटाइज का काम भी नहीं किया गया है।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned