लॉकडाउन में प्रभावितों को दिया जा रहा दो वक्त का भोजन और मदद भी मिल रही ...

चिह्नित जगहों से भोजन के दो हजार पैकेट तैयार कर बांटे

By: Nitin Dongre

Published: 01 Apr 2020, 04:32 PM IST

राजनांदगांव. लॉकडाउन की स्थिति में संकट में फंसे जरूरतमंद परिवारों को शहरवासियों, सामाजिक और स्वैच्छिक संगठनों के सहयोग से दो वक्त का भोजन देने का काम प्रशासन ने शुरू कर दिया है। इस काम के लिए आर्थिक सहायता और भोजन सामग्री देने लोग और सामाजिक संगठन लगातार सामने आ रहे हैं। इसके साथ ही निजी स्तर पर भी लोग मदद कर रहे हैं।

जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में नगर निगम में मंगलवार दोपहर पूर्व में चिह्नित जगहों से भोजन के दो हजार पैकेट तैयार कर बांटे। जरूरतमंद लोगों और परिवार को दोपहर 12 से 3 बजे तक और फिर शाम 6 बजे से रात 8.30 बजे तक भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके लिए जिला प्रशासन और नगर निगम के अफसरों और कर्मचारियों की ड्यूटी लगई गई है।

ये भी कर रहे मदद

जिला प्रशासन के अलावा अन्य सामाजिक संगठन और लोग अपने स्तर पर जरूरतमंदों तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। शहर में लॉकडाउन के दौरान ड्यूटी कर रहे पुलिस जवानों को मौके पर ही चाय और पानी पिलाने के काम में महापौर हेमा देशमुख खुद जुटी हुई हैं। अग्रवाल समाज ने मंगलवार को सौ पैकेट अग्रसेन अन्नपूर्णा पैकेट बांटे। इस पैकेट में प्रति व्यक्ति के लिए 20 दिन का राशन और साबुन, तेल शामिल था। इसी तरह तुलसीपुर बख्तावरचाल निवासी अजय सोनी, लक्की श्रीवास्तव, राकेश साहू और अन्य मित्र मिलकर जरूरतमंदों तक 15 दिन का जरूरी राशन और अन्य सामान्य पहुंचाने का काम कर रहे हैं।

घुमका क्षेत्र की समस्याएं बताईं

जिला पंचायत सदस्य राजेश श्यामकर ने घुमका क्षेत्र के गांव की समस्याओं को लेकर जिला पंचायत सीईओ तनुजा सलाम से बात की। श्यामकर ने गांव में सेनिटाइजर और मास्क की जरूरत बताते हुए लॉकडाउन के चलते भोजन और अन्य समस्याओं से जूझ रहे लोगों की मदद की बात की। श्यामकर ने बताया कि उन्हें प्रशासन से क्षेत्र में मदद का आश्वासन मिला है। श्यामकर ने प्रधानमंत्री राहत कोष में 6 हजार रूपए भी दिए हैं।

Nitin Dongre Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned