शहर के बीच में बंद फौव्वारे में भरा है पानी, यहां पनप सकते हैं डेंगू के लार्वा

शहर के बीच में बंद फौव्वारे में भरा है पानी, यहां पनप सकते हैं डेंगू के लार्वा

Nitin Dongre | Publish: Sep, 09 2018 03:20:33 PM (IST) Rajnandgaon, Chhattisgarh, India

समझिए डेंगू से निपटने कितने गंभीर हैं निगम प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग

राजनांदगांव. शहर में 18 हजार से अधिक कूलरों को खाली करा दिया गया, 7 हजार से अधिक कूलरों को निगम के अफसरों ने उतरवा भी दिए, लेकिन शहरी के बीचो-बीच बंद पड़े फौव्वारे में भरे पानी की निकासी कराने इनके पास समय नहीं है।

डाक्टरों का कहना है कि साफ पानी में ही डेंगू फैलाने वाले एडीज मच्छर के लार्वा पनपते हैं। इसके बाद भी फौव्वारे हुए जल जमाव की निकासी में निगम की लापरवाही समझ से परे है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि निगम के अधिकारी कर्मचारी डेंगू जैसे महामारी से बचाव के लिए कितना गंभीर हैं। सीएमएचओ ने समीक्षा बैठक में कलक्टर को बताया था कि ग्रामीण क्षेत्रों में मितानिन यात्रा के माध्यम से लोगों को डेंगू की रोकथाम के संबंध में जागरूक कर रही हैं, लेकिन मरीज लगातार सामने आ रहे हैं। अब आ रहे मरीज ग्रामीण क्षेत्र से ही हैं। इसमें स्थानीय लोग भी हैं, जिनमें एनएस-1 जांच रिपोर्ट पॉजीटिव मिले हैं।

कलक्टर को गलत रिपोर्ट दे रहे हैं अफसर

सफाई व्यवस्था को लेकर कलक्टर लगातार दिशा-निर्देश दे रहे हैं, लेकिन कागजी घोड़ा दौड़ाने में माहिर निगम के अफसर कलक्टर को ही गलत रिपोर्ट दे रहे हैं। कलक्टर का कहना है कि बंद पड़े फौव्वारे की सफाई करने की जानकारी निगम ने दी है, लेकिन सच्चाई ये है कि फौव्वारे की सफाई के लिए निगम के कर्मचारी कभी पहुंचे ही नहीं हैं। ठेका वार्डों में अब भी सफाई व्यवस्था बदहाल है।

गंभीरता से काम किया जा रहा है

अजय यादव, प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी निगम ने इस मामले पर कहा कि फौव्वारे में जमा पानी निकासी कराई जाएगी। वैसे अभी शहर में सफाई को लेकर बेहद गंभीरता से काम किया जा रहा है। अफसर भी लगातार नजर बनाए हुए हैं।

यह लापरवाही की श्रेणी में आता है

भीम सिंह, कलक्टर ने इस मामले पर कहा कि फौव्वारे की सफाई कराने की जानकारी निगम के अफसरों ने दी है। यदि अब तक फौव्वारे से पानी की निकासी नहीं की गई है, तो यह लापरवाही की श्रेणी में आता है।

Ad Block is Banned